OMG भिलाई बना छत्तीसगढ़ का वूहान, अब तक जिला में 955 मौत, लॉक डाउन हटाते ही बेलगाम हो जाएगी जनता

आज बीएसपी के 8 कर्मी समेत 15 की मौत, मरच्यूरी में पड़ रही शव रखने जगह कम,

By: Abdul Salam

Published: 12 Apr 2021, 11:39 PM IST

भिलाई. छत्तीसगढ़ का वूहान इस वक्त दुर्ग जिला बना हुआ है। चीन के शहर वूहान में जिस तरह से सबसे अधिक कोरोना महामारी का असर देखने को मिल रहा था। उसी तरह से छत्तीसगढ़ में सबसे अधिक मौत भिलाई में हो रही है। सोमवार को भिलाई इस्पात संयंत्र के आठ कर्मियों की मौत हो गई। इसके अलावा एक शमशान घाट में 18 तो दूसरे में तीस से अधिक और तीसरे में भी करीब बीस शवों का अंतिम संस्कार किए हैं। जिला प्रशासन के मुताबिक 15 कोरोना संक्रमित की आज मौत हुई है। सोमवार को जिला में 4224 लोगों की जांच की गई, जिसमें से 1591 लोग संक्रमित मिले हैं।

लॉग डाउन उठते ही बेलगाम हो जाएगी जनता
जिला में इस वक्त लॉक डाउन लगा हुआ है। इसके साथ-साथ नए सिरे से बेड और दवाओं की आपूर्ति को लेकर व्यवस्था की जा रही है। इस वक्त अगर अन लॉक की प्रक्रिया की ओर बढ़ जाते हैं तो मार्केट में फिर एक बार भीड़ बढ़ जाएगी। लोगों को संभाल पाना मुश्किल हो जाएगा। बेहतर है कि कुछ वक्त तक और लॉक डाउन लगा रहे और लोग इसके चैन को तोडऩे में इसी तरह मदद करें। सब्जी के लिए लोग परेशान हो रहे हैं, इसके लिए फेरा लगाकर बेचने की व्यवस्था की जानी चाहिए। जिससे लोग घर पर रहकर ही सब्जी खरीद सके।

बीएसपी के आठ कर्मियों की गई जान
भिलाई इस्पात संयंत्र के आठ कोरोना संक्रमित कर्मियों की जान चली गई। जिसमें मर्चेंट मिल से दो, एसएमएस-2 से तीन, कोक ओवन से एक, टीपीआईई से एक, यूआरएम से एक कर्मियों ने दम तोड़ा। बीएसपी प्रबंधन इसके बाद भी रोस्टर सिस्टम लागू करने को तैयार नहीं है। कर्मियों में इसकी वजह से नाराजगी है। बाहर लॉक डाउन लगा है, लेकिन संंयंत्र में अभी भी कैंटीन चालू है। जिस वक्त बीएसपी में सिर्फ कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ रही थी, तब रोस्टर सिस्टम लागू कर दिया गया था। आज मौत हो रही है तो उच्च प्रबंधन खामोश है। जिला अस्पताल में रविवार को एक इलेक्ट्रानिक मीडिया कर्मी को तबीयत बिगडऩे पर लेकर गए। उसे ऑक्सीजन लगाया गया। ठीक उसके बाजू में शव रखा हुआ था। जिस व्यक्ति की हालत पहले ही कोरोना संक्रमित होने की वजह से खराब हो, उसके बाजू में शव रखा रहे तो किस तरह के हालात का सामना वह करेगा। शाम तक उसने दम तोड़ दिया। न्यू प्रेस क्लब, भिलाई के तमाम पदाधिकारियों ने सोशल मीडिया में मीडिया कर्मी की मौत पर शोक जताया है।

परिजन हो रहे परेशान
दुर्ग के मरच्यूरी में अब ऐसे लोग पहुंच रहे हैं, जिनके परिजनों की मौत हो चुकी है। वे स्वास्थ्य विभाग से मृतक के कोरोना पॉजिटिव होने का प्रमाण पत्र मांग रहे हैं। मरच्यूरी से अलग-अलग विभाग में उनको भेजा जा रहा है। आखिर में वे सीएमएचओ के दफ्तर में आकर खड़े हो जाते हैं। जिससे यहां के कर्मचारी परेशान हैं। दिक्कत यह है कि परेशान लोगों को सही जानकारी देने वाला कोई नहीं है। पीडि़त लोग कभी कोविड कंट्रोल रूम तो कभी अस्पताल के उस वार्ड के सामने जाकर खड़े हो जाते हैं, जहां बीमार की मौत हुई थी, लेकिन तमाम कोशिश के बाद भी पीडि़तों को कोरोना पॉजिटिव वाला दस्तावेज नहीं मिल रहा है। जिससे मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने में दिक्कत हो रही है।

COVID-19 Covid-19 in india
Abdul Salam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned