scriptCBSE class 10th result released, Mahi of Bhilai topped | भिलाई की माही को 500 में से मिले 499 अंक, 99.8% के साथ बनीं स्टेट टॉपर, कहती है खुद को एक्सक्यूज देना बंद कीजिए | Patrika News

भिलाई की माही को 500 में से मिले 499 अंक, 99.8% के साथ बनीं स्टेट टॉपर, कहती है खुद को एक्सक्यूज देना बंद कीजिए

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने दसवीं का परिणाम घोषित कर दिया है। इस परीक्षा की टॉप लिस्ट में लड़कियों ने कब्जा जमाया है। भिलाई की माही अग्रवाल को 99.8 फीसदी अंक मिले हैं।

भिलाई

Updated: August 04, 2021 01:11:13 pm

भिलाई. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने दसवीं का परिणाम घोषित कर दिया है। इस परीक्षा की टॉप लिस्ट में लड़कियों ने कब्जा जमाया है। भिलाई की माही अग्रवाल को 99.8 फीसदी अंक मिले हैं। 500 अंकों की इस परीक्षा में माही को 499 अंक मिले। अंग्रेज में सिर्फ एक अंक कटा। शेष चार विषयों में सौ में से सौ अंक हासिल किए। इस तरह माही प्रदेश टॉपर बनी हैं। आरएस पांडेय, सीबीएसई समन्वयक ने बताया कि इस साल दसवीं में 90 फीसदी से अधिक हासिल करने वालों की संख्या 400 बढ़ गई है। सभी 8 हजार विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। टॉप-5 में लड़कियों ने कब्जा जमाया है। करीब 500 विद्यार्थी 95 फीसदी से अधिक अंक लाए हैं।
भिलाई की माही को 500 में से मिले 499 अंक, 99.8% के साथ बनीं स्टेट टॉपर, कहती है खुद को एक्सक्यूज देना बंद कीजिए
भिलाई की माही को 500 में से मिले 499 अंक, 99.8% के साथ बनीं स्टेट टॉपर, कहती है खुद को एक्सक्यूज देना बंद कीजिए
खुद को कभी मत दीजिए एक्सक्यूज
डीपीएस भिलाई की छात्रा माही हॉस्टल में रहकर पढ़ाई करती रही। इस होनहार ने कहा कि यदि सफल होना है तो पहले खुद को एक्सक्यूज देना बंद कर दीजिए। कोई भी गोल तय करने से पहले आपको खुद में इतना मजबूत होना पड़ेगा कि कोई भी चुनौती आसान लगे। अनुशासन में रहकर पढऩा होगा। हर उस चीज को छोड़ दीजिए जो आपको पढ़ाई से दूर करती है। पढऩे का पैटर्न ऐसा बनाएं जो रेगुलर हो। एक दिन की पढ़ाई भी छोड़ी तो आप भटक जाएंगे। पैरेंट्स ने सिखाया है कि अभी कुछ साल जमकर स्ट्रगल कर लो फिर कुछ बनने के बाद वह सबकुछ करना जिसे अभी पढ़ाई के लिए त्याग किया है। माही ने बताया कि आगे वह आईएएस बनना चाहती।
12 फीसदी बढ़ गए टॉपर्स
दुर्ग जिले की 62 स्कूलों के 8167 सभी विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। कोरोना को देखते हुए बोर्ड ने कक्षा दसवीं में कंपार्टमेंट यानी पूरक देने से परहेज करते हुए सभी को उत्तीर्ण किया है। दुर्ग जिले के लिए यह पहली मर्तबा है जब इस साल 1236 विद्यार्थियों ने दसवीं में 90 फीसदी से अधिक अंक हासिल किए हैं। बीते साल से आंकड़ा 12 फीसदी बढ़ गया है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए बोर्ड इस बार मेरिट सूची का प्रकाशन नहीं करेगा। हालांकि जो छात्र इस रिजल्ट से संतुष्ट नहीं होंगे, उन्हें स्थिति सामान्य होने के बाद परीक्षा देने का मौका मिलेगा।
छत्तीसगढ़ ने बढ़ाया रीजन का रिजल्ट
स्कूल शिक्षा के जानकारों ने बताया कि इस साल छत्तीसगढ़ ने भुवनेश्वर रीजन को रिजल्ट में भोपाल और चंड़ीगढ़ रीजन से आगे बढ़ा दिया। छत्तीसगढ़ भुवनेश्वर रीजन में शामिल है, जिसका रिजल्ट 99.62 फीसदी रहा है। वहीं भोपाल 99.47 और चंडीगढ़ 99.46 प्रतिशत रिजल्ट पर रहा। बीते कुछ साल से भुवनेश्वर रीजन छत्तीसगढ़ के विद्यार्थियों के साथ बेहतरीन प्रदर्शन करता आ रहा है।
आंकड़ों में जानिए सबकुछ...
62 - दुर्ग जिले में सीबीएसई स्कूल
8126 - विद्यार्थी हुए दसवीं में शामिल
4926 - लड़के हुए शामिल
3400 - लड़कियों ने दी परीक्षा
1236 - विद्यार्थियों ने पाए 90 फीसदी से अधिक
400 - छात्र बढ़ गए 90 फीसदी वाले
521 - विद्यार्थियों को मिले 95 फीसदी से अधिक
यह हैं ट्विनसिटी के टॉप होनहार
माही अग्रवाल - 99.8
वैष्ण्वी सिन्हा - 99.4
कृति गुप्ता - 99.0
हेमांगिनी सत्यार्थी - 97.2
गरिमा हिरवानी - 97
तृशा सिंह - 95.7
हर्षिता देवांगन - 95

बच्चों ने घर बैठकर दिया प्री-बोर्ड
बोर्ड ने जिस तरह कक्षा 12वीं का रिजल्ट निकालने 10वीं और 11वीं को आधार माना था, वैसा दसवीं में नहीं किया गया। यह रिजल्ट स्कूल टेस्ट, हाफ ईयरली और प्री-बोर्ड परीक्षा में छात्रों को मिले अंंकों के आधार पर निकाला गया। यह सभी परीक्षाएं भी विद्यार्थियों ने घर बैठकर ऑनलाइन मोड में दी। बोर्ड ने इन सभी परीक्षाओं में से विद्यार्थी को मिले सर्वाधिक अंक को लिया।
अब कैसे चुनेंगे 11वीं में विषय
सीबीएसई स्कूलों में 10वीं के बाद अगली कक्षा में विषय का चयन मेरिट के आधार पर किया जाता रहा है। इस बार भी ऐसे ही होगा, लेकिन 90 और 95 फीसदी से अधिक अंक हासिल करने वालों की संख्या बढ़ जाने की वजह से स्कूलों को कुछ परेशानियां हो सकती है। बोर्ड ने विषय चयन के लिए विद्यार्थी का टेस्ट लेने पर भी रोक लगाई हुए है। ऐसे में स्कूल शिक्षकों द्वारा बच्चे की परफॉर्मेंस को आधार मानकर विषय चयन की प्रक्रिया को पूरा कराया जा सकता है।
बोर्ड ने इस तरह दिए अंक
इस वैकल्पिक मूल्यांकन योजना के अनुसार 20 अंक आंतरिक मूल्यांकन पर आधारित थे जो स्कूलों द्वारा आयोजित ूहुए। 10 नंबर आवधिक यूनिट टेस्ट के लिए आवंटित किए गए। 30 नंबर अर्ध-वार्षिक परीक्षा के लिए आवंटित किए। और 40 नंबर प्री-बोर्ड को आवंटित किए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

शिवराज सरकार के मंत्री ने राष्ट्रपिता को बताया फर्जी पिता, तीन पूर्व पीएम पर भी साधा निशानाकर्नाटकः पूर्व सीएम बीएस येदियुरप्पा की पोती का फांसी पर लटका मिला शव, जांच में जुटी पुलिसNeoCov: ओमिक्रॉन के बाद सामने आया कोरोना का नया वैरिएंट 'नियोकोव' और भी खतरनाकDCGI ने भारत बायोटेक को इंट्रानैसल बूस्टर डोज के ट्रायल की दी मंजूरी, 9 जगहों पर होंगे परीक्षणAkhilesh Yadav और शिवपाल यादव को हराने के लिए मायावती के प्लान B का खुलासाUP Election 2022: सत्ता पक्ष और विपक्ष का पश्चिमी यूपी साधने पर पूरा जोर, नेता घर-घर जाकर मांग रहे हैं वोटUP Assembly Elections 2022 : आजम खान के बेटे अब्दुल्ला को हत्या का डर, बोले- सुरक्षाकर्मी ही मुझे मार सकते हैं गोलीPariksha Pe Charcha 2022 : रजिस्ट्रेशन की तारीख 3 फरवरी तक बढ़ाई, जानिए कैसे करें अप्लाई
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.