बीएसपी प्रबंधन ने जोड़ा किराए के साथ ब्याज, रिटेंशनधारियों की भौंवे तनी

बीएसपी प्रबंधन ने जोड़ा किराए के साथ ब्याज, रिटेंशनधारियों की भौंवे तनी
बीएसपी प्रबंधन ने जोड़ा किराए के साथ ब्याज, रिटेंशनधारियों की भौंवे तनी

Abdul Salam | Updated: 06 Oct 2019, 07:47:21 PM (IST) Bhilai, Durg, Chhattisgarh, India

लीज संघर्ष कमेटी सत्याग्रह के रूप में सामूहिक भूख हड़ताल किए, भिलाई इस्पात संयंत्र प्रबंधन से तब उसे वापस 32 गुना करने सहमति बनी, लेकिन लागू नहीं किया.

भिलाई. भिलाई इस्पात संयंत्र Bhilai Steel Plant के रिटेंशनधारी आवास का किराया 48 से 64 गुना बढ़ा किराया जमा नहीं कर रहे हैं। इस पर प्रबंधन ने हर माह किराए की शेष राशि पर 18 फीसदी वार्षिक ब्याज जोड़कर किराया दर्शाया जा रहा है। इसको लेकर लीजसंघर्ष कमेटी आपत्ती दर्ज कर रही है। लीज संघर्ष कमेटी की बैठक में रविवार को पदाधिकारियों ने कहा कि इस बड़े हुए किराए को वापस लेने के लिए 10 सितंबर 2018, 2 अक्टूबर 2018 से 5 दिनों तक सत्याग्रह के रूप में सामूहिक भूख हड़ताल किए थे। प्रबंधन से तब चर्चा हुई और उसे वापस 32 गुना करने की सहमति बनी, लेकिन प्रबंधन ने लागू नहीं किया।

बंद किया किराया देना
इसके बाद कमेटी ने फैसला लिया और किराया देना बंद कर दिया। कमेटी के पदाधिकारी तर्क दे रहे हैं कि जब बीएसपी के कई हजार आवासों में ताला तोड़कर रहने वाले लोग आराम से मुफ्त में रह रहे हैं। ऐसी स्थिति में आवासों किराए की बकाया राशि की गणना नहीं कर रहे हैं, तो फिर रिटेंशनधारियों की ही क्यों। रिटेंशनधारी तो 3 से 4 लाख रुपए जमा कर रह रहे हैं और आवास पर दो-दो लाख कम से कम खर्च कर चुके हैं।

यहां चल रहा बीएसपी की जमीन पर व्यापार
रविवार को हुए साप्ताहिक बैठक में पदाधिकारियों ने कहा कि बीएसपी के हजारों एकड़ खाली जमीन पर लोग जबरन कब्जा कर उसमें मकान बनाकर रह रहे हैं। बड़ी संख्या में लोग व्यापार भी कर रहे हैं। बीएसपी के सबसे कीमती जमीन पावर हाउस से खुर्सीपार जोन-3 तक फोरलेन के ठीक किनारे 20-25 सालों से बड़े-बड़े व्यापारी व्यवसाय कर रहे हैं। बीएसपी उन सभी लोगों से व्यवसाय करने के बदले में हर माह बिल भेजती है क्या। उनका कितना बकाया है, इसका खुलासा अब प्रबंधन को करना जरूरी हो गया है, क्योंकि यह सभी राष्ट्रीय संपत्ति है और उसके नुकसान की भरपाई रिटेंशधारियों के आवास किराया बढ़ाने वाले जिम्मेदार अधिकारियों के वेतन से कटौती कर पूरी होनी चाहिए।

10 को करेंगे सेक्टर-9 के सामने प्रदर्शन
समिति ने यह निर्णय लिया है कि सेक्टर-9 हॉस्पिटल में स्पेसिलिस्ट डॉक्टरों व दवाई की कमी के विरोध में 1 अक्टूबर को शाम 3 से 5 बजे तक हॉस्पिटल के सामने धरना प्रदर्शन कर निदेशक स्वास्थ्य सेवाएं से चर्चा के बाद ज्ञापन भी सौंपा जाएगा। इस मौके पर अध्यक्ष राजेंद्र परहनिहा, तेनसिंग राजपूत, नंदकुमार वर्मा, हरेंद्र पांडेय, अनिल साहू, लियाकत अली, चेतन यादव, सत्यदेव प्रसाद, रमेश पाल, एसएल चंद्रवंशी, गजानंद, तुलसी साहू, शंकर साहू, सुरेंद्र मोहंती, आरके चौबे, बोरकर, जी एल देवदास, एमआर अनंत व राजहरा से रमेश पेंढारकर मौजूद थे।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned