लॉकडाउन में काम हुआ बंद, ट्रक की किस्त न चुका पाने पर युवा ट्रांसपोर्टर ने की खुदकुशी

रुआबाधा सेक्टर निवासी युवा ट्रांसपोर्टर ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। परिजन घर पर नहीं थे। जब लौटकर आए खिड़की से देखा पंखे पर उसका शव लटका हुआ था।

By: Dakshi Sahu

Published: 05 Sep 2020, 04:02 PM IST

भिलाई. रुआबाधा सेक्टर निवासी युवा ट्रांसपोर्टर ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। परिजन घर पर नहीं थे। जब लौटकर आए खिड़की से देखा पंखे पर उसका शव लटका हुआ था। भिलाई नगर थाना प्रभारी राजीव तिवारी ने बताया कि न्यू रुआबांधा क्र्वाटर 204/बी निवासी ट्रांसपोर्टर जितेन्द्र साहू (32 वर्ष) बुधवार रात घर पर अकेला था। पिता, मां और बहन मामा गांव विनायकपुर गए थे। फोनकर जितेन्द्र को बताया कि बारिश हो रही है। गुरुवार को आएंगे।

फंदे पर लटका मिला शव
गुुरुवार सुबह 10 बजे जब माता-पिता पहुंचे और दरवाजे खटखटाया तो उसने कोई जवाब नहीं किया। तब उसके पिता ने खिड़की से देखा। जितेन्द्र फांसी के फंदे पर लटका हुआ था। इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस मौके पर पहुंची। दरवाजा तोड़ा। इसके बाद शव को फंदे से उतारा। मर्ग कायम कर शव को जिला अस्पताल की मॉच्यूरी में रखवा दिया। घटना स्थल पर पुलिस को सुसाइडल नोट नहीं मिला। मामले को जांच में लिया है।

लॉकडाउन में काम बंद, ट्रक की किस्त नहीं चुका पाने से था परेशान
पुलिस ने बताया कि जितेन्द्र के पिता बीएसपी के सेवानिवृत्त कर्मचारी है। परिजनों से पूछताछ में पता चला है कि अगस्त 2019 में जितेन्द्र की पत्नी उसे छोड़कर चली गई। इससे वह काफी परेशान रहता था। पिता ने उसके गुजर बसर के लिए ट्रक खरीदवा दिया था। जितेन्द्र का ट्रक एसीसी में लगा हुआ था। लॉकडाउन की वजह से वह ट्रक की किस्त नहीं चुका पा रहा था। इससे वह डिप्रेशन में था। हर महीने किस्त बढ़ती ही जा रही थी। काम बंद होने के कारण वह परेशान रहने लगा था।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned