BSP ऑफिसर्स एसोसिएशन चुनाव, तीसरी बार बंछोर बने अध्यक्ष सीधे मुकाबले में डॉ. ठाकुर को हराया

BSP officers association election: नरेंद्र कुमार बंछोर लगातार तीसरी बार बीएसपी ऑफिसर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष चुने गए। उन्होंने अपने एकमात्र प्रतिद्वंद्वी डॉ. कौशलेंद्र ठाकुर को 885 मतों के अंतर से हराया।

By: Dakshi Sahu

Published: 25 Sep 2021, 05:22 PM IST

भिलाई. नरेंद्र कुमार बंछोर लगातार तीसरी बार बीएसपी (Bhilai steel Plant) ऑफिसर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष चुने गए। उन्होंने अपने एकमात्र प्रतिद्वंद्वी डॉ. कौशलेंद्र ठाकुर को 885 मतों के अंतर से हराया। बंछोर को 1552 और ठाकुर को 667 वोट मिले। महासचिव के पद के लिए तीन उम्मीदवार मैदान में थे, जिसमें परविंदर सिंह विजयी रहे। परविंदर को 1256, शाहिद अहमद को 705 और केके यादव का मात्र 253 वोट मिले। अंकुर मिश्रा एक बार फिर कोषाध्यक्ष निर्वाचित हुए। अंकुर को 1233 और उनके प्रतिद्वंद्वी उदयभान तिवारी को 974 मत मिले।

BSP ऑफिसर्स एसोसिएशन चुनाव, तीसरी बार बंछोर बने अध्यक्ष सीधे मुकाबले में डॉ. ठाकुर को हराया

रात ढाई बजे तक चली वोटों की गिनती
बीएसपी ऑफिसर्स एसोसिएशन का चुनाव शुक्रवार को हुआ। अध्यक्ष,महासचिव और कोषाध्यक्ष तीन पदों के लिए हुए चुनाव में 2465 में से 2221 यानि लगभग 90 फीसदी अफसरों ने वोट डाला। वोटों की गिनती रात ढाई बजे तक चली। पश्चात विजयी उम्मीदवारों की घोषणा की गई।

90 फीसदी वोट पड़े
भिलाई क्लब में हुए चुनाव में 1345 मतदाता अफसरों में से 1202 और इंजीनियर्स भवन में 1020 में से 877 अफसरों ने मतदान में हिस्सा लिया। नंदिनी माइंस में 17, हिर्री में 14 और दल्ली दराजहरा माइंस में 111 अफसरों ने वोट दिए।

महासचिव के लिए था त्रिकोणीय मुकाबला
भिलाई क्लब और इंजीनियर्स भवन सिविक सेंटर में सुबह 9.30 से शाम 7 बजे तक मतदान हुआ।माइंसों से मतपेटियां आने के बाद रात लगभग 9 बजे से वोटों की गिनती शुरू हुई। अध्यक्ष पद के लिए नरेंद्र कुमार बंछोर और डॉ. कौशलेंद्र ठाकुर के बीच सीधा मुकाबला था। वहीं महासचिव के लिए त्रिकोणी संघर्ष की स्थिति थी। शाहिद अहमद, परविंदर सिंह और केके यादव मैदान में थे। अंकुर मिश्रा और उदयभान तिवारी कोषाध्यक्ष बनने टकारा रहे थे। इनके अलावा 17 जोन के कुल 28 जोनल प्रतिनिधियों के लिए भी 44 प्रत्याशी मैदान में उतरे थे।

शांतिपूर्ण और गरिमामय हुआ चुनाव
पिछले दो बार की अपेक्षा इस बार चुनाव शांतिपूर्ण और संयंत्र के अफसरों की गरिमा के अनुरूप हुआ। भिलाई क्लब में सभी प्रतिद्वंद्वी प्रत्याशी एक साथ हंसी मजाक करते हुए वोट देने आने वाले अफसरों से अपने- अपने लिए समर्थन मांगते नजर आए। इसके पहले हुए दो चुनाव में राजनीतिक दलों सा नजारा और आरोप-प्रत्यारोप का खूब दौर भी चला था। बाहरी लोगों का भी काफी दखल दिखता था। इस बार मतदान केंद्र के आसपास केवल संयंत्र के अफसर ही नजर आ रहे थे।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned