पांचवें दौर की चर्चा भी बेनतीजा:बीएसपी ठेका श्रमिकों का आंदोलन जारी

भिलाई इस्पात संयंत्र में काम करने वाले एचएसएलटी श्रमिकों और प्रबंधन के बीच पांचवें दौर की बातचीत भी बेनतीजा रही।

By: Satya Narayan Shukla

Published: 09 Dec 2017, 09:34 PM IST

भिलाई. भिलाई इस्पात संयंत्र में काम करने वाले एचएसएलटी श्रमिकों और प्रबंधन के बीच पांचवें दौर की बातचीत भी बेनतीजा रही। प्रबंधन ने एचएससीएल के माध्यम से काम पर रखने और 325 रुपए न्यूनतम मजदूरी भुगतान की बात कही, जिसे यूनियन नेताओं ने खारिज कर दिया। पूर्व में प्रबंधन ने 275 रुपए मजदूरी का प्रस्ताव रखा था। इधर यूनियन ने आंदोलन जारी रखने की घोषणा करते हुए शनिवार को चौथे दिन भी संयंत्र के औद्योगिक संबंध विभाग के गेट के सामने ही धरने पर बैठे रहे।

52 एचएसएलटी ठेका श्रमिक 20 दिन से हड़ताल पर

प्रबंधन ने सिंटरिंग प्लांट-3 में काम करने वाले ५२ एचएसएलटी ठेका श्रमिकों को बैठा दिया है। श्रमिक व यूनियन इसका विरोध कर रहे हैं। प्रबंधन इसे एचएससीएल के माध्यम से काम पर रखने तैयार है, लेकिन श्रमिक यह मानने तैयार नहीं है। इससे श्रमिकों को आर्थिक नुकसान तो होगा ही, प्रबंधन की ओर से मिलने वाली सुविधाओं से भी वंचित होना पड़ेगा। यही वजह है कि श्रमिक हिंदुस्तान इस्पात ठेका श्रमिक यूनियन सीटू के बैनर तले 20 दिन से हड़ताल पर डटे हुए हैं।

एचएससीएलटी के तहत ही चाहिए काम

यूनियन तथा श्रमिकों ने बंद होने जा रही कम्पनी एचएससीएल के माध्यम से काम पर लिए जाने की पेशकश ठुकरा दी। इसके बाद अधिकारियों ने प्रोजेक्ट के माध्यम से काम पर रखने प्रयास की बात कही। इस पर यूनियन नेताओं ने कहा जब तक नया टेंडर नहीं हो जाता और एचएससीएलटी के तहत ही श्रमिकों को काम पर नहीं ंलिया जाता, आंदोलन जारी रहेगा।

इसलिए जिद पर अड़े हैं श्रमिक

एचएससीएलटी श्रमिको को 384 रुपए रोजी मिलती है। इसके अलावा संयंत्र के चिकित्सालयों में पति व पत्नी को मुफ्त इलाज की सुविधा है। 60 रुपए हाउस रेंट एलाउंस और 40 रुपए साइकिल भत्ता भी मिलता है। सीपीएफ संयंत्र प्रबंधन के माध्यम से जमा होता है। अन्य ठेका श्रमिकों की बनिस्बत अंतिम वेतन भुगतान में कटौती कम होती है।

ये थे चर्चा में शामिल
चर्चा में आईआर विभाग के सहायक महाप्रबंधक सूरज सोनी, कॉन्ट्रेक्ट लेबर सेल प्रोजेक्ट के रेड्डी, ठेका प्रकोष्ठ विभाग के रामा राव तथा ठेका यूनियन से यूके सूर्यवंशी, उमराव सिंह पुरामे, योगेश सोनी, पी वेंकट, कमलेश चोपड़ा, राजू भारती, पीके मुखर्जी, एचएससीएलटी श्रमिक बोहरन, चंदन अमरीका शामिल थे।

Satya Narayan Shukla Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned