Big Breaking: BSP हादसा: केंद्रीय मंत्री के जाते ही एक और कर्मी ने तोड़ा दम, मौत का आंकड़ा पहुंचा 12, Video

बुधवार दोपहर आईसीयू में भर्ती इएमडी डिपार्टमेंट के कर्मी दुर्गेश सिंह राठौर की उपचार की दौरान मौत हो गई। उन्होंने पं. जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय एवं अनुसंधान केंद्र सेक्टर 9 में अंतिम सांस ली।

By: Dakshi Sahu

Published: 10 Oct 2018, 02:19 PM IST

भिलाई. भिलाई स्टील प्लांट के कोक ओवन गैस पाइप लाइन में विस्फोट से मरने वाले बीएसपी कर्मियों का आंकड़ा बढ़ते ही जा रहा है। बुधवार दोपहर आईसीयू में भर्ती इएमडी डिपार्टमेंट के कर्मी दुर्गेश सिंह राठौर की उपचार की दौरान मौत हो गई। उन्होंने पं. जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय एवं अनुसंधान केंद्र सेक्टर 9 में अंतिम सांस ली। वहीं झुलसे हुए 12 कर्मियों का उपचार फिलहाल बर्न यूनिट में चल रहा है।

बीएसपी सीईओ को पद से हटाया
भिलाई स्टील प्लांट के कोक ओवन गैस पाइप लाइन में विस्फोट में 12 कर्मियों की मौत के बाद बुधवार को बीएसपी सीईओ एम रवि को तत्काल प्रभाव से पद से हटा दिया गया है। हादसे के बाद भिलाई पहुंचे केंद्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह ने कहा कि हादसा गंभीर है। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। सीईओ के साथ ही जीएम सेफ्टी पांडया राजा और ऊर्जा एवं प्रबंधन विभाग के डीजीएम नवीन कुमार को सस्पेंड कर दिया गया है।

 

मंगलवार को भिलाई स्टील प्लांट के कोक ओवन गैस पाइपलाइन में मरम्मत के दौरान विस्फोट से ११ लोगों की दर्दनाक मौत हो गई थी। इस हादसे में 30 से ज्यादा कर्मी झुलस गए थे। जिनमें से १२ गंभीर रूप से झुलसे कर्मियों का उपचार सेक्टर ९ अस्पताल में चल रहा है। जिनसे मिलने आज केंद्रीय इस्पात मंत्री और सीएम डॉ. रमन सिंह पहुुंचे।

पीडि़तों से मिले सीएम
मुख्यमंत्री डॉ .रमन सिंह बुधवार सुबह 11.30 बजे भिलाई नगर के सेक्टर -9 स्थित अस्पताल पहुंचे। वहां इस्पात संयंत्र हादसे के घायलों से मिलकर उनकी चिकित्सा व्यवस्था का जायजा लिया। मुख्यमंत्री संयंत्र प्रबन्धन और दुर्ग जिला प्रशासन के अधिकारियों से कल के हादसे के बारे में पूरी जानकारी ली।

मंत्री और सेल चेयरमेन को गेट पर रोका
बर्न यूनिट में भर्ती 12 कर्मियों से मिलने पहुंचे सेल चेयरमेन अनिल कुमार चौधरी, मंत्री रमशीला साहू, विधायक विद्या रतन भसीन, विधायक सांवला राम डाहरे सहित अन्य नेताओं को गेट पर रोक दिया गया। सुरक्षा और इंफेक्शन को देखते हुए उन्हें पीडि़तों मिलने की अनुमति नहीं दी गई। वहीं दुर्ग माच्र्युरी में सुबह से कांग्रेस नेत्री पूर्व विधायक प्रतिमा चंद्राकर मृत कर्मचारियों को परिजनों को ढांढस बंधाते हुए दिखी।

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned