लॉकडाउन में टीवी, कूलर, सिलेंडर बेचने निकला था नाबालिग, पुलिस ने दिखाई सख्ती तो हो गया कई चोरियों का खुलासा

लॉकडाउन में बंद घरों में सोंधमारी करने वाले नाबालिग समेत दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने 1 लाख 80 हजार रुपए की मशरुका बरामद किया है। (Bhilai Police)

By: Dakshi Sahu

Published: 19 Apr 2021, 05:40 PM IST

भिलाई. लॉकडाउन में बंद घरों में सोंधमारी करने वाले नाबालिग समेत दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने 1 लाख 80 हजार रुपए की मशरुका बरामद किया है। आरोपियों के खिलाफ धारा 380, 457 के तहत जुर्म दर्ज कर कार्रवाई की गई। खुर्सीपार टीआई सुरेश ध्रुव ने बताया घटना 11 अप्रेल की है। कोरोना वायरस लॉकडाउन में दो संदिग्ध घरेलू सामान बेचने के फि राक में ग्राहक खोज रहे हैं। संदेही आरोपी खुर्सीपार निवासी हरिश कुमार साहू (20 वर्ष) और एक नाबालिग को हिरासत में लिया। पूछताछ करने पर दोनों आरोपियों ने चोरी की घटना की खुलासा कर दिया। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने जोन-2 राजन के घर में चोरी करना स्वीकार कर लिया। आरोपियों के कब्जे से सोने के जेवरात समेत 1 लाख 80 हजार की मशरुका बरामद किया गया है। आरोपियों को न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है।

Read more: लॉकडाउन में अचानक घर से लापता हो गई 15 साल की नाबालिग लड़की, आठ दिन बाद जब मिली तो खुला अपहरण का राज ....

यह था मामला
भिलाई जोन-2 खुर्सीपार निवासी राजन अपनी आंख का ऑपरेशन कराने दिल्ली गया था। घर की चाबी पड़ोस में रहने वाले एन मोहन राव को दिया था। 11 अप्रेल सुबह 9 बजे देखा तो राजन के दरवाजे का ताला टूटा मिला। तब चोरी का पता चला। पीडि़त परिवार ने इसकी शिकायत पुलिस में की।

नशे की लत ने बनाया चोर, 15 दिन बाद शातिर चोर हो जाएगा बालिग
पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ की तो चौंकाने वाले तथ्य सामने आए। इस मामले को अंजाम देने वाला शातिर चोर नाबालिग निकला। 15 दिन बाद वह बालिग हो जाएगा। आरोपी अब तक दो चोरी की वारदात को अंजाम दे चुका है। आरोपी नाबालिग बाल संप्रेक्षण गृह से छूट कर फिर चोरी करने लगता था। इस बार आरोपी हरिश कुमार साहू से तालाब पर मिला और नशे की लत को पूरा करने के लिए चोरी की रणनीति बनाई। दोनों ने मिलकर राजन के घर में चोरी की।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned