जिला में कोरोना का बढ़ रहा कहर, स्कूल बेलगाम

एचएम संक्रमित, 47 शिक्षकों की हो रही जांच, 2 से 5 वीं तक के बच्चों को भी बुलाया जा रहा स्कूल,

By: Abdul Salam

Published: 17 Mar 2021, 10:54 PM IST

भिलाई. जिला में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। 2 मार्च 2021 को 23 लोग संक्रमित हुए थे अब 233 लोग संक्रमित हो रहे हैं। दस गुना अधिक लोग जब संक्रमित हो रहे हैं, तब सरकारी स्कूलों में क्लास दूसरी से पांचवीं तक के बच्चों को भी बुलाया जा रहा है। यह सब कुछ तब हो रहा है जब सेक्टर के एक एचएम संक्रमित पाए गए हैं। बच्चों की जान को एक तरह से जोखिम में डाला जा रहा है। निजी स्कूल संचालक भी बिना पालकों से राय लिए ऑफ लाइन परीक्षा ले रहे हैं। इससे बच्चों की सेहत को लेकर पालक परेशान हैं। वहीं सालभर स्कूल नहीं लगने की वजह से बच्चे ऑफ लाइन परीक्षा देने की स्थिति में नहीं है।

मंच में एक साथ पढ़ रहे बच्चे
कोहका के गुरु घासीदास शासकीय प्राथमिक शाला में मंच पर एक साथ 2 से पांचवीं तक के बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। सुबह 10 बजे से क्लास ली जा रही है। इसके बाद दोपहर में 6 वीं से आगे पढऩे वाले बच्चों को बुला रहे हैं। बच्चे एक साथ बैठ रहे हैं। इससे एक बच्चा भी संक्रमित हुआ तो शेष बच्चे का भी संक्रमित होना तय है। लगातार बच्चों को पढ़ा रहे शिक्षक भी इससे बच नहीं पा रहे हैं।

एचएम संक्रमित, 47 शिक्षकों की हुई जांच
टाउनशिप में मौजूद शासकीय प्राथमिक स्कूल, सेक्टर-6 के हेड मास्टर संक्रमित पाए गए हैं। जिसके बाद स्कूल में पढ़ाने वाले तमाम शिक्षकों की जांच की गई है। इस स्कूल में 47 शिक्षक पढ़ाते हैं, इनका आरटीपीसीआर जांच किया गया है। रिपोर्ट आने में अभी वक्त लगेगा। स्कूल में पढऩे वाले बच्चों को इसके बाद भी पढ़ाने के लिए बुलाया जा रहा है। शिक्षा विभाग की लापरवारी का खामियाजा बच्चों को भुगतना पड़ सकता है।

बिना पालकों की सलाह के ले रहे ऑफ लाइन परीक्षा
जिला में शिक्षा अधिकारी के पास बार-बार ऑफ लाइन परीक्षा के खिलाफ शिकायत की जा चुकी है। विभाग ने निजी स्कूल के संचालकों से कहा कि पालकों से राय लेने के बाद ही ऑफ लाइन परीक्षा ली जाए। अब पालक कह रहे हैं कि बिना उनसे राय लिए ऑफ लाइन परीक्षा ली जा रही है। सवाल उठ रहा है कि एक भी बच्चा अगर संक्रमित होता है तब इसका जिम्मेदार कौन होगा।

जिला में नए केस 243

कोरोना से जिला में बुधवार को तीन संक्रमितों की मौत हो गई। दो दिनों में सात लोगों की जान जा चुकी है। कोरोना का दूसरा लहर तेजी से फैल रहा है। नए केस 243 मिले हैं। जांच की संख्या अभी बढ़ाई नहीं गई है, तब यह हाल है। जिला में अब तक 29492 लोग संक्रमित हो चुके हैं। जिसमें से 27347 मरीज ठीक हो चुके हैं। एक्टिव केस भी बढ़कर 1485 तक पहुंच गया है। लाल बहादुर शास्त्री शासकीय अस्पताल के एक 58 साल के कर्मी की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव रही है। उन्होंने बताया कि 23 फरवरी 2021 को कोरोना का दूसरा टीका लगवाया था। जिस डॉक्टर की रिपोर्ट पॉजिटिव रही उनके संपर्क में रहने की वजह से उन्होंने बुधवार को जांच करवाया। तब संक्रमित निकले। जिला में यह तीसरा मामला है। इसके पहले डॉक्टर के साथ-साथ ईएसआई अस्पताल की कर्मी भी संक्रमित हुई है।

प्रदेश में सबसे अधिक मौत दुर्ग में
छत्तीसगढ़ में बुधवार को ६ संक्रमित की मौत हुई है, जिसमें से तीन दुर्ग जिला के हैं। इस तरह से मौत को नियंत्रित कर पाने में फिर जिला असफल हो रहा है। सिकोला भाठा, कर्मचारी नगर, दुर्ग में रहने वाले ६५ साल के बुजुर्ग को 13 मार्च 2021 को गंगोत्री अस्पताल, दुर्ग में दाखिल किया गया था। तब उनको बुखार व कफ था। इसके अलावा उनको हाइपरटेंशन, डायबीटिज, कोरोनरी हार्ट डिजीज थी। उनकी मौत हो गई। साकेत नगर, कोहका, भिलाई में रहने वाले 60 साल के बुजुर्ग को 3 मार्च 2021 को सेक्टर-9 अस्पताल में दाखिल किया गया। तब उनको बुखार, उल्टी, कफ, गले में खराश, कमजोरी थी। इसके अलावा उनको हाइपरटेशन की भी शिकायत थी। उनकी भी मौत हो गई। खुर्सीपार में रहने वाले 44 साल के व्यक्ति को 14 मार्च 2021 को एम्स, रायपुर में दाखिल किया गया। उनको ब्रेथलेसनेस और बुखार की शिकायत थी। उनकी भी मौत हो गई।

टीचरों को होम आइसोलेशन में रहने कहा
जिला शिक्षा अधिकारी पीएस बघेल ने बताया कि सेक्टर-6 में एचएम पॉजिटिव आए हैं, इसके बाद सभी शिक्षकों का कोरोना जांच करवाए हैं। एंटीजन की रिपोर्ट में कोई संक्रमित नहीं मिला है। आरटीपीसीआर जांच की रिपोर्ट अभी नहीं मिली है। सभी टीचरों को होम आइसोलेशन में रहने कहा है। सरकारी स्कूलों में छोटे बच्चों को स्कूल में बुलाने निर्देश नहीं है, फिर भी एक आदेश गुरुवार को इस संबंध में निकाल दिया जाएगा।

COVID-19
Abdul Salam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned