मंत्रालय और पुलिस में नौकरी के नाम पर बेरोजगारों से 20 लाख ठगने वाला BSP कर्मी गिरफ्तार, मंत्री से पहचान बताकर झाड़ता था रौब

बड़े नेता, मंत्री और अधिकारियों से पहचान बताकर सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर दुर्ग जिले के बेरोजगारों को ठगने वाले बीएसपी कर्मचारी को नंदिनी पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

By: Dakshi Sahu

Published: 08 Apr 2021, 05:46 PM IST

भिलाई. बड़े नेता, मंत्री और अधिकारियों से पहचान बताकर सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर दुर्ग जिले के बेरोजगारों को ठगने वाले बीएसपी कर्मचारी को नंदिनी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बागडुमर निवासी संतोष साहू की शिकायत के बाद रिसाली निवासी बीएसपी कर्मी भीमराज साहू को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मिली जानकारी के अनुसार भिलाई स्टील प्लांट में अटेडेंट कम टेक्निशियन के पद पर नौकरी करने वाले भीमराज ने एक दर्जन से ज्यादा बेरोजगार युवकों से 20 लाख रुपए की ठगी की है। आरोपी बड़े अधिकारी और नेताओं से पहचान बताकर रौब झाड़ता था। बेरोजगार युवकों और उनके परिजनों को अपने झांसे में ले लेता।

मंत्रालय से लेकर पुलिस विभाग में नौकरी का दिया झांसा
यामिनी साहु को पुलिस विभाग में आरक्षक के पद पर लगाने 3,10,000 रूपए, गोर्वधन साहू कि पत्नी रेशमा साहू को मंत्रालय में डाटा आपरेटर पद पर लगाने 3,50,000 रूपए, जेल पहरी के लिए 2 लाख रूपए ,वार्ड ब्याय जिला अस्पताल में लगावने 50,000 रुपए ,चपरासी के पद के लिए 1 लाख, पटवारी के पद के लिए 4,00,000 इस प्रकार कुल 20,00,000 रूपए की ठगी आरोपी ने बेरोजगारों से की है। साथ ही बीएसपी में गेट पास बनाने के लिए भी लोगों से 5000 रुपए की ठगी की।

पैसा वापस मांगा तो थमा दिया कोरा चेक
नौकरी के लालच में फंसकर लाखों रुपए दाव में लगाने वाले बेरोजगारों ने जब आरोपी से पैसा मांगा तो उसने भारतीय स्टेट बैंक का कोरा चेक देकर उन्हें ***** बना दिया। शिकायकर्ता ने बताया कि आरोपी ने काफी लंबे समय तक पैसे लिए घुमाया तंग आकर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी
को गुरुवार को गिरफ्तार किया है।

Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned