बीएसपी कर्मी की मौत के बाद पत्नी की तबीयत बिगड़ी, प्रबंधन नहीं पड़ रहा नरम

जनप्रतिनिधियों ने भी नहीं लिया अब तक सुध.

By: Abdul Salam

Published: 10 Jan 2021, 10:41 PM IST

भिलाई. संयंत्र कर्मी कार्तिक राम ठाकुर की मौत के बाद से घर में मातम पसरा है। पति की मौत के बाद अब तक अंतिम संस्कार नहीं हुआ है, इस चिंता में घर पर बैठी पत्नी आशना ठाकुर की तबीयत ज्यादा बिगड़ गई, आनन-फानन में डॉक्टर को बुलाया गया। डॉक्टर ने बताया कि बीपी हाई है, खाना वगैरह ठीक से नहीं खा रहे हैं, जिसकी वजह से कमजोर हो चुके हैं। यह कहते हुए उन्होंने दवा दिया और स्लाइन भी चढ़ाया है। पीडि़त परिवार अपने अधिकार की मांग कर रहा हैै। वहीं पूरे प्रकरण में बीएसपी प्रबंधन अब तक नरम पड़ता नजर नहीं आ रहा है।

रस्म है अंतिम संस्कार के बाद ही चुल्हा जलाने का
भिलाई इस्पात संयंत्र कर्मी कार्तिक राम ठाकुर की मौत हुए ७ दिन बीत चुका है, मेडिकल ग्राउंड पर परिवार अनुकंपा नियुक्ति की मांग कर रहा है। प्रबंधन और परिवार के मध्य मामला सुलझा नहीं है, जिसके कारण अब तक शव सेक्टर-9 अस्पताल के मरच्यूरी में रखा हुआ है। जब तक परिवार अंतिम संस्कार की रस्म को अदा नहीं करता, तब तक घर में चुल्हा जलाया नहीं जाता। पीडि़त परिवार के घर में लगातार रिश्तेदार और समाज के लोग पहुंच रहे हैं। जिसकी वजह से पीडि़त परिवार में गम के साथ-साथ तनाव भी है।

पर्सनल विभाग के अधिकारी लौट रहे बैरंग
बीएसपी के पर्सनल विभाग से एक महिला अधिकारी पीडि़त परिवार से मिलने एक दिन उनके घर पहुंची थी। उनकी ओर से परिवार से स्पष्ट बात नहीं किया जा रहा है। जिससे प्रबंधन की ओर से अब तक इस दिशा में क्या पहल की गई है, वह साफ हो सके। परिवार चाहता है कि प्रबंधन की ओर से जो भी पहल की जा रही है, उसकी जानकारी उनको दिया जाए।

मेडिकल अनफिट के लिए 2 को दिया आवेदन
बीएसपी कर्मी ने सेक्टर-9 के आइसीयू में रहने के दौरान मेडिकल अनफिट की मांग करते हुए बेटे को नौकरी देने की मांग की थी। आवेदन 2 जनवरी 2021 को कर्मी के विभाग के महाप्रबंधक तक पहुंचा। जहां से 4 जनवरी 2021 को बीएसपी के स्वास्थ्य विभाग के लिए फर्वड किया गया। जिसमें बीएसपी कर्मी ने नियम के मुताबिक मेडिकल अनफिड के ग्राउंड पर बेटे को अनुकंपा नियुक्ति देने मांग किया था।

बोर्ड की बैठक में रखा जाता है आवेदन
पीडि़त परिवार से मिलने पहुंचे श्रमिक नेता आर परगनिहा ने बताया कि बीएसपी के सेक्टर-9 अस्पताल में हर गुरुवार को मेडिकल बोर्ड की बैठक होती है। जिसमें इस तरह के आवेदन को रखा जाता है। वहीं मरीज की स्थिति को देखते हुए जरूरी होने पर छुट्टी के दिन भी मेडिकल बोर्ड की बैठक बुलाई जा सकती है। करीब १० साल पहले एक कर्मचारी की तबीयत अधिक बिगड़ गई थी, तब रविवार को छुट्टी के दिन भी मेडिकल बोर्ड की बैठक बुलाई गई थी। इसके बाद उक्त कर्मचारी को मेडिकल अनफिट घोषित कर बेटे के लिए अनुकंपा नियुक्ति के प्रोसेस को आगे बढ़ाया गया था। इस मामले में भी कर्मचारी 24 नवंबर 2020 से बीएसपी के सेक्टर-9 अस्पताल में दाखिल था, प्रबंधन ने उसकी बिगड़ती स्थिति को देखते हुए रायपुर के निजी अस्पताल में रेफर किया। वहां से फिर वापस सेक्टर-9 में लाया गया। काउंसलिंग में डॉक्टर मरीज के दोनों किडनी खराब होने की बात परिवार को बताए। तब मरीज ने आईसीयू में रहते हुए मेडिकल अनफिट ग्राउंड पर बेटे के लिए अनुकंपा नियुक्ति की मांग किया। अब बीएसपी प्रबंधन इस प्रोसेस को आगे बढ़ाने की जगह समय बिताने का काम में जुट गई है।

अगर मामला जल्द नहीं सुलझा तो समाज उतरेगा सड़क पर
गोंणवाना गोड़ महासभा के जिलाध्यक्ष व रिसाली के पार्षद चंद्रभान सिंह ठाकुर ने कहा कि समाज सड़क पर आंदोलन करने उतरेगा। बीएसपी कर्मी कार्तिक राम ठाकुर को 24 नवंबर 2020 को सेक्टर-9 अस्पताल में दाखिल किया गया। सेक्टर-9 से उनको 27 नवंबर 2020 की रात में रामकृष्ण हॉस्पिटल, रायपुर रेफर किया गया। 10 दिसंबर 2020 की रात में रामकृष्ण, रायपुर से सेक्टर-9 के चेष्ट वार्ड में लाकर दाखिल किए। जहां 4 जनवरी 2021 को रात 8 बजे के बाद अंतिम सांस लिया। प्रबंधन को उसकी तबीयत से संबंधित सारी जानकारी थी, तब भी आवेदन मिलने के बाद सोमवार को मेडिकल बोर्ड की बैठक क्यों नहीं किया। अब तक मेडिकल बोर्ड की बैठक कर निर्णय क्यों नहीं लिया जा रहा है।

जनप्रतिनिधियों ने अब तक नहीं लिया सुध
पीडि़त परिवार जिस विधानसभा क्षेत्र में रहता है, उसके विधायक व मेयर देवेंद्र यादव हैं। लोकसभा क्षेत्र के सांसद विजय बघेल हैं। इसी तरह से जिला में ही प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल का निवास है। इसके बाद भी अब तक किसी ने पीडि़त परिवार का सुध नहीं लिया है। जिला प्रशासन भी पूरे मामले में खामोश है, 7 दिनों से शव मरच्यूरी में रखा है इस स्थिति में कलेक्टर खुद इस विषय को संज्ञान में लेकर हस्ताक्षेप कर सकते थे। वहां से भी कोई पहल नहीं हुई है।

COVID-19
Abdul Salam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned