BSP यूनियन इंटुक से सामूहिक इस्तीफा देकर थामा BMS का हाथ, नंदिनी माइंस में खदान मजदूर संघ का नेतृत्व करेंगे उमेश

इंटुक से सम्बद्ध श्रम संगठन मेटल माइंस वर्कर्स यूनियन के सदस्य एवं पदाधिकारियों ने इंटुक की सदस्यता से सामूहिक इस्तीफा देकर भारतीय मजदूर संघ से सम्बद्ध खदान मजदूर संघ भिलाई की सदस्यता ग्रहण कर ली है।

By: Dakshi Sahu

Published: 06 Apr 2021, 01:03 PM IST

भिलाई. भिलाई इस्पात संयंत्र की लाइम स्टोन माइंस नंदिनी में कार्यशील इंटुक से सम्बद्ध श्रम संगठन मेटल माइंस वर्कर्स यूनियन के सदस्य एवं पदाधिकारियों ने इंटुक की सदस्यता से सामूहिक इस्तीफा देकर भारतीय मजदूर संघ से सम्बद्ध खदान मजदूर संघ भिलाई की सदस्यता ग्रहण कर ली है। संघ के महामंत्री एमपी सिंह ने बताया कि अपने इस्तीफे में सभी ने इंटुक के स्थानीय, प्रदेश एवं केंद्रीय नेतृत्व पर कर्मचारी हितों की उपेक्षा करने की बात कही है। यह भी कहा है कि जब नंदिनी खदान के इंटुक सदस्यों एवं पदाधिकारियों को प्रदेश व राष्ट्रीय नेतृत्व के मार्गदर्शन एवं सहयोग की आवश्यकता थी तब उन्हे किसी तरह का कोई सहयोग नहीं किया गया। ऐसे हालात में इंटुक यूनियन में रहते हुए कर्मियों के हितार्थ कार्य करना संभव नहीं है।

Read more: BSP महिला DGM और माइंस कर्मी की कोरोना से मौत, बेटे के साथ आई थी डीजीएम की कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव .....

नई कार्यकारिणी का भी गठन कर दिया

इसके साथ ही नंदिनी खदान में खदान मजदूर संघ की नई कार्यकारिणी का भी गठन कर दिया गया है। अध्यक्ष उमेश कुमार मिश्रा, कार्यकारी अध्यक्ष रामनगीना एवं शिव कुमार साह, उपाध्यक्ष महावीर सेवक, हिम्मत सिंह रंधावा, सुरेश ध्रुव, एलएन साहू, सचिव सोहन कुमार चंद्राकर, सह सचिव बालाजी सोनी, कृष्णा कुमार, एस.बंगारू, वाईपी.ठाकुर, अशोक कुमार लाउत्रे, कोषाध्यक्ष रामसुजान कोरी, संगठन सचिव पुरषोत्तम ठाकुर हैं। कायर्कारिणी सदस्यों में मोतीलाल शर्मा, यूएस वर्मा, रमाकांत तिवारी, बीआर चंद्रेश और रामसागर हैं। इस घोषणा के पश्चात कार्यक्रम के अध्यक्ष एसएन पांडेय ने सभी नव निर्वाचित पदाधिकारियों को बधाई दी एवं आशा व्यक्त की कि आने वाले समय में सभी सदस्य एवं पदाधिकारी भारतीय मजदूर संघ की रीति- नीति पर चलते हुए कर्मियों के हितार्थ कार्य करेंगे।

Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned