लॉकडाउन खत्म होते ही इस पैटर्न पर होगा कॉलेज एग्जाम, उच्च शिक्षा विभाग ने कुलपतियों को दी स्वतंत्रता, तय करेंगे शेड्यूल

हेमचंद यादव विश्वविद्यालय के छात्रों की स्थगित परीक्षा का निर्णय अब उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारी नहीं, बल्कि विश्वविद्यालयों के कुलपति लेंगे।

By: Dakshi Sahu

Published: 18 Apr 2021, 05:16 PM IST

भिलाई. हेमचंद यादव विश्वविद्यालय के छात्रों की स्थगित परीक्षा का निर्णय अब उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारी नहीं, बल्कि विश्वविद्यालयों के कुलपति लेंगे। हेमचंद यादव विवि भी मई तक परीक्षा की स्थिति साफ कर देगा। उच्च शिक्षा विभाग (CG higher education Department) के सचिव ने परीक्षा के संबंध में निर्णय लेने का निर्देश विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को दे दिया है। लॉकडाउन खत्म होने के बाद विश्वविद्यालयों के जिमेदार अपने-अपने स्तर पर परीक्षा का आयोजन करवा सकेंगे। परीक्षा के दौरान कोविड गाइड लाइन का पालन हो, केवल इसका ध्यान विश्वविद्यालय प्रबंधन को रखना होगा।

इस पैटर्न पर होगी परीक्षा
उच्च शिक्षा विभाग ने कहा है कि प्रथम व द्वितीय सत्र के छात्रों की परीक्षा ऑनलाइन व तृतीय सत्र के छात्रों की परीक्षा ऑफलाइन कराई जा सकेगी। जिस परिसर में परीक्षा के दौरान कोविड गाइड लाइन के नियम टूटेंगे, वहां उच्च शिक्षा विभाग कार्रवाई करेगा। हेमचंद विवि (Durg university) भी परीक्षा के लिए पूरे इंतजाम कर चुका है। बता दें कि हेमचंद विवि ने सेमेस्टर्स की परीक्षाएं जो कि 6 अप्रेल से शुरू होने वाली थी, उन्हें स्थगित कर दिया था। राज्य सरकार के निर्देश पर यह एक्शन हुआ था।

विवि परिषद देंगे सुझाव
उच्च शिक्षा विभाग ने कहा है कि विवि अपनी परिषदों के सदस्यों से मशवरा करने के बाद जो भी तिथि तय करेंगे, उसे विभाग को बताना होगा। कोरोना संक्रमण ग्राफ बढऩे की स्थिति में शासन का निर्णय अंतिम व सर्वमान्य होगा। धनंजय देवांगन, सचिव उच्च शिक्षा विभाग ने बताया कि प्रथम व द्वितीय सत्र के छात्रों की परीक्षा ऑनलाइन व तृतीय सत्र के छात्रों की परीक्षा ऑफलाइन होगी। कोरोना संक्रमण को देखते हुए विश्वविद्यालय के कुलपति अपने स्तर पर परीक्षा का आयोजन करा सकते हंै।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned