दिल्ली की तरह निजी लैब में कोविड-19 की RT PCR जांच शुल्क घटाएगी छत्तीसगढ़ सरकार, स्वास्थ्य मंत्री ने दिए संकेत

COVID test in Chhattisgarh: स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने संकेत दिए हैं कि निजी लैब और अस्पतालों में आरटीपीसीआर जांच दिल्ली से भी कम शुल्क में छत्तीसगढ़ में हो, यह प्रयास किया जा रहा है।

By: Dakshi Sahu

Published: 02 Dec 2020, 12:44 PM IST

भिलाई. दिल्ली में कोरोना आरटीपीसीआर जांच के शुल्क को 24 सौ से सीधे 8 सौ रुपए करने के बाद छत्तीसगढ़ सरकार ने भी इस दिशा में मंथन शुरू कर दिया है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने संकेत दिए हैं कि निजी लैब और अस्पतालों में आरटीपीसीआर जांच दिल्ली से भी कम शुल्क में छत्तीसगढ़ में हो, यह प्रयास किया जा रहा है। अगर यह फैसला लिया जाता है तो सरकारी के अलावा निजी अस्पतालों में जांच करवाने वालों की संख्या में इजाफा होगा। वहीं कम से कम दर पर लोग निजी लैब में भी जाकर जांच करवा सकेंगे। छत्तीसगढ़ के निजी लैब में कोविड-19 की आरटीपीसीआर जांच का शुल्क फिलहाल 1600 रुपए है। यह दिल्ली की दर से दो गुना है। दिल्ली में सरकार के फैसले के बाद अब कोविड जांच 800 रुपए में किया जा रहा है।

निजी लैब में करवा रहे 100 से अधिक लोग जांच
दुर्ग जिले में इस वक्त सरकारी फीवर क्लीनिक को छोड़ दें तो निजी लैब में कम से कम 100 लोग रोजाना कोरोना जांच करवाने पहुंच रहे हैं। अगर शासन से तय शुल्क कुछ कम कर दिया जाता तो जांच कराने के लिए आने वालों की संख्या और बढ़ सकती है। वहीं जो लोग सरकारी की बजाय निजी लैब में जाना चाहते हैं उन्हें भी शुल्क कम होने से राहत मिलेगी। फिलहाल प्रदेश सहित देश के सभी सरकारी लैब और अस्पतालों में कोरोना जांच मुफ्त किया जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने बताया कि दिल्ली में आरटीपीसीआर जांच शुल्क को 800 रुपए कर दिया गया है, अच्छी पहल है। छत्तीसगढ़ में भी आरटीपीसीआर जांच के शुल्क को कम करने को लेकर विचार किया जा रहा है।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned