मंत्री प्रतिनिधि के मकान में चोरी करने वाला निकला उसका ड्राइवर, दोस्त के साथ मिलकर की थी प्लानिंग, तीन आरोपी गिरफ्तार

केबिनेट मंत्री के प्रतिनिधि कृष्णा चंद्राकर के निर्माणाधीन मकान में चोरी करने वाला कोई और नहीं उन्हीं के यहां बैकहो लोडर चलाने वाला निकाला। पुलिस (Bhilai Police) के मुताबिक आरोपी ने अपने साथी के साथ मिलकर चोरी की।

By: Dakshi Sahu

Updated: 06 Jan 2020, 12:33 PM IST

भिलाई. केबिनेट मंत्री के प्रतिनिधि कृष्णा चंद्राकर के निर्माणाधीन मकान में चोरी (Theft in Bhilai) करने वाला कोई और नहीं उन्हीं के यहां बैकहो लोडर चलाने वाला निकाला। पुलिस के मुताबिक आरोपी ने अपने साथी के साथ मिलकर चोरी की। सेंट्रिंग को मोरिद में ही एक ठेकेदार को बेच दिया था। पुलिस ने खरीदने वाले ठेकेदार समेत तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। (Bhilai News)

भिलाई तीन टीआई संजीव मिश्रा ने बताया कि 15 व 16 दिसंबर की दरमियानी रात उमदा स्थित कृष्णा चंद्राकर के मकान में काम चल रहा था। सेट्रिंग बाहर खुले में रखी थी। रात में 225 सेंटिंग चोरी हो गई। पुलिस ने अपराध दर्ज कर चोरों की पतासाजी शुरू की। जांच के दौरान पुलिस को उन्हीं के ड्राइवर नितेश कुमार साहू की स्थिति संदिग्ध लगी।

इसी बीच पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि ग्राम परसाई के ठेकेदार तिलकराम साहू के यहां कुछ सेंटिं्रग बंधी रखी है। पुलिस मौके पर पहुंची। सभी को कब्जे में लिया। उसकी पहचान कराई। ठेकेदार के घर से 71 सेट्रिंग पुलिस ने जब्त की। बाकी को ठेकेदार ने अन्य निर्माणाधीन मकान में किराए पर लगा दिया था। ठेकेदार ने नीतेश से खरीदने की जानकारी दी।

ऐसे बनाई चोरी की योजना
पुलिस ने बताया कि आरोपी नीतेश ने मोरिद निवासी शुभम कुमार ढीमर के साथ चोरी की योजना बनाई। एक दो कर के 10 दिन में 225 सेंट्रिंग की चोरी की। पूछताछ में आरोपियों ने पुलिस को बताया कि 500 रुपए नग के हिसाब उन्हें बेचा था। उनकी निशानदेही पर पुलिस ने अन्य सेंटिं्रग को भी बरामद कर लिया। बाकी जिन घरों में लगी है, उसे अभी नहीं निकाला है। सीएसपी छावनी विश्वास चंद्राकर ने बताया कि इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। चोरी की सेंटिं्रग बरामद की गई है। आरोपियों को सोमवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा।

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned