भिलाई. भिलाई इस्पात संयंत्र के सीएसएम-2 विभाग में पानी की किल्लत को दूर करने सीटू के पदाधिकारियों प्रबंधन के सामने प्रमुखता से रखा। जिससे निपटने के लिए आवश्यक सुझाव दिए।

जिसे विभाग के प्रमुख डीजीएम आईसी सुब्रत हलदर के सामने रखा। इसके बाद यूनियन के नेताओं ने वाटर मैनेजमेंट डिपार्टमेंट के डीजीएम एएल मलोडिया से मिले।

बिछाया 500 मीटर पाइप लाइन
इस गंभीर स्थिति से निजात दिलाने विभाग के कर्मियों ने करीब ५०० मीटर पाइप लाइन बिछाया। यूनियन के उपाध्यक्ष वेणु गोपाल ने एएल मलोङिया डीजीएम वाटर मैनेजमेंट डिपार्टमेंट व अपने साथी कर्मियों अजय सोनी, सुरेश उपाध्याय, सिराजुद्दीन, अरविंद कामले, श्रीकांत मनूर, एमएल शर्मा, टीएम राव, डीपी चक्रवर्ती ने इसमें सहयोग करने वाले कर्मियों का आभार जताया।

यह थी दिक्कत
भिलाई इस्पात संयंत्र के सीएचएम-2 में पिछले 8 वर्षों से पीने के लिए कर्मियों को पानी तक नसीब नहीं हो रहा था। इस अव्यवस्था से कर्मचारी जूझ रहे थे। यहां के कर्मचारी बीएसपी में श्रम कार्यों में दूसरे विभागों से अव्वल माने जाते हैं।

अग्रणी भूमिका निभाई
विभाग के कर्मियों ने सदैव विपरीत परिस्थितियों में भिलाई इस्पात संयंत्र को उबारने में सबसे अग्रणी भूमिका निभाई है। कठिन मानसिक व शारीरिक परिश्रम के बाद यहां के कर्मियों को पीने का पानी व हाथ मुंह धोने पानी की अनुपलब्धता कर्मियों के मनोबल में विपरीत प्रभाव डाल रही थी।

दीगर विभागों में जाना पड़ता
इस विभाग के पूरे क्षेत्र में पानी का प्रेशर इतना कम रहता था कि विभागीय कर्मियों को पानी पीने के लिए व अन्य कार्यों के लिए दीगर विभागों में जाना पड़ता था।

Ad Block is Banned