Breaking : सीएम भूपेश के क्षेत्र से गुंडागर्दी का आरोपी थाने से भागा, ओएसडी के आश्वासन पर प्रार्थी ने धरना किया समाप्त : Video

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के विधान सभा क्षेत्र पाटन के थाने से मारपीट और गुंडागर्दी का आरोपी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। इधर पीडि़त प्रार्थी ने एक दिवसीय धरना देकर पुलिस पर आरोपी को संरक्षण देने का आरोप लगाया है।

By: Satya Narayan Shukla

Updated: 10 Jan 2019, 07:42 PM IST

भिलाई/पाटन @Patrika. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के विधान सभा क्षेत्र पाटन थाने से मारपीट और गुंडागर्दी का आरोपी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। इधर पीडि़त प्रार्थी ने एक दिवसीय धरना देकर पुलिस पर आरोपी को संरक्षण देने का आरोप लगाया है। सीएम के ओएसडी आशीष वर्मा द्वारा आरोपी के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन के बाद धरना समाप्त हुआ। मामला पाटन थानांतर्गत ग्राम धूमा का है।

रात में ही 112 ने आरोपी को पकड़कर पाटन थाने के सुपुर्द कर दिया
जानकारी के अनुसार ग्राम धूमा निवासी विजय पिता गोविंद वर्मा के साथ आरोपी नवीन मिश्रा और उसके भांजे के साथ बीती रात विवाद हो गया था। विवाद के बाद प्रार्थी अपने पिता के घर चला गया। कुछ देर बाद आरोपी का भांजा आयुष शर्मा डंडे लेकर उसके घर में घुस गया जान से मारने की धमकी देने लगा। @Patrika. इससे प्रार्थी डर गया और तत्काल 112 पर फोन कर मदद मांगी। रात में ही 112 ने आरोपी को पकड़कर पाटन थाने के सुपुर्द कर दिया। इधर आरोपी सुबह बाथरूम जाने के बहाने थाने से फरार हो गया।

परिवार सहित पहुंचा थाने और धरने पर बैठ गया
प्रार्थी विजय वर्मा गुरुवार को अपने माता-पिता के साथ थाने पहुंचा। जहां आरोपी के फरार होने की जानकारी मिलने पर वह आरोपी की गिरफ्तारी और न्याय के लिए थाने के बाहर बोर्ड लगाकर परिवार सहित धरने पर बैठ गया। @Patrika. उन्होंने पुलिस पर आरोपी को संरक्षण देने और कार्रवाई नहीं किए जाने का आरोप लगाया। थाने के बाहर धरने की खबर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के ओएसडी आशीष वर्मा भी वहां पहुंचे और पीडि़त को कार्रवाई और न्याय का भरोसा दिलाया। इस आश्वासन के बाद प्रार्थी ने लगभग तीन घंटे बाद धरने को समाप्त किया।

 

अपराध कायम होने के बाद नहीं हुई कार्रवाई
पीडि़त विजय वर्मा ने बताया कि इसके पहले भी आरोपी मारपीट कर चुका है। बीते सात जुलाई को आरोपी के खिलाफ अपराध कायम किया गया था किंतु कोई कार्रवाई नहीं हुई। @Patrika. इसी तरह नौ नवंबर भाईदूज त्योहार के दिन आरोपी ने गाली गलौज की थी। इसके बाद आरोपी ने थाने में गवाही देने वालों को भी धमकी दी थी। इस मामले को लेकर गांव में ग्रामीणों की बैठक भी हुई थी।

पुलिस की लापरवाही से भागा आरोपी
प्रार्थी की मानें तो पुलिस की लापरवाही से आरोपी थाने से फरार हो गया। सूचना मिलते ही 112 की मदद से आरोपी को थाने लाया गया था। @Patrika. सुबह करीब 9 बजे आरक्षक चन्द्रदेव वर्मा ड्यूटी पर थे, पेशाब करने के बहाने आरोपी भाग निकला। पुलिस द्वारा फरार आरोपी की खोजबीन की जा है। समाचार के लिखे जाने तक आरोपी पुलिस की पकड़ से बाहर है।

Satya Narayan Shukla Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned