बीएसपी मजदूरों को यूनियन की पहल पर पुलिस ने दिलाया इंसाफ

बीएसपी मजदूरों को यूनियन की पहल पर पुलिस ने दिलाया इंसाफ

Abdul Salam | Publish: Apr, 17 2019 04:37:39 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2019 04:37:40 PM (IST) Bhilai, Durg, Chhattisgarh, India

बीएसपी के मजदूर जब एक हो गए, तो बड़े से बड़े ठेकेदार को झुकना पड़ा। वहीं दूसरे विभाग में मजदूर चुपचाप ठेकेदार का जुल्म सहते रहते हैं।

भिलाई. बीएसपी में ठेकेदारों के बीच लगे होड़ में कम दरों पर ठेका उठाना व उठाए हुए ठेके को एनकेन प्रकरेण तरीके से पूरा करने के चक्कर में मजदूरों को दिए जाने वाले वेतन में धांधली करना आम बात हो गया है। सीटू के ठेका प्रकोष्ठ ने पिछले दिनों बीएसपी के विजलेंस विभाग में भी शिकायत की थी, लंबे संघर्ष के बाद यूनियन, श्रमिकों, ठेकेदार, प्रबंधन व पुलिस की मौजूदगी में बुधवार को समाधान निकाला गया। ठेकेदार ने 27 अप्रैल २०१९ को बकाया वेतन भुगतान करने के संबंध में लिखित में यूनियन को पत्र सौंपा है।

दस माह का वेतन पर्ची देने हुआ तैयार
बीएसपी ने ठेकेदार ने लिखित में दिया कि वह पिछले 10 माह में जितना राशि कम दिया था, उस डिफरेंस एमाउंट की अदायगी २७ अप्रैल के पहले हर श्रमिक को कर देगा।

विजलेंस की कार्रवाई अभी है बाकी
सीटू ने इस मामले एक माह पहले वाटर मैनेजमेंट डिपार्टमेंट, विजलेंस, पुलिस और उच्च प्रबंधन सभी से किया था। मजदूरों ने धरना प्रदर्शन भी किया था। इस मामले में नेवई के थाना प्रभारी गौरव तिवारी ने बेहतर पहल किया। जिसके लिए मजदूरों ने उनको मिठाई खिलाकर मुंह मीठा किया। अब बारी विजलेंस की है, जिसके पास पूरे दस्तावेज हैं, दो-दो प्रकरण के जिसमें उनको कार्रवाई करना है।

 

30 से 35 हजार रुपए मिलेगा एक-एक मजदूर को
वाटर मैनेजमेंट विभाग में काम करने वाले 14 ठेका श्रमिकों का हर माह करीब १२ हजार वेतन मिलना था, जिसके स्थान पर ९ हजार रुपए के आसपास दिया जा रहा था। इस तरह अब हर मजदूर को कम से कम ३० से ३५ हजार रुपए का भुगतान ठेकेदार को करना है।

ऑपरेटिंग अथॉरिटी करते हैं गोलमाल
बीएसपी में मजदूरों के वेतन का एक बड़ा हिस्सा ऑपरेटिंग अथॉरिटी और ठेकेदार मिलकर गोलमाल कर देते हैं। मजदूरों की आवाज को बंद करने में यह दोनों ही पूरी ताकत लगा देते हैं। इस वजह से मामले में शिकायत विजलेंस तक जा रही है। वहां भी उनको अब तक जैसे उम्मीद कर रहे थे, वैसे एक्शन देखने को नहीं मिल रहा है। जिससे उनके मन में शंका होना लाजिमी है।

मजदूरों ने दिया थाना प्रभारी को धन्यवाद
उचित समाधान होने के बाद सीटू के पदाधिकारी व मजदूरों ने थाना पहुंचकर नवाई थाना के प्रभारी गौरव तिवारी का आभार जताया। बैठक में सीटू से ठेका प्रकोष्ठ के अध्यक्ष जमील अहमद, महासचिव योगेश सोनी, कमलेश चोपड़ा, अशोक खातरकर, अजय सोनी, ठेकेदार सुधांशु मौजूद थे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned