नक्सलियों से निपटने पांच राज्यों के CM के साथ गृहमंत्री अमित शाह की बैठक से पहले छत्तीसगढ़ पहुंचे BSF डीजी जौहरी

BSF डीजी IPS विवेक जौहरी और नक्सल ऑपरेशन ADG एसएस चाहर ने छत्तीसगढ़ का दौरा किया है। BSF के भिलाई सीमांत मुख्यालय के अलावा कांकेर, भानुप्रतापपुर में तैनात जवानों के बीच पहुंचकर माओवादी गतिविधियों का जायजा लिया।

भिलाई. नक्सल (Maoist in Chhattisgarh) समस्या को हल करने के लिए उस पर आखिरी चोट करने केंद्र के साथ राज्य सरकार भी तैयार है। माओवादियों पर नकेल की रणनीति बनाने के लिए देश के पांच राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक 28 जनवरी को रायपुर में होगी। इंटर स्टेट काउंसिल की इस बैठक को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Union home minister Amit shah) लेंगे, जबकि अध्यक्षता मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) करेंगे। माओवाद समस्या को खत्म करने के लिए केंद्र और राज्य की सरकारेें लगातार प्रयासरत हैं। अक्टूबर में केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला और उसके बाद दिसंबर में केंद्रीय सुरक्षा सलाहकार विजय कुमार भी बैठक लेने छत्तीसगढ़ आए थे। इसके बाद हाल ही में 7 जनवरी को बीएसएफ डीजी (BSF DG )आईपीएस विवेक जौहरी और नक्सल ऑपरेशन एडीजी एसएस चाहर ने छत्तीसगढ़ का दौरा किया है। उन्होंने बीएसएफ के भिलाई सीमांत मुख्यालय के अलावा कांकेर, भानुप्रतापपुर में तैनात जवानों के बीच पहुंचकर माओवादी गतिविधियों का जायजा लिया। वहीं रायपुर में पुलिस के आला अधिकारियों के साथ सुरक्षा और माओवादी रणनीति पर चर्चा भी की।

प्रदेश में नक्सल घटनाओं में 40, जवानों की शहादत में 60 फीसदी आई है कमी
केंद्रीय गृहमंत्री के साथ होने वाली बैठक की जानकारी साझा करने के साथ ही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया कि प्रदेश में नक्सली घटनाओं में 40 फीसदी की कमी आई है। जवानों की शहादत में भी 60 प्रतिशत मामले कम हुए हैं। खास बात यह रही है कि इन नक्सल घटनाओं के चलते नागरिकों के मारे जाने के मामले 50 फीसदी तक कम हो गए हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि सरकार का विकास और सुरक्षा रणनीति पर विश्वास है। नक्सल मामलों को लेकर ही 28 जनवरी को एक उच्च स्तरीय बैठक रायपुर में होने वाली है, जिसमें 5 राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल होंगे।

नक्सलियों से निपटने पांच राज्यों के CM के साथ गृहमंत्री अमित शाह की बैठक से पहले छत्तीसगढ़ पहुंचे BSF डीजी जौहरी

बीएसएफ डीजी ने बढ़ाया जवानों का हौसला
नक्सलियों को पीछे खदेडऩे प्रदेश में 9 साल से तैनात सीमा सुरक्षा बल के जवानों और अधिकारियों का बीएसएफ डीजी और एडीजी ने बखूबी हौसला बढ़ाया। कांकेर जिले में तैनात बटालियन की सीओबी चर्रेमरे-छोटे भेटिया, भानुप्रतापपुर में जाकर जवानों और अधिकारियों से रूबरू हुए। उन्होंने जवानों को हमेशा अलर्ट रहने के साथ ही फिट रहने की सलाह दी। साथ ही ग्रामीणों का विश्वास जीतने सिविक एक्शन प्रोग्राम को और बेहतर ढंग से करने की सलाह दी।

बीएसएफ (Border Security Force) डीजी ने कहा कि ग्रामीणों का विश्वास जीतकर ही उन्हें मुख्यधारा से जोडऩे प्रेरित किया जा सकता है। डीजी ने फ्रंटीयर रिसाली में बैठक लेकर माओवादी क्षेत्रों में चल रहे बीएसएफ के कार्यो की समीक्षा की। इस दौरान आईजी जेएनडीएस प्रसाद ने प्रेजेंटेशन के जरिए बीएसएफ के कार्यों और उपलब्धियों को बताया। साथ ही रायपुर हेडक्वाटर्र का भी निरीक्षण किया। डीजी जौहरी ने राज्य के मुख्य सचिव एवं डीजी (पुलिस) से भी मुलाकात की।

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned