दुर्ग के तीन स्कूलों ने बढ़ाया स्वच्छता की ओर एक कदम और बन गए प्रदेश के सबसे स्वच्छ स्कूल

स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार की ग्रीन श्रेणी में अंतिम तौर पर 40 स्कूलों के नाम आए हैं। इनमें दुर्ग जिले के तीन शासकीय स्कूलों ने स्थान बनाया है।

By: Dakshi Sahu

Published: 23 May 2018, 03:43 PM IST

भिलाई. स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार की ग्रीन श्रेणी में अंतिम तौर पर 40 स्कूलों के नाम आए हैं। इनमें दुर्ग जिले के तीन शासकीय स्कूलों ने स्थान बनाया है। स्कूल शिक्षा विभाग शासकीय हायर सेकेंडरी स्कूल कुकुर मुडी कुम्हारी और अंजोरा स्कूल को पुरस्कृत करेगा। स्कूलों में जल की स्वच्छता, शौचालय की साफ-सफाई, संचालन, रखरखाव व अन्य खूबियों का मूल्यांकन किया गया है।

राज्य स्तर पर चयनित विद्यालयों की सूची में
सरकारी मिडिल स्कूल मांझीगुड़ा बस्तर, सरकारी मिडिल स्कूल पुराना डाबा बेमेतरा, सरकारी मिडिल स्कूल पोटिया (हिरी) दुर्ग, सरकारी प्राइमरी पीवी. 131 कांकेर, केजीवीबी लाखागढ़ ( पिथौरा) महासमुंद, केजीबीवी अंबिकापुर, एसटी आश्रम कन्या प्राइमरी स्कूल कुंडा, नवीन प्राइमरी स्कूल पीथमपुर विचारपुर मुंगेली, प्राइमरी स्कूल सरैहा पाली बिलासपुर , प्राइमरी स्कूल कोंडकेरा कोंडागांव, सरकारी प्राइमरी स्कूल रामखोंद्रा रायगढ़, केजीबीवी कोरबा , मिडिल स्कूल गोरता सरगुजा, सरकारी मिडिल स्कूल करमारी बस्तर शामिल है।

इसके अलावा सरकारी हाईस्कूल खलारी बालोद, सरकारी हायर सेकंडरी मोरगा कोरबा, सरकारी हायर सेकेंडरी स्कूल कोर्रा धमतरी, दिल्ली पब्लिक सकूल भनबेड़ी राजनांदगांव, सरकारी हायर सेकंडरी स्कूल छोटेबैठिया कांकेर, सरकारी हायर सेकेंडरी स्कूल केंद्री रायपुर , सरकारी प्राइमरी स्कूल बड़े मोर्तापाल, तोकापाल (केजीबीवी) बस्तर, सरकारी प्राइमरी स्कूल कोटरा रायगढ़, सेंट मोंट फोर्ट हायर सेकंडरी स्कूल बेन्यान सरगुजा, जैन पब्लिक स्कूल घोरही कोरबा, सरकारी नवीन सेकंडरी स्कूल कुड़मुरी दुर्ग, सरकारी हाईस्कूल सुंदरकेरा रायपुर।

सरकारी मिडिल व हायर सेकंडरी स्कूल छिछिरदा बिलासपुर, मोनेट देव पब्किल स्कूल नहरपाली रायगढ़, सरकारी मिडिल स्कूल फुंडूलदिहारी सरगुजा, सरकारी टीडब्ल्यूडी केजीबीवी कोंडागांव, केजीबीवी बेमेतरा, पंचम दीवान सरकारी कन्या स्कूल भाटापारा बलौदाबाजार, केजीबीवी रामानुजगंज बलरामपुर, सरकारी हायर सेकंडरी स्कूल अंबिकापुर, सरकारी हायर सेकंडरी स्कूल कुम्हारी दुर्ग, सरस्वती हायर सेकंडरी स्कूल कोरबा, साधुराम विद्या मंदिर सूरजपुर, सरकारी कन्या हायर सेकंडरी स्कूल सरिया रायगढ़ और सरकारी मिडिल स्कूल अपग्रेड हाईस्कूल अंजोरा दुर्ग शामिल हैं।

ऐसे हुई स्कोरिंग मूल्यांकन श्रेणियां अधिकतम स्कोर
जल की उपलब्धता 22 अंक, शौचालय की सफाई के लिए 28 अंक, साबुन से हाथ धुलाई 20 अंक, संचालन एवं रखरखाव 15 अंक, व्यवहार परिवर्तन क्षमता निर्माण 15 अंक मिलाकर कुल १०० अंक निर्धारित किए गए थे। कुल ३९ बिंदुओं पर स्कूलों में स्वच्छता का पैमाना तय किया गया।

कुल अंक 100 रखे गए थे
लोक शिक्षण संचालनालय के संचालक एस प्रकाश ने बताया कि अंतिम रूप से स्वच्छ विद्यालयों की श्रेणी में 40 स्कूल अव्वल हैं। इन्हें पुरस्कृत किया जाएगा। स्कूलों के लिए कुल १०० अंक रखे गए थे। अलग-अलग पैमानों को ध्यान में रखकर अंक निर्धारित किए गए थे। उसी के आधार पर रैकिंग जारी की गई है।

Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned