scriptCongress councilor on exile as soon as he won the election in Bhilai | भिलाई में चुनाव जीतते ही कांग्रेस पार्षद अज्ञातवास पर, 4 निर्दलीय भी कांग्रेस में शामिल, महापौर के लिए इन चेहरों की चर्चा सबसे ज्यादा | Patrika News

भिलाई में चुनाव जीतते ही कांग्रेस पार्षद अज्ञातवास पर, 4 निर्दलीय भी कांग्रेस में शामिल, महापौर के लिए इन चेहरों की चर्चा सबसे ज्यादा

Chhattisgarh Municipal Election 2021: कांग्रेस में महापौर और सभापति व भाजपा में नेता प्रतिपक्ष को लेकर खींचतान होगी। 70 पार्षद वाले भिलाई नगर निगम में वैसे तो कांग्रेस के पास 37 की संख्या का स्पष्ट बहुमत है

भिलाई

Updated: December 25, 2021 08:06:32 am

भिलाई. पार्षद निर्वाचित हो जाने के बाद अब कांग्रेस में महापौर और सभापति व भाजपा में नेता प्रतिपक्ष को लेकर खींचतान होगी। 70 पार्षद वाले भिलाई नगर निगम में वैसे तो कांग्रेस के पास 37 की संख्या का स्पष्ट बहुमत है, लेकिन असली गुटीय राजनीति अब होगी। वरिष्ठ और अनुभवी पार्षद निर्वाचित होने के कारण कांग्रेस में महापौर और सभापति दोनों के लिए दावेदारों की कतार लंबी है। वहीं पहली बार चुनकर आए नए पार्षदों की राजनीतिक महत्वाकांक्षा तो टिकट हासिल करते ही हिलारें लेने लगी थी।
भिलाई में चुनाव जीतते ही कांग्रेस पार्षद अज्ञातवास पर, 4 निर्दलीय भी कांग्रेस में शामिल, महापौर के लिए इन चेहरों की चर्चा सबसे ज्यादा
भिलाई में चुनाव जीतते ही कांग्रेस पार्षद अज्ञातवास पर, 4 निर्दलीय भी कांग्रेस में शामिल, महापौर के लिए इन चेहरों की चर्चा सबसे ज्यादा
निर्दलीयों ने थामा कांग्रेस का दामन
70 वार्डों में से 37 में कांग्रेस, 24 में भाजपा और 9 में निर्दलीय चुनकर आए हैं। इनमें से 4 निर्दलियों इंजीनियर सलमान, रानू साहू, रामांनद मौर्य और शंभूनाथ सिंह ऊर्फ जालंधर ने नतीजे आते ही कांग्रेस का दामन थाम लिया। इस तरह अब कांग्रेस के पार्षदों की संख्या 41 पहुंच गई है। ऐसी स्थिति में कांग्रेस को अब महापौर और सभापति चुनने में कोई अड़चन नहीं है। भाजपा को 36 का आंकड़ा जुटाने के लिए न केवल बचे 5 निर्दलियों को साधना होगा, बल्कि 7 अन्य पार्षदों का भी समर्थन जुटाना पड़ेगा।
चुनाव जीतते ही कांग्रेस पार्षद अज्ञातवास पर
गुुरुवार-शुक्रवार की रात चुनाव नतीजे जारी होते ही कांग्रेस अपने सभी पार्षदों को अज्ञातवास पर ले गए हैं। रात करीब 2 बजे कांग्रेस के कई निर्वाचित पार्षद मतगणना स्थल कल्याण कॉलेज ग्राउंड में ट्रैवल बैग के साथ नजर भी आए। बताया गया कि पार्टी संगठन का यह पहले से ही फरमान था। सीधे चुनाव के दिन वे यहां आएंगे। पार्टी की ओर से सभापति और महापौर प्रत्याशी का नाम बताया जाएगा, उसी में उनको मुहर लगाना होगा।
वरिष्ठ बनेगा सभापति, युवा होंगे महापौर
फिलहाल जिस तरह की चर्चा राजनीतिक गलियारों में हो रही है उसके मुताबिक महापौर युवा और नया चेहरा हो सकता है। पार्टी के वरिष्ठ पार्षदों में से कोई सभापति बनेगा ताकि उन्हें सदन में उचित संरक्षण मिल सके। फिलहाल महापौर और सभापति के दावेदारों में सबसे ज्यादा एकांश बंछोर, आदित्य सिंह, नीरज पाल, सीजू एंथोनी, लक्ष्मीपति राजू और सुभद्रा सिंह का नाम चल रहा है।
नेता प्रतिपक्ष चुनना भाजपा के लिए आसान नहीं
भारतीय जनता पार्टी 24 के आंकड़े में सिमट गई है। ऐसे में चुनकर आए दिग्गज और कुछ वरिष्ठ पार्षद अब विपक्ष का नेतृत्व करने के लिए उत्सुक होंगे। नेता प्रतिपक्ष की दौड़ में दया सिंह, श्याम सुंदर राव, रिकेश सेन और पियूष मिश्रा का नाम चर्चा में है। हालांकि इसको लेकर भाजपा में घमासान की संभावना है।
भिलाई नगर निगम पर एक नजर
50 नए चेहरे होंगे
20 पुराने फिर चुनकर आए हैं।
27 महिला पार्षद निर्वाचित हुई हैं।
(12 भाजपा, 13 कांग्रेस, 2 निर्दलीय हैं। )

जनता को परिवारवाद मंजूर मां-बेटा में अदला-बदली
वर्ष 2005 में हुए दूसरेे चुनाव में वार्ड 8 फरीद नगर से सुगंधी वर्मा पार्षद निर्वाचित हुईं। 2010 में बेटा महेश वर्मा चुने गए। 2015 में फिर सुंगधी पार्षद बनीं। अब 2021 में बेटा महेश निर्वाचित हुए हैं।
पिता फिर मां अब बेटा बन गया पाार्षद
वर्ष 2000, 2005 और 2010 तीन बार लगातार मो. गफ्फार वार्ड 25 रविदास नगर से पार्षद बने। 2015 में महिला आरक्षण होने पर उनकी पत्नी सदीरन बानो निर्वाचित हुईं। इस बार उसी वार्ड (अब 37) से बेटा अब्दुल मन्नान पार्षद बन गए हैं।
पत्नी के वार्ड से एक बार फिर भोजराज
कांट्रेक्टर कॉलोनी सुपेला से वर्ष 2010 में ममता भोजराज पार्षद बनीं। 2015 में पति भोजराज सिन्हा चुने गए। अब भोजराज फिर चुन लिए गए हैं।

ये चेहरे फिर निगम में पांचवी बार जीतने वाले दो पार्षद
बशिष्ठ नारायण मिश्रा (वर्ष 2000 से लगातार)
रिकेश सेन (वर्ष 2000 से लगातार)
चौथी बार पहुंचेंगे सदन में
नीरज पाल (2000, 2010, 2015 अब 2021)
सुभद्रा सिंह (2000, 2005, 2015 अब 2021)

तीसरी बार पार्षद चुने गए
सीजू एंथोनी (2005, 2010 अब 2021)
केशव चौबे (2000, 2005 अब 2021 )
राजेश चौधरी (2005, 2015 अब 2021 )
श्यामसुंदर राव (2010, 2015अब 2021)
लक्ष्मीपति राजू (2010, 2015 अब 2021)
पीयूष मिश्रा (2010, 2015 अब 2021)
रामानंद मौर्य (2010, 2015 अब 2021)

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतहो जाइये तैयार! आ रही हैं Tata की ये 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कारें, शानदार रेंज के साथ कीमत होगी 10 लाख से कमइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतShani: मिथुन, तुला और धनु वालों को कब मिलेगी शनि के दशा से मुक्ति, जानिए डेटइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडPost Office FD Scheme: डाकघर की इस स्कीम में केवल एक साल के लिए करें निवेश, मिलेगा अच्छा रिटर्न

बड़ी खबरें

कोरोना ने टीका कंपनियों को लगाई मुनाफे की बूस्टरPM Modi आज राष्ट्रीय बाल पुरस्कार विजेताओं के साथ करेंगे बातचीत, एक लाख रुपए के साथ मिलेगा डिजिटल सर्टिफिकेटUP चुनाव में अब तक 6705 KG ड्रग्स, 5 लाख लीटर शराब पकड़ी गईCovid-19 Update: देश में बीते 24 घंटों में आए कोरोना के 3.33 लाख नए मामले, 525 मरीजों की गई जानभारत में कम्युनिटी ट्रांसमिशन स्टेज पर पहुंचा ओमिक्रॉन वेरिएंट - केंद्रआनंद महिंद्रा की फर्स्ट च्वाइस, ट्विटर पर कॉलेज के दिनों की फोटो शेयर कर खोला राजबीजेपी मंत्री अनुराग ठाकुर ने अखिलेश यादव पर लगाएं आरोप, क्या ये आरोप सही हैं?UP TET Exam 2021 : एसटीएफ ने तोड़ी साल्वर गैंग की कमर, मेरठ में तीन साल्वर गिरफ्तार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.