scriptCongress councilors of Bhilai Corporation returned to Raipur | सैर-सपाटे के बाद रायपुर लौटे भिलाई निगम के कांग्रेस पार्षद, माननीयों ने कहा सामान्य वर्ग से हो मेयर, पार्टी बोली दबाव न बनाएं... | Patrika News

सैर-सपाटे के बाद रायपुर लौटे भिलाई निगम के कांग्रेस पार्षद, माननीयों ने कहा सामान्य वर्ग से हो मेयर, पार्टी बोली दबाव न बनाएं...

कुछ ने पार्टी के हर फैसले में साथ होने की बात कही। एक सीनियर पार्षद के मुखर होने से माहौल कुछ तल्ख होने की बात भी सामने आई है।

भिलाई

Published: January 05, 2022 08:23:28 am

भिलाई. नगर पालिक निगम भिलाई में कांग्रेस के नवनिर्वाचित पार्षद 12 दिन के सैर सपाटे के बाद मंगलवार को राजधानी रायपुर लौट गए हैं। सभी पार्षदों को अभी भी एक होटल में साथ रखा गया है। करीब एक घंटे चली बैठक में कांग्रेस के सभी 37 और 3 निर्दलीय सहित कुल 40 पार्षद मौजूद थे। देर शाम चुनाव प्रभारी व कैबिनेट मंत्री मो. अकबर, गिरीश देवांगन, विधायक देवेंद्र यादव और भिलाई शहर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मुकेश चंद्राकर ने पार्षदों की बैठक ली। महापौर के उम्मीदवार को लेकर हुई इस बैठक में जहां कुछ पार्षदों ने खुलकर अपनी राय रखते हुए वरिष्ठ और सामान्य वर्ग की वकालत की। वहीं कुछ ने पार्टी के हर फैसले में साथ होने की बात कही। एक सीनियर पार्षद के मुखर होने से माहौल कुछ तल्ख होने की बात भी सामने आई है।
सैर-सपाटे के बाद रायपुर लौटे भिलाई निगम के कांग्रेस पार्षद, माननीयों ने कहा सामान्य वर्ग से हो मेयर, पार्टी बोली दबाव न बनाएं...
सैर-सपाटे के बाद रायपुर लौटे भिलाई निगम के कांग्रेस पार्षद, माननीयों ने कहा सामान्य वर्ग से हो मेयर, पार्टी बोली दबाव न बनाएं...
खुलकर किया अपना दावा
एक वरिष्ठ पार्षद ने कहा कि महापौर का पद अनारक्षित सामान्य वर्ग के लिए हुआ है। इसलिए इसी वर्ग से ही महापौर का उम्मीदवार पार्टी को घोषित किया जाना चाहिए। उसमें भी वरिष्ठ को ही महत्व मिले। उन्होंने यहां तक कह दिया है कि पिछली बार भी अनारक्षित सीट से एक बच्चा को मौका दिया गया। ऐसे में वरिष्ठ और सामान्य वर्ग के पार्अी कार्यकर्ताओं को कब मौका मिलेगा।
आप पार्टी पर दबाव नहीं बना सकती
पार्षद के मुखरता से अपनी राय रखने पर प्रभारी गिरीश देवांगन नाराज हो गए। उन्होंने कहा कि महापौर का पद सामान्य वर्ग के लिए है। महिला हो ऐसा तो नहीं है? आप पार्टी पर दबाव बनाने की कोशिश कर रही हैं। इस पर वरिष्ठ पार्षद ने कहा कि आप लोग सुझाव ले रहे हैं, इसलिए मैं अपनी व्यक्तिगत राय रख रही हंू।
अकबर ने किया आश्वस्त, वरिष्ठ और सामान्य वर्ग ही होगी प्राथमिकता
बात बिगड़ती देख मो. अकबर ने स्थिति संभाली। आश्वस्त किया कि महापौर का उम्मीदवार सामान्य वर्ग से यह प्राथमिकता होगी। ऐसी स्थिति में सीजू एंथोनी, सुभद्रा सिंह, केशव चौबे, संदीप निरंकारी प्रमुख दावेदार माने जा रहे हैं। हालांकि राजनीतिक हलकों में नीरज पाल और एकांश बंछोर का नाम चर्चा में है। अब बुधवार को सभी पार्षदों से एक-एक कर उनकी राय ली जाएगी।
जनता की राय में ये हैं उनकी पसंद के उम्मीदवार
पत्रिका द्वारा किए गए सर्वे में लोगों ने खुलकर अपनी राय दी है जिसमें सीजू एंथोनी सबसे पसंदीदा नाम है। फिर नीरज पाल और एकांश को लोग महापौर के रूप में देखना चाहते हैं। सुभद्रा की अच्छी तेजतर्रार छवि और लक्ष्मीपति राजू की लोकप्रियता भी भारी है। पटरी पार से केशव चौबे और संदीप निरंकारी को लोगों ने महापौर के योग्य बताया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Azadi Ka Amrit Mahotsav में बोले पीएम मोदी- ये ज्ञान, शोध और इनोवेशन का वक्तपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलNEET UG PG Counselling 2021: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- नीट में OBC आरक्षण देने का फैसला सही, सामाजिक न्‍याय के लिए आरक्षण जरूरीटोंगा ज्वालामुखी विस्फोट का भारत पर भी पड़ सकता है प्रभाव! जानिए सबसे पहले कहां दिखा असरCorona cases in India: कोरोना ने तोड़ा 8 महीने का रिकॉर्ड; 24 घंटे में 3 लाख से ज्यादा कोरोना के नए केस, मौत का आंकड़ा 450 के पारराहुल गांधी से लेकर गहलोत तक कांग्रेस के नेता देश के विपरीत भाषा बोलते हैं : पूनियांश्रीलंकाई नौसेना जहाज की भारतीय मछुआरों के नौका से टक्कर, सात मछुआरे बाल बाल बचेटीआई-लेडी कॉन्स्टेबल की लव स्टोरी से विभाग में हड़कंप, दो बच्चों का पिता है टीआई
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.