scriptCongress had to wait 20 years to come to power in Bhilai-Charoda | भिलाई-चरोदा में सत्ता में आने कांग्रेस को करना पड़ा 20 साल इंतजार | Patrika News

भिलाई-चरोदा में सत्ता में आने कांग्रेस को करना पड़ा 20 साल इंतजार

झूम उठे कार्यकर्ता.

भिलाई

Published: December 23, 2021 11:39:10 pm

भिलाई. भिलाई-चरोदा नगर निगम की चालीस सीटों में से कांग्रेस के 20 प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की। इसके अलावा कुछ निर्दलीय भी जीत कर आए हैं जो कांग्रेस से बागी होकर चुनाव लड़ रहे थे। इस तरह से बहुमत कांग्रेस के साथ नजर आ रही है। वहीं भाजपा 14 सीटों पर सिमट गई। पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल बार-बार मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को उनके निवास से हराकर प्रदेश में एक संदेश देने की बात कर रहे थे, जिसमें वे कामयाब नहीं हो पाए। वहीं मुख्यमंत्री के बेटे चैतन्य बघेल इस चुनाव में घर-घर जाकर वोट मांगे, जिसकी वजह से जिस पदुमनगर वार्ड में आज तक कांग्रेस को जीत नहीं मिली थी, वहां से भी कांग्रेस बड़े अंतर से जीत दर्ज करने में कामयाब हुई।

भिलाई-चरोदा में सत्ता में आने कांग्रेस को करना पड़ा 20 साल इंतजार
भिलाई-चरोदा में सत्ता में आने कांग्रेस को करना पड़ा 20 साल इंतजार

पांचवी बार भी जीता चुनाव
कांग्रेस से वार्ड क्रमांक-3 अकलोरडीह की संतोषी विनोद निषाद ने पांचवी बार भी बड़ी जीत हासिल की। उनको 962 वोट मिला, जिसके आसपास भी कोई पहुंच नहीं पाया। इसी तरह से भारतीय जनता पार्टी के फिरोज फारूकी ने भी पांचवी बार लगातार जीत हांसिल की। वे भी अब तक चुनाव में हारे नहीं है।

भाजपा की पूर्व मेयर व मंडल अध्यक्ष को मिली करारी शिकस्त
भाजपा की पूर्व मेयर चंद्रकांता मांडले को भारती राम सूर्यवंशी ने 287 मतों से शिकस्त दी। भारतीय जनता पार्टी के मंडल अध्यक्ष दिलीप पटेल लगातार चार चुनाव जीत चुके थे, जिनको इस चुनाव में कांग्रेस के संतोष तिवारी ने मात दिया। वे निगम में नेता प्रतिपक्ष थे। यहां मुकाबला बेहद टक्कर भरा था। कांटे की टक्कर में सिर्फ 5 वोट से संतोष तिवारी जीत दर्ज किए।

पूर्व सभापति के वार्ड से कांग्रेस को मिली हार
पूर्व सभापति विजय जैन के वार्ड से भाजपा ने पुराने प्रत्याशी गुरुचरण सिंह को ही टिकट दिया। इस बार गुरुचरण सिंह ने बड़े अंतर से जीत दर्ज की। कांग्रेस पूर्व सभापति की इस सीट को बचा पाने में कामयाब नहीं हो सकी। यहां से इस बार विजय जैन ने टिकट नहीं मांगा था।

342 ने नोटा में लगाया मुहर
भिलाई-चरोदा निगम चुनाव में 342 लोगों ने नोटा पर मुहर लगाया। अगर यह लोग किसी प्रत्याशी को मतदान करते तो कुछ सीट में नतीजे अलग आ सकते थे। वार्ड-17 में 9 लोगों ने नोटा में मुहर लगाया। यहां हार-जीत का अंतर सिर्फ 16 मतों का ही था। वार्ड-13 में जीत का अंतर सिर्फ 12 था, वहां भी नोटा में 6 लोगों ने मुहर लगाया था। वार्ड-11 में जीत का अंतर सिर्फ 15 मत था यहां नोटा में 8 लोगों ने मुहर लगाया।

20 से कम मतों से जीत
विश्वबैंक कालोनी से कांग्रेस के संतोष तिवारी ने भाजपा के दिलीप पटेल को सिर्फ पांच वोटों से हराया। वार्ड-24 से भाजपा के सत्यप्रकाश शर्मा ने कांग्रेस के रमाशंकर वर्मा को सिर्फ 17 वोटों से मात दी। वार्ड-17 से भाजपा के फिरोज फारूकी ने कांग्रेस के राजेश कुमार दाण्डेकर को सिर्फ 16 वोटों से हराया। यहां भी टक्कर कांटे की थी। वार्ड-13 गांधी नगर से शारदा लावेश कुमार निर्दलीय प्रत्याशी ने कांग्रेस की पी लक्ष्मी को सिर्फ 12 मतों से हराया। वार्ड-11 में भाजपा के रामखिलावन वर्मा ने कांग्रेस के सत्यानारायण वर्मा को 15 मतों से हराया।

6 वार्डों से जीतकर आए निर्दलीय
भिलाई चरोदा में वार्ड-4, 5, 9, 13, 27, 33 से निर्दलियों ने जीत हांसिल की है। कांग्रेस और भाजपा के नेताओं यहां निर्दलीयों ने मात दी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: इंडिया गेट पर लगेगी नेताजी की भव्य प्रतिमा, पीएम करेंगे होलोग्राम का अनावरणAssembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनाव20 आईपीएस का तबादला, नवज्योति गोगोई बने जोधपुर पुलिस कमिश्नरइस ऑटो चालक के हुनर के फैन हुए आनंद महिंद्रा, Tweet कर कहा 'ये तो मैनेजमेंट का प्रोफेसर है'खुशखबरी: अलवर में नया सफारी रूट शुरु हुआ, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.