Chhattisgarh Budget: नई भर्ती का खुल सकता है रास्ता, पुरानी योजनाओं का होगा विस्तार, पहली बार आएगा चाइल्ड बजट

प्रदेश की कांग्रेस सरकार का तीसरा बजट मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सोमवार को दोपहर 12.30 बजे विधानसभा में पेश करेंगे। (Chhattisgarh Budget 2021)

By: Dakshi Sahu

Updated: 01 Mar 2021, 11:04 AM IST

भिलाई. प्रदेश की कांग्रेस सरकार का तीसरा बजट मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सोमवार को दोपहर 12.30 बजे विधानसभा में पेश करेंगे। इसे पहले रविवार को बजट को अंतिम रूप दिया गया है। इस बार के बजट में कोरोना संक्रमण का साइड इफैक्ट दिखने की पूरी संभावना है। जिस प्रकार विभाग से बजट का प्रस्ताव मंगाया गया था, उससे लग रहा है कि इस बार बजट का आकार पिछले साल की तुलना में कुछ कम हो सकता है। यदि ऐसा होगा, तो राज्य निर्माण के इतिहास में यह पहली बार होगा। सूत्रों की माने तो मुख्य बजट में 3 फीसदी तक की कमी हो सकती है, जबकि हर साल बजट का आकार करीब 6 फीसदी के आसपास बढ़ता रहा है। इन सब के बीच आगामी वित्तीय वर्ष में स्वास्थ्य और ग्रामीण विकास पर मुख्य फोकस रहने की उम्मीद है। इसके अलावा आईटी के साथ गवर्नेंस को लेकर भी बजट में प्रावधान किए जा सकते हैं। विकास को लेकर सड़क, बिजली और पानी पर फोकस हो सकता है। उम्मीद है कि लाइट मेट्रो परियोजना के डीपीआर तैयार करने के लिए बजट में राशि का प्रावधान किया जा सकता है। ग्रामीण क्षेत्रों की सड़कों को मुख्यालय से जोडऩे के बाद बस दौडऩे के लिए भी जरूरी प्रावधान के उम्मीद है।

युवाओं को उम्मीद
कोरोना संक्रमण की वजह से शासकीय नौकरी के कम हुए अवसर को बढ़ावा मिले। बेरोजगारों को भत्ता देने का जो वादा था वो पूरा हो सके। कर्मचारियों को महंगाई भत्ते और सातवें वेतनमान का एरियर्स नहीं मिला है। उन्हें उम्मीद है कि बजट में इसके लिए राशि का प्रावधान होगा। महिला स्व-सहायता समूहों का ऋण माफ होगा। कुपोषण और एनीमिया के लिए राशि बढ़ेगी और महिला क्लीनिक की संख्या में विस्तार होगा। बिजली के बिल में थोड़ी राहत मिले। सभी स्कूलों में कंप्यूटर और अंग्रेजी माध्यम स्कूलों की संख्या बढ़े।

पहली बार आएगा चाइल्ड बजट
पहली बार छत्तीसगढ़ के बजट में चाइल्ड बजट की व्याख्या अलग से होगी। इसके लिए वित्त विभाग ने शिक्षा, स्वास्थ्य और अन्य विभागों से बच्चों के लिए संचालित योजना की अलग से जानकारी मांगी है। अब तक युवा, जेंडर, कृषि और परिणामी बजट की व्याख्या अलग से होती नहीं रही है।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned