वेतन समझौता में देरी, नाराज BSP कर्मियों ने किया अचानक टूल डाउन, यूनिवर्सल रेल मिल में उत्पादन ठप

वेतन समझौता नहीं होने से नाराज भिलाई इस्पात संयंत्र के कर्मचारियों ने शनिवार को अचानक काम बंद करके उत्पादन ठप कर दिया।

By: Dakshi Sahu

Published: 03 Apr 2021, 05:38 PM IST

भिलाई. वेतन समझौता नहीं होने से नाराज भिलाई इस्पात संयंत्र (Bhilai steel plant) के कर्मचारियों ने शनिवार को अचानक काम बंद करके उत्पादन ठप कर दिया। कर्मियों का गुस्सा सुबह-सुबह प्रबंधन पर इस कदर फूटा कि उन्होंने बिना किसी पूर्व सूचना के रेल मिल और बार एंड रॉड मिल में उत्पादन बंद करके टूल डाउन कर दिया। कर्मियों का रौद्र रूप देखकर प्रबंधन में बैठे बड़े अधिकारियों में हड़कंप मच गया। कुछ ही देर में इसकी सूचना सेल के दिल्ली मुख्यालय तक भी पहुंच गई। मिली जानकारी के अनुसार बीएसपी कर्मचारी ड्यूटी रोस्टर और कोरोना से बचने के लिए पर्याप्त सुरक्षा इंतजाम की भी मांग कर रहे हैं। कर्मियों का कहना है कि कोरोना की दूसरी लहर कहर बरपा रही है लेकिन प्रबंधन कर्मिचारियों की जान जोखिम में डालकर उनसे काम करवा रहा है।

52 माह से पेडिंग है वेज रिविजन
शनिवार सुबह करीब नौ बजे से कर्मचारियों ने दुनिया की सबसे लंबी 130 मीटर की रेल पटरी का प्रोडक्शन बंद कर दिया। सभी कर्मचारी मेन गेट पर ही प्रदर्शन कर रहे हैं। भारतीय इस्पात प्राधिकरण (सेल) के कर्मचारियों का एक जनवरी 2017 से वेतन समझौता लंबित है। वेतन समझौता तत्काल लागू करने की मांग करते हुए 100 से अधिक युवा कर्मचारी मुख्य द्वार पर धरने पर बैठ गए हैं। इस तरह से धरना को लेकर प्रबंधन में हड़कंप मच गया है। संयंत्र के निदेशक प्रभारी तक हरकत में आ गए। भिलाई इस्पात संयंत्र के लिए इस समय यूआरएम सबसे ज्यादा रेवेन्यू देने वाला यूनिट है। रेलवे के ऑर्डर को पूरा करने के लिए कर्मियों को काम शुरू करने की सलाह दी जा रही है। रेल पटरी उत्पादन प्रभावित न होने पाए। इसलिए आक्रोशित कर्मचारियों को समझाने की भी कोशिश की गई।

बीएसपी कर्मचारियों की मांग
लंबित वेतन समझौता को लेकर कई स्तर पर बैठकें हो चुकी है। कर्मचारी अपने मांगों को दिल्ली तक पहुंचा चुके हैं। 15 प्रतिशत वेतन वृद्धि और 35 प्रतिशत भत्ते भी बढ़ाने की मांग हैं। मैनेजमेंट 10 प्रतिशत वेतन और 16 प्रतिशत भत्ते को बढ़ाने पर ही राजी हो रहा हैं। इसको लेकर कर्मचारियों में प्रतिदिन आक्रोश बढ़ता जा रहा है।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned