scriptBhilai Steel Plant prepared special track for high speed trains | BSP की पटरी पर दौड़ेगी 550 मेगा पास्कल से भी अधिक स्पीड में ट्रेन, रेलवे की जरूरत पर पहली बार किया तकनीक में बदलाव | Patrika News

BSP की पटरी पर दौड़ेगी 550 मेगा पास्कल से भी अधिक स्पीड में ट्रेन, रेलवे की जरूरत पर पहली बार किया तकनीक में बदलाव

भिलाई संयंत्र भारतीय ने रेलवे के कड़े तकनीकी मानकों और बदलती जरूरतों को पूरा करने के लिए अपनी उत्पादन प्रक्रियाओं में जरूरी बदलाव किया है।

भिलाई

Published: January 17, 2022 12:37:11 pm

निर्मल साहू @भिलाई. भिलाई संयंत्र (Bhilai steel plant) भारतीय ने रेलवे (Railway) के कड़े तकनीकी मानकों और बदलती जरूरतों को पूरा करने के लिए अपनी उत्पादन प्रक्रियाओं में जरूरी बदलाव किया है। संयंत्र भारतीय रेलवे के लिए आर- 260 ग्रेड की वैनेडियम अलॉयड स्पेशल ग्रेड प्राइम रेल की न केवल सफलतापूर्वक रोलिंग कर रहा है, बल्कि अब तक लगभग 6..5 लाख टन रेलपांत की आपूर्ति भी कर चुका है। भिलाई इस्पात संयंत्र छह दशकों से अधिक समय से भारतीय रेलवे के लिए विभिन्न ग्रेड, गुणवत्ता, प्रोफाइल और लंबाई के वांछित स्पेसिफिकेशन के अनुसार विश्व स्तरीय गुणवत्ता वाली रेल का उत्पादन कर रहा है। वर्तमान में रेलवे को नए 60 ई-1 प्रोफाइल के साथ नए आर-260 ग्रेड रेल का उत्पादन और आपूर्ति कर रहा है। इससे भारतीय रेलवे 550 मेगा पास्कल से अधिक की उच्च शक्ति के साथ न केवल कठिन बल्कि और अधिक दबाव वाली रेल यातायात को सहन करने में सक्षम होगी बल्कि और अधिक टिकाऊ भी बनकर उभरेगी। बीएसपी रेलवे को यह रेल 260 मीटर लंबे वेल्डेड पैनल के रूप में आपूर्ति कर रहा है।
BSP की पटरी पर दौड़ेगी 550 मेगा पास्कल से भी अधिक स्पीड में ट्रेन, रेलवे की जरूरत पर पहली बार किया तकनीक में बदलाव
BSP की पटरी पर दौड़ेगी 550 मेगा पास्कल से भी अधिक स्पीड में ट्रेन, रेलवे की जरूरत पर पहली बार किया तकनीक में बदलाव
रेलवे और सेल के रिसर्च सेंटर का साझा प्रयास
रेल के नए ग्रेड और प्रोफाइल का उत्पादन और आपूर्ति भिलाई स्टील प्लांट, भारतीय रेलवे और इसके अनुसंधान एवं विकास विंग आरडीएसओ एवं सेल के स्वयं के अनुसंधान केन्द्र (रिसर्च एंड डेवलपमेंट सेंटर फॉर आयरन एंड स्टील) आरडीसीआईएस द्वारा किए गए महीनों के प्रयासों का प्रतिफल है।
खासियत:
भारतीय रेलवे की देश की बदलती रेल परिवहन की जरूरतों को पूरा करने के साथ-साथ यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए निर्धारित सटीक मानक को भी अधिक बेहतर बनाया गया है। वैनेडियम अलॉयड स्पेशल ग्रेड प्राइम रेल में जंग नहीं लगेगा और फ्रैक्चर भी नहीं होगा।
इसलिए जरूरी है रेलवे को नए आर-260 ग्रेड का रेलपांत
1. भारतीय रेलवे रेल परिवहन में उच्च गति और एक्सल लोड की ओर बढ़ रहा है जिसके लिए रेलवे ने बीएसपी से माइक्रो-अलॉय रेल स्टील का उत्पादन करने की मांग की है।
2. भिलाई द्वारा आपूर्ति की जा रही इस नए ग्रेड की रेल, भारतीय रेलवे को उच्च शक्ति वाले तथा अधिक सर्विस लाइफ वाले रेल की उपलब्धता सुनिश्चित करेगी।
3. रेल्वे को बढ़ते यातायात दबाव का सामना करने में सक्षम बनाएगी। साथ ही साइकिल टाइम में और अधिक वृद्धि होगी।
आर-260 ग्रेड रेलपांत की खासियत
1. 60 ई-1 प्रोफाइल के साथ आर-260 ग्रेड की रेल यूरोपीय स्पेसिफिकेशन ईएन-13674 से कहीं अधिक उच्च गति और अधिक एक्सल लोड लेने के लिए सक्षम है।
2. आर260 ग्रेड, यूरोपियन स्पेसिफिकेशन के 2.5 पीपीएम (अधिकतम) हाइड्रोजन कंटेन्ट की तुलना में 1.6 पीपीएम (अधिकतम) हाइड्रोजन कंटेन्ट समेत कई मानकों में उससे कहीं अधिक क्षमतावान है।
3. यह वैनेडियम माइक्रो-अलॉयड स्टील रेल के दबाव सहन करने की शक्ति (हायर सील्ड स्ट्रैंग्थ) को बढ़ाएगी।
4. यह ग्रेड न केवल और अधिक शुद्ध (क्लीनर) स्टील सुनिश्चित करेगी बल्कि बेहतर मैकेनिकल गुण भी प्रदान करेगी।
बढ़ती मांग को पूरा करने बीएसपी ने की तैयारी
इस नए ग्रेड के लिए माइक्रो-अलॉयड स्पेशल स्टील का उत्पादन स्टील मेल्टिंग शॉप-3 (एसएमएस-3) और एसएमएस-2 दोनों में किया जा रहा है। रेल के नए प्रोफाइल के साथ नए ग्रेड को प्लांट की आधुनिक यूनिवर्सल रेल मिल (यूआरएम) तथा रेल और स्ट्रक्चरल मिल (आरएसएम) से रोलिंग किया जा रहा है। उत्पादन निर्बाध जारी रहे इसलिए पिछले महीने ही दिसंबर 2021 में रेलपांत की गुणवत्ता की जांच के लिए आरएसएम में नई एनडीटी मशीन लगाई गई। यूआरएम का भी कैपिटल रिपेयर किया गया है। सुबीर कुमार दरीपा, महाप्रबंधक, जनसंपर्क विभाग बीएसपी ने बताया कि सेल का भारतीय रेलवे के साथ पिछले कई दशकों की ऐतिहासिक साझेदारी है। सेल बीएसपी भारतीय रेलवे के लिए उसके जरूरी मानकों के हिसाब से लगातार रेल का उत्पादन कर रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद केसः सुप्रीम कोर्ट का सुझाव, मामला जिला जज के पास भेजा जाए, सभी पक्षों के हित सुरक्षित रखे जाएंशिक्षा मंत्री की बेटी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने दिए बर्खास्त करने के निर्देश, लौटाना होगा 41 महीने का वेतनHyderabad Encounter Case: सुप्रीम कोर्ट के जांच आयोग ने हैदराबाद एनकाउंटर को बताया फर्जी, पुलिसकर्मी दोषी करारInflation Around World : महंगाई की मार, भारत से ज्यादा ब्रिटेन और अमरीका हैं लाचारपंजाब में दिल्ली का विकास मॉडल, CM भगवंत मान का ऐलान- 15 अगस्त को राज्य को मिलेंगे 75 नए मोहल्ला क्लीनिकराहुल गांधी ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा - 'पैंगोंग झील के पास दूसरा पुल बना रहा चीन, सरकार सिर्फ निगरानी ही कर रही है'दो साल बाद अपनों के बीच पहुंचते ही आजम खान ने बयां किया दर्द, बोले- मेरे साथ जो-जो हुआ वो भूल नहीं सकतापहली बार Yogi आदित्यनाथ की तारीफ में बोले अखिलेश यादव 'यूपी में Technology'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.