SAIL BSP : वित्त वर्ष 2018-19 के अप्रैल से अगस्त तक उत्पादन में रचे कई कीर्तिमान

SAIL BSP : वित्त वर्ष 2018-19 के अप्रैल से अगस्त तक उत्पादन में रचे कई कीर्तिमान

Bhuwan Sahu | Publish: Sep, 11 2018 12:34:36 AM (IST) Bhilai, Chhattisgarh, India

भिलाई इस्पात संयंत्र वित्त वर्ष 2018-19 के अपै्रल से अगस्त के दौरान उत्पादन में कई कीर्तिमान स्थापित करने में कामयाब हुआ है।

भिलाई. भिलाई इस्पात संयंत्र वित्तवर्ष 2018-19 के अपै्रल से अगस्त के दौरान उत्पादन में कई कीर्तिमान स्थापित करने में कामयाब हुआ है। इसके तहत स्टील मेल्टिंग शॉप-2 (एसएमएस-2) ने अब तक के ब्लूम्स के उत्पादन में बेहतर उपलब्धि हासिल की है। इसके अतिरिक्त इसी अवधि में रेल व स्ट्रक्चरल मिल, यूनिवर्सल मिल से रेल्स के उत्पादन और डिस्पैच में रिकॉर्ड दर्ज किया है। संयंत्र ने प्रथम तिमाही के दौरान उत्पादन, डिस्पैच व बॉयलर क्वालिटी फिनिश्ड प्लेटों में भी कीर्तिमान दर्ज किया है।

बिलेट्स का उत्पादन 106.3 फीसदी
बीएसपी ने वर्तमान वित्त वर्ष की अवधि के अपै्रल से अगस्त, 2018 के एबीपी लक्ष्यों को पार करते हुए इंगट की रोलिंग 108.8 फीसदी व बिलेट्स का उत्पादन 106.3 फीसदी किया है। इसके अलावा संयंत्र ने एबीएपी लक्ष्यों को पार करते हुए सेमिज उत्पाद के उत्पादन लक्ष्य को भी इसी अवधि में बीबीएम से ब्लूम्स के उत्पादन 120.4 फीसदी व सीसीएस उत्पादन को 202.2 फीसदी पूर्ण किया है।

दैनिक उत्पादन कर एक और मील के पत्थर को प्राप्त किया
वित्त वर्ष में रिकार्ड दर्ज करने के बाद एसएमएस-2 ने 1,03,150 टन मई में, 1,09,735 टन जून माह में ब्लूम्स का बेस्ट उत्पादन किया। वहीं एसएमएस-2 ने 19 जून, 2018 को 46 रेल ब्लूम हीट्स का दैनिक उत्पादन कर एक और मील के पत्थर को प्राप्त किया। वर्तमान वित्तवर्ष के प्रथम तिमाही में 3,04,596 टन ब्लूम्स का उत्पादन कर पिछले वित्तवर्ष के इसी अवधि में बनाए गए 2,73,730 टन ब्लूम्स के उत्पादन रिकॉर्ड को ध्वस्त किया। एसएमएस-2 ने अपै्रल से अगस्त के दौरान अब तक 5,29,400 टन कॉस्ट ब्लूम्स का बेस्ट उत्पादन दर्ज किया है, जो वित्तवर्ष 2017-18 के समान अवधि में 4,79,900 टन दर्ज ब्लूम्स के उत्पादन रिकॉर्ड से अधिक है।

जुलाई में भी बेहतर प्रदर्शन

एसएमएस-2 ने मौजूदा वित्तवर्ष के दौरान जुलाई, 2018 मेें अब तक का 1,20,000 टन ब्लूम्स का बेस्ट उत्पादन किया है। एसएमएस-2 के माध्यम से रेल व स्ट्रक्चरल मिल व यूनिवर्सल रेल मिल दोनों को रेल ब्लूम्स की आपूर्ति निरंतरता के साथ की जा रही है, ताकि भारतीय रेलवे की रेल्स की मांग को पूरा कर सकें।

यूआरएम ने १,४४,७९९ टन रेल्स का किया उत्पादन

एसएमएस-2 से कंकास्ट ब्लूम्स के रिकॉर्ड उत्पादन के सहयोग से ही यूनिवर्सल रेल मिल ने वर्तमान वित्तवर्ष के अपै्रल से अगस्त की अवधि के दौरान 1,44,799 टन रेल्स का संचयी उत्पादन दर्ज किया है। जो कि सीपीएलवाई में 69,600 टन रेल्स के उत्पादन रिकॉर्ड से अधिक है।

रेल्स उत्पादन में भी रहे बेहतर

बीएसपी ने रेल्स उत्पादन के क्षेत्र में मौजूदा वित्तवर्ष के अपै्रल से अगस्त के दौरान यूटीएस 90 रेल्स के 3,69,036 टन रेल्स का उत्पादन किया है। जो विगत वित्तवर्ष 2017-18 के समान अवधि में 3,49,300 टन बेस्ट रिकॉर्ड से अधिक है। संयंत्र ने इस वित्तवर्ष के अपै्रल से अगस्त के दौरान यूटीएस 90 रेल्स (इसमें यूआरएम भी शामिल है) का 3,68,300 टन लदान किया है। वित्तवर्ष 2017-18 के इसी समान अवधि में 3,45,800 टन लदान किया था। इसी प्रकार संयंत्र ने इस वित्तवर्ष में अब तक 1,61,500 टन लॉन्ग रेल्स का लदान किया है जो कि पिछले वित्त वर्ष 2017-18 के अपै्रल से अगस्त के दौरान के 1,02,900 टन लांग रेल्स की लदान से अधिक है।

यहां भी बनाए रिकार्ड

बीएसपी ने इस वित्तवर्ष के अब तक की अवधि के दौरान ब्लास्ट फर्नेस-7 में 440 केजी, टीएचएम की कोक दर प्राप्त की है। वित्तवर्ष 2009-10 के इसी अवधि के दौरान 464.7 केजी, टीएचएम कोक दर रिकॉर्ड किया है।

ब्लास्ट फर्नेस-7 में ही इस वित्तवर्ष के दौरान 83.6 केजी, टीएचएम सीडीआई दर रिकॉर्ड किया है जो कि पूर्व के वित्तवर्ष 2009-10 के 68.2 केजी, टीएचएम बेस्ट दर्ज रिकॉर्ड से अधिक है।

बीएसपी ने पिछले वित्त वर्ष की तुलना में इस वित्तवर्ष के अपै्रल से अगस्त के दौरान राजहरा माइंस से आयरन ओर का उत्पादन 7.9 फीसदी, ब्लास्ट फर्नेस कोक का उत्पादन 11.6 फीसदी, सिंटर उत्पादन 13.5 फीसदी, हॉट मेटल उत्पादन 13.3 फीसदी उत्पादन किया है।

क्रूड इस्पात का उत्पादन 13.8 फीसदी, एसएमएस-2 से 4.5 फीसदी, प्लेट मिल से प्लेटों का उत्पादन 5.5 फीसदी, वायर रॉड मिल से 11.7 फीसदी, मर्चेंट मिल से 14.8 फीसदी, बार व रॉड मिल से 23.8 फीसदी उत्पादन किया।

Ad Block is Banned