बीएसपी में बैक डोर एंट्री से सेफ्टी कमेटी बनाए जाने का मुद्दा गरमाया, यूनियन ने खोला मोर्चा

Dakshi Sahu

Publish: Feb, 15 2018 03:12:25 PM (IST)

Bhilai, Chhattisgarh, India
बीएसपी में बैक डोर एंट्री से सेफ्टी कमेटी बनाए जाने का मुद्दा गरमाया, यूनियन ने खोला मोर्चा

बीएसपी में बैक डोर एंट्री से, सेफ्टी कमेटी बनाए जाने पर बीएमएस ने कड़ी आपत्ति दर्ज कराई है।

भिलाई. बीएसपी में बैक डोर एंट्री से, सेफ्टी कमेटी बनाए जाने पर बीएमएस ने कड़ी आपत्ति दर्ज कराई है। बीएमएस ने प्रबंधन को चेतावनी दी है कि बीएसपी प्रबंधन ऐसे लोगों की सेफ्टी कमेटी बनाने जा रही है जो किसी भी यूनियन से संबंध नहीं रखते। बीएमएस ने तत्काल जानकारी प्राप्त कर, अधिशासी निर्देशक (कार्मिक एवं प्रशासन) को एक ज्ञापन पत्र, सहायक महाप्रबंधक(आई आर) के माध्यम से यूनियन के महामंत्री दिनेश कुमार पांडेय के नेतृत्व में सौंपा।

ठंडे बस्ते में डाला गया
पत्र में कहा गया है कि समय-समय पर प्रबंधन द्वारा सेफ्टी कमेटी बनाने के नाम पर ऐसा फॉर्मूला पेश किया जाता है, जिससे प्रबंधन की किरकिरी होती है। जैसे कि पूर्व में प्रथम तीनों यूनियनों से नाम लेकर सेफ्टी कमेटी बनाने की बात कही गई थी। यूनियन का इस पर विरोध करने के बाद इस मामले को ठंडे बस्ते में डाला गया, पुन: ऐसा प्रयास किया जा रहा है कि ऐसे कर्मचारियों का सेफ्टी कमेटी बनाया जाए जो किसी यूनियन से संबंधित नहीं है।

प्रावधानो के अंतर्गत बनाई जाए कमेटी
यूनियन ने इस ज्ञापन पत्र के द्वारा यह सवाल उठाया है कि प्रबंधन किस आधार पर यह निर्णय लेगी कि कोई कर्मचारी किसी भी यूनियन का सदस्य नहीं है। पत्र में मांग किया गया है कि प्रबंधन ऐसी कोई भी उकसाने वाली कार्रवाई ना करें जिससे कि माहौल खराब हो। असंतोष का वातावरण पैदा हो, सेफ्टी कमेटी नियम और कानून प्रावधानों के अंतर्गत बनाई जाए।

दिल्ली जाकर मामले को उठाया
ज्ञापन पत्र की कॉपी डिप्टी डायरेक्टर हेल्थ एंड सेफ्टी एवं एएलसी सेंट्रल रायपुर को इस आग्रह के साथ दिया गया है कि प्रबंधन को निर्देशित करें कि शीघ्र ही नियम कानून के प्रावधानों के अनुसार सेफ्टी कमेटी का गठन करें। इस आग्रह के पश्चात भी अगर प्रबंधन बैक डोर एंट्री से सेफ्टी कमेटी बनाने का प्रयास करेगी तो कारपोरेट स्तर पर दिल्ली में जाकर इस मामले को उठाया जाएगा।

बैक डोर से सेफ्टी कमेटी बनाए जाने को लेकर प्रयास करने वालों की जांच की मांग उच्च स्तर पर की जाएगी। सहायक महाप्रबंधक औद्योगिक संबंध को ज्ञापन देने वालों में एम भास्कर, प्रशांत मृगेंद्र कुमार, अरविंद पुरी, हरिशंकर चतुर्वेदी, राजीव रंजन, रोहित, आई पी मिश्रा, मरीचलमैया, रामजी, यशवंत, दिनेश कुमार पांडेय आदि उपस्थित थे।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned