बीएसपी के उत्पादन में आई गिरावट को रोकने मॉनिटरिंग टीम का किया गठन

Bhuwan Sahu

Publish: Jul, 13 2018 06:05:57 PM (IST) | Updated: Jul, 13 2018 06:05:58 PM (IST)

Bhilai, Chhattisgarh, India
बीएसपी के उत्पादन में आई गिरावट को रोकने मॉनिटरिंग टीम का किया गठन

संयंत्र में हॉट मेटल के उत्पादन में आई गिरावट के बाद प्रबंधन हरकत में आया है। उच्च प्रबंधन ने उत्पादन से जुड़े हर विभाग की निगरानी करने जवाबदारी तय कर दी है।

भिलाई . भिलाई इस्पात संयंत्र में हॉट मेटल के उत्पादन में आई गिरावट के बाद प्रबंधन हरकत में आया है। उच्च प्रबंधन ने उत्पादन से जुड़े हर विभाग की निगरानी करने जवाबदारी तय कर दी है। डीजीएम स्तर के अधिकारियों की एक विशेष निगरानी टीम गठित की गई है। यह टीम उत्पादन व परिवहन को लेकर आ रही दिक्कतों पर खास नजर रखेगी। बीएसपी के सभी फर्नेस काम नहीं कर रहे हैं। प्रबंधन चाहता है कि जो फर्नेस काम कर रहे हैं, उससे हॉट मेटल समय पर एसएमएस-1, 2 तक पहुंचे।
वर्तमान में बीएसपी के दो-दो फर्नेस में उत्पादन को लेकर तकनीकी दिक्कत पेश आ रही है। बीएसपी के उत्पादन का ग्राफ १४ हजार टन से घटकर ८ हजार टन तक गिरा है। ब्लास्ट फर्नेस-8 व ५ में तकनीकि दिक्कत आ रही है। प्रबंधन तर्क दे रहा है कि इसमें जो आयटम खराब हुआ है, उसे बदल दिया जाएगा, तो उत्पादन सामान्य हो जाएगा। इस वजह से कुछ दिनों तक इंतजार करने कहा जा रहा है।

टीएंडडी से जवाबदारी जूनियर अफसरों को

बीएसपी के टीएण्डडी में ९ डीजीएम व उतने ही एजीएम भी हैं। इसके बाद भी वहां से असिस्टेंट मैनेजर व डिप्टी मैनेजर को इस टीम में रखा गया है। वहीं दूसरे विभाग से डीजीएम स्तर के अधिकारियों को इसमें जगह मिली है।

टीम में इन अफसरों को मिली जगह

ब्लास्ट फर्नेस से लेडल में हॉट मेटल लेकर एसएमएस तक परिवहन की व्यवस्था को बेहतर बनाए रखने के लिए ८ अफसरों की ड्यूटी लगाई है। इनमें डीजीएम डी दास, डीजीएम आर आनंद, डिप्टी मैनेजर समीर डोबाल को सुबह ९ से रात ९ बजे तक अलग-अलग समय पर मौजूद रहना है।
ब्लास्ट फर्नेस से लेडल के परिवहन व एसएमएस में पहुंचाने के काम रात ९ से सुबह ९ बजे तक बिना दिक्कत के पूरा किया जा सके। इसके लिए डीजीएम आरएस तकलीकार, सीनियर मैनेजर एसके आदिल, डिप्टी मैनेजर अजय तिर्की, असिस्टेंट मैनेजर मनीष कुमार हैं। यह अधिकारी रात में अलग-अलग समय पर उत्पादन स्थल पर निगरानी करेंगे।
स्टील मेल्टिंग शॉप-1 में डीजीएम एनके दास व एजीएम प्रकाश बॉम्बेश्वर तय करेंगे कि समय पर उत्पादन हो रहा है या नहीं। लेडल समय पर हॉट मेटल पहुंचा रहा है या कोई दिक्कत आ रहा है, उस पर नजर रखेंगे। इसकी लगातार उच्च प्रबंधन को रिपोर्टिंग भी करते रहेंगे। डीजीएम रात व एजीएम दिन में यहां मौजूद रहेंगे।
स्टील मेल्टिंग शॉप-2 में हॉट मेटल का लेडल से परिवहन का समय क्या है। लेडल के आने जाने में अगर विलंब हो रहा है, तो इसकी वजह किस तरह की है। इसका रिपोर्टिंग सीधे उच्च प्रबंधन को यह टीम करेगी।
टीएण्डडी के असि. मैनेजर एसके साहू व डिप्टी मैनेजर एसके साहू को ब्लास्ट फर्नेस से मांग के मुताबिक समय पर हॉट मेटल लेने लेडल रवाना हो रहा है या नहीं, इस पर नजर रखना है। इसके साथ-साथ जिस फर्नेस में स्लैग को लेडल से परिवहन करते हैं। वहां समय से भेजा जा रहा है या नहीं उसकी मॉनिटरिंग करना है।
प्लांट गैरेज के शिफ्ट इंचार्ज को देखना है कि उत्पादन को परिवहन करने में दिक्कत तो नहीं आ रही है। पोकलेन, क्रेन की जहां जरूरत है, वहां मौजूद है या नहीं। अगर इस तरह की स्थिति बने, तो उच्च प्रबंधन को सूचना देना है। इसी तरह से आरईडी में भी शिफ्ट इंचार्ज को ब्रिक्स के लाइनिंग के काम को देखना है।

Ad Block is Banned