RTO अफसरों से मारपीट करने वाले संसदीय सचिव के भाई की फिर दो ट्रक पकड़ाई धमतरी में

RTO अफसरों से मारपीट करने वाले संसदीय सचिव के भाई की फिर दो ट्रक पकड़ाई धमतरी में

आरटीओ की उडऩ दस्ते की जांच में संसदीय सचिव लाभचंद बाफना के भाई अशोक बाफना की दो ट्रक ओवर लोड के कारण पकड़ा गया।

भिलाई. आरटीओ की उडऩ दस्ते की जांच में संसदीय सचिव लाभचंद बाफना के भाई अशोक बाफना की दो ट्रक ओवर लोड के कारण पकड़ा गया। यह जांच जगदलपुर संभागीय उडऩ दस्ते की टीम ने मंगलवार को धमतरी के पास की। बाफना के दोनों ट्रकों पर तीन-तीन टन ओवर लोड पाया गया। दो वाहन वाहन श्रेयांश बाफना पिता अशोक बाफना के नाम पर हंै।

धमतरी से अहिवारा की ओर जा रही ट्रक
श्रेयांश की वाहन रेत लोड कर धमतरी से अहिवारा की ओर जा रही थी। अधिकारियों ने दोनों ट्रकों के ओवर लोड के लिए 15-15 हजार रुपए शमन शुल्क वसूल किया। परिवहन आयुक्त ओपी पाल के निर्देश पर उप परिवहन आयुक्त श्वेता श्रीवास्तव सिन्हा की देखरेख में परिवहन उडऩदस्ता जगदलपुर की टीम लगातार ओवरलोड वाहनों की जांच कर रही है।अधिकारियों ने अशोक बाफना की दो वाहनों समेत 9 वाहनों पर कार्रवाई की। इन वाहनों से कुल 89,000 रुपए बतौर शमन शुल्क वसूल किया गया। जिसमें 4 ओवरलोड वाहन हैं।

आरटीओ अफसरों से संसदीय सचिव के भाई ने की थी मारपीट
इसके पहले अशोक बाफना के वाहनों की जांच को लेकर मारपीट की घटना हुई थी। आरटीओ उडऩ दस्ते के दो अधिकारियों ने अशोक पर मारपीट करने की लिखित शिकायत नंदिनी थाने में की है। अशोक ने भी दोनों अधिकारियों के खिलाफ थाने में शिकायत की है। जांच में मामला ओवरलोड का ही था।

इस घटना में अपने भाई के बचाव में संसदीय सचिव बाफना को सफाई देनी पड़ी थी। उधर आरटीओ के आयुक्त ने विभागीय जांच कराई थी जिसमें दोनों अधिकारियों को क्लिनचिट मिली थी। इस मामले में पुलिस ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है।

ट्रेन की जद में आने से अज्ञात की मौत
गणपति मोटर्स के पीछे डाउन लाइन ट्रैक पर मंगलवार की अल सुबह ट्रेन की जद में आने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। घटना रेलवे के पोल क्रमांक ८५४ के समीप की है। मृतक की उम्र करीब ३५ वर्ष बताई जा रही है। भट्ठी पुलिस मर्ग कायम कर मृतक के परिवार की तलाश कर रही है। पुरानी भिलाई उरला निवासी ओम प्रकाश (26 वर्ष) ने मंगलवार की रात करीब ९ बजे फांसी लगा ली। पुलिस मर्ग कायम कर विवेचना कर रही है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned