पेंशन स्कीम जल्द लागू होने का रास्ता साफ

ओए व सेफी के संघर्ष से मंत्रालय ने पेंशन स्कीम के जारी किए दिशा निर्देश

By: Bhuwan Sahu

Updated: 20 Jul 2018, 05:56 PM IST

भिलाई . इस्पात मंत्रालय के संयुक्त सचिव टी श्रीनिवासन के हस्ताक्षर से जारी परिपत्र में इस्पात मंत्रालय के अधीन सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों में पेंशन स्कीम को क्रियान्वित करने के लिए गाइड लाइन जारी की गई।
इन कंपनियों में सेल व आरआइएनएल, केआइओसीएल, एमएसटीसी मेकॉन व एफएसएनएल शामिल हैं। सेफी के पदाधिकारियों ने कहा कि इस्पात सचिव डॉक्टर अरूणा शर्मा का इसमें विशेष सहयोग रहा। पेंशन स्कीम में उनके योगदान के प्रति सेफी व बीएसपी ओए ने इस्पात सचिव का विशेष रूप से आभार व्यक्त किया है।
ओए व सेफी के संघर्ष से मंत्रालय ने पेंशन स्कीम के दिशा निर्देश जारी किए हैं। इसी संघर्ष को अंतिम परिणाम तक पहुंचाने के लिए सेफी महासचिव व अध्यक्ष, ओए-बीएसपी एनके बंछोर, ओए महासचिव शाहिद अहमद, सेफी नामिनी अजय कुमार, राउरकेला के अधिकारी एसोसिएशन के अध्यक्ष बिमल बिसी दिल्ली प्रवास पर थे। गुरुवार को इस्पात मंत्रालय ने पेंशन स्कीम लागू करने का रास्ता साफ कर दिया।
२ माह में बनेगा रोडमैप

सेफी ने मांग की है कि पेंशन स्कीम को लागू करने का रोड मैप दो माह के भीतर तैयार कर इसकी स्वीकृति के लिए इस्पात मंत्रालय को भेजें। इस दिशा निर्देश के मुताबिक अधिकारी वर्ग के लिए यह योजना 1 जनवरी 2007 से तथा कर्मियों के लिए १ जनवरी 2012 से लागू होना है।

सरकार नहीं देगी बजट

इसके अलावा प्रत्येक सार्वजनिक क्षेत्र की इकाई को यह स्वतंत्रता प्रदान की गई है कि वे अपने स्तर पर फंड मैनेजर की नियुक्त कर सकेगा। इस पेंशन फंड को ऑपरेट करने के लिए सरकार से किसी भी प्रकार का बजटरी सहयोग नहीं किया जाएगा। इसके लिए कंपनियों को खुद के लाभ से प्रबंध करना होगा।

इस्पात मंत्री ने बुलाई थी बैठक

बीएसपी ओए व सेफी ने प्रयास किया, जिसके बाद पेंशन को अंतिम रूप देने के लिए 17 जुलाई को इस्पात मंत्रालय ने पेंशन स्कीम लागू करने के लिए सभी संबंधित पक्षों की एक अहम् बैठक केंद्रीय इस्पात मंत्री ने बुलाई थी। जिसके बाद इसकी प्रक्रिया आगे बढ़ी है।

 

Bhuwan Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned