स्कंदषष्ठी यज्ञ महोत्सव : गौ पूजा के साथ चार दिवसीय महायज्ञ शुरू

स्कंदषष्ठी यज्ञ महोत्सव : गौ पूजा के साथ चार दिवसीय महायज्ञ शुरू

Satyanarayan Shukla | Publish: Nov, 10 2018 09:03:02 PM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 09:03:03 PM (IST) Bhilai, Chhattisgarh, India

स्कंदाश्रम हुडको में शनिवार से स्कंदषष्ठी के 21 वें वर्ष का यज्ञ महोत्सव शुरू हुआ। सुबह गौ पूजा से इस अनुष्ठान की शुरुआत की गई। जिसके बाद दिनभर कई यज्ञ हुए। तीनों पहर अलग-अलग फल प्राप्ति के लिए हवन किए गए।

भिलाई. स्कंदाश्रम हुडको में शनिवार से स्कंदषष्ठी के 21 वें वर्ष का यज्ञ महोत्सव शुरू हुआ। सुबह गौ पूजा से इस अनुष्ठान की शुरुआत की गई। जिसके बाद दिनभर कई यज्ञ हुए। इससे पूर्व अनुगनई, विघ्नेश्वर पूजा, पुन्याग वाचनम्, महासंकल्पम् कलश स्थापना सर्व देवता का आह्वान किया। इसके बाद ही यज्ञ शुरू हुए। तीनों पहर अलग-अलग फल प्राप्ति के लिए हवन किए गए। जिसमें श्रद्धालुओं ने बड़ी संख्या में हिस्सा लिया। इस यज्ञ में शामिल होने छत्तीसगढ़ के कई शहरों सहित दूसरे राज्यों से भी लोग यहां पहुंचे हैं।

मन की शांति से लेकर खुशहाली तक
इस अनुष्ठान में मन की शांति से लेकर परिवार की खुशहाली तक के कई हवन हुए। जिसमें मानसिक पीड़ाओं के निवारण एवं काले जादू का प्रभाव नष्ट करने के लिए वंच कलापालथ गणपति हवन हुआ। इसके पश्चात जन कल्याण, अन्न समृद्धि एवं खुशहाली के लिए अवहांति हवन हुआ। मन की शान्ति, दशा अंर्तदशा मुक्ति, ऋण विमोचन और मंगल, शनि, राहू, केतु, ग्रहों की शांति के लिए नवग्रह पूजा, नागदोष से राहत, गर्भधारण मानसिक दोष के निवारर्णाथ सर्पदोष शांति हवन, दीप आराधना के बाद समूहिक रूप से भोग प्रसाद ग्रहण किया।

शाम को हुआ बगुलामुखी जाप
संाध्यकालीन महोत्सव की शुरुआत बगुलामुखी जाप एवं हवन से हुई जो दाम्पत्य प्रेम में सुधार, मित्रों एवं रिश्तेदारों के साथ अच्छे संबंध और ऋण मुक्ति के लिए किया गया था। सरकारी विवादों से निवृति के लिए श्रीराजमातंगी हवन हुआ। रविवार को सुबह विजया गणपति जाप एवं हवन भाग्यासुक्ता जाप एवं हवन, संतान गोपाल हवन, स्वयंवर पार्वती हवन मेधादक्षिणा मूर्ति जाप एवं हवन, अष्टालक्ष्मी पूजा एवं हवन होगा।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned