Chhattisgarh Election : मतों की गिनती के बाद आपत्ति के लिए मिलेगा मात्र 5 मिनट

Chhattisgarh Election : मतों की गिनती के बाद आपत्ति के लिए मिलेगा मात्र 5 मिनट

Satyanarayan Shukla | Publish: Dec, 08 2018 11:34:39 PM (IST) Bhilai, Durg, Chhattisgarh, India

इस बार सभी टेबलों पर हर चक्र में गणना एक साथ की जाएगी। गणना के बाद एजेंटों को गणना पत्रक (17-सी-2) दी जाएगी। इस पत्रक पर गड़बड़ी अथवा अन्य कारणों से एजेंट आपत्ति भी कर सकेंगे। इसके लिए एजेंटों को अधिकतम 5 मिनट का समय मिलेगा।

दुर्ग@Patrika. विधानसभा चुनाव में इवीएम में डाले गए मतों की गणना विधानसभावार 14-14 टेबलों पर की जाएगी। खास बात यह होगी कि इस बार सभी टेबलों पर हर चक्र में गणना एक साथ की जाएगी। हर चक्र की गणना के बाद एजेंटों को गणना पत्रक (17-सी-2) दी जाएगी। इस पत्रक पर गड़बड़ी अथवा अन्य कारणों से एजेंट आपत्ति भी कर सकेंगे। इसके लिए एजेंटों को अधिकतम 5 मिनट का समय मिलेगा।

जिन टेबलों पर गणना पहले हो जाएगी उन्हें दूसरे चक्र की घोषणा तक इंतजार करना पड़ेगा

@Patrika.राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जिला निर्वाचन कार्यालय को इस संबंध में निर्देश जारी किया गया है। जिला प्रशासन द्वारा इसके मुताबिक तैयारियां की जा रही है। जिला निर्वाचन कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक इससे पहले तक मतगणना के दौरान विधानसभावार चक्रों की स्थिति तय कर ली जाती थी, लेकिन इस बार ऐसा नहीं किया जा सकेगा। सभी विधानसभा के लिए टेबलों पर इवीएम में डाले गए मतों की गणना हर चक्र में एक साथ शुरू की जाएगी। जिन टेबलों पर गणना पहले हो जाएगी उन्हें दूसरे चक्र की घोषणा तक इंतजार करना पड़ेगा। जिले के 6 विधानसभा के मतों की गणना 11 दिसंबर को जुनवानी के शंकराचार्य इंजीनियरिंग कॉलेज में की जाएगी।

साढ़े 8 बजे खुलेगा पहला इवीएम
@Patrika.निर्वाचन आयोग के निर्देश के मुताबिक मतगणना सुबह 8 बजे शुरू होगी, लेकिन सबसे पहले डाक मत पत्रों की गणना शुरू की जाएगी। इसके लिए शुरू के आधे घंटे का समय तय किया गया है। आधे घंटे बाद यानी साढ़े 8 बजे गणना के लिए पहला इवीएम टेबलों पर लाया जाएगा। इवीएम और डाक मत पत्रों की गणना अलग-अलग टेबल पर की जाएगी।

नहीं करना पड़ेगा जोड़-घटाना
@Patrika.इवीएम पर मतगणना के दौरान इस बार राजनीतिक दलों के एजेंटों को जोड़-घटाना नहीं करना पड़ेगा। दरअसल इस बार एजेंटों को मतगणना के तत्काल बाद गणन सुपरवाइजर हस्ताक्षरयुक्त गणना पत्रक देगा। इसमें सभी प्रत्याशियों को मिले मत लिखे होंगे। इससे पहले तक एजेंटों को मतों की संख्या खुद लिखकर जोड़ घटाना करना पड़ता था।

दो वीवी पैट के गिने जाएंगे मत
@Patrika.निर्वाचन आयोग के निर्देश के मुताबिक मतदान की पारदर्शिता को प्रमाणित करने हर विधानसभा में एक इवीएम के साथ वहां के वीवी पैट की पर्चियों की भी गिनती की जाएगी। इसके अलावा जिले के दो मतदान केंद्रों के इवीएम की जगह केवल वीवी पैट की पर्चियां गिनी जाएगी। मॉकपोल डिलिट नहीं किए जाने के कारण यहां केवल पर्चियों की ही गिनती होगी। @Patrika

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned