M.Tech, MBA में प्रवेश की काउंसलिंग 27 सितंबर से, तकनीकी शिक्षा संचालनालय ने जारी किया काउंसलिंग शेड्यूल

तकनीकी शिक्षा संचालनालय ने पीजी कोर्स के लिए काउंसलिग शेड्यूल जारी कर दिया है। इसी तरह लेटरल एंट्री के माध्यम से बीटेक में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थी भी इस काउंसलिग का हिस्सा बन सकेंगे।

By: Dakshi Sahu

Published: 25 Sep 2021, 11:21 AM IST

भिलाई. एमटेक (M.Tech), एमबीए (MBA) और एम.फार्मेसी (Master of Pharmacy) में दाखिला लेने काउंसलिंग की शुरुआत 27 सितंबर से हो जाएगी। तकनीकी शिक्षा संचालनालय ने पीजी कोर्स के लिए काउंसलिग शेड्यूल जारी कर दिया है। इसी तरह लेटरल एंट्री के माध्यम से बीटेक में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थी भी इस काउंसलिग का हिस्सा बन सकेंगे। संचालनालय नेे आदेश जारी कर कहा है कि विद्यार्थी कास्ट्यूम डिजाइन एंड ड्रेस मेकिंग के तृतीय सेमेस्टर में प्रवेश के लिए भी इस काउंसलिंग का हिस्सा बनेंगे। ऐसा पहली बार हो रहा है, जब डीटीई ने पीजी और लेटरल एंट्री कोर्स में दाखिला देने काउंसलिंग की शुरुआत सबसे पहले कर दी है।

Read More: सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पहली बार NDA की कोचिंग में 11 लड़कियों को मिली एंट्री, पहले सिर्फ लड़कों को मिलता था मौका ...

पीईटी की काउंसलिंग कब
छत्तीसगढ़ व्यापमं ने 8 सितंबर को हुई पीईटी और पीपीएचटी परीक्षाओं के नतीजे फिलहाल जारी नहीं किए हैं। व्यापमं द्वारा परीक्षाओं के मॉडल उत्तर जारी कर दिया गया है। दावा आपत्ति के निराकरण के बाद व्यापमं परिणाम घोषित करेगा। परिणाम डीटीई को सौंपे जाएंगे। जिसे डीटीई चिप्स द्वारा तैयार किए गए सॉफ्टवेयर में फीड करेगा। संभावित है कि बीटेक, फार्मेसी में प्रवेश की काउंसलिंग अक्टूबर के पहले हफ्ते में शुरू कराई जा सकती है। व्यापमं 26 सितंबर को पीईटी और पीपीएचटी प्रवेश परीक्षा के नतीजे जारी कर सकता है।

इसलिए हुई काउंसलिंग की शुरुआत
छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय ने सभी विषयों के आठवें सेमेस्टर के नतीजे जारी कर दिए हैं। ऐसे में डीटीई ने इन रिजल्ट्स के जरिए इस बार सबसे पहले पीजी के प्रवेश प्रक्रिया शुरू कराने का फैसला लिया। ठीक ऐसे ही विवि ने डिप्लोमा के अंतिम सेमेस्टर का परिणाम भी घोषित कर दिया है। जिसकी वजह से डीटीई काउंसलिंग की प्रक्रिया कराने की तैयारी पूरी कर पाया। विवि से अब सिर्फ कुछ एक विषयों के नतीजे ही पेंडिंग है, जिसके परिणाम आते ही डीईटी इन्हें भी काउंसलिंग में शामिल कर लेगा।

क्या होती है लेटरल एंट्री
तकनीकी शिक्षा का डिप्लोमा पाठ्यक्रम उत्तीर्ण कर लेने वाले विद्यार्थियों को बीटेक प्रोग्राम में लेटरल एंट्री के जरिए दाखिला दिया जाता है। इससे उनकी पढ़ाई का एक वर्ष कम होता है। उनको सीधे तृतीय सेमेस्टर से प्रवेश दिया जाता है। उनकी तीन वर्ष की इंजीनियरिंग ही करनी होती है। ऐसा ही अन्य विषयों के साथ भी होता है।

- बीटेक लेटरल/पीजी काउंसलिंग शेड्यूल-
प्रथम चरण के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन -27 से 29 सितंबर
डीवीसी में दस्तावेजों का परीक्षण - 27 से 29 सितंबर
प्रथम चरण का सीट आवंटन - 01 अक्टूबर
संस्था में प्रवेश लेने का कार्य - 4 से 6 अक्टूबर
रिक्त सीटों की जानकारी - 7 अक्टूबर
काउंसलिंग का द्वितीय चरण
द्वितीय चरण के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन - 7 से 9 अक्टूबर
डीवीसी में दस्तावेजों का परीक्षण - 7 से 9 अक्टूबर
प्रथम चरण का सीट आवंटन - 12 अक्टूबर
संस्था में प्रवेश लेने का कार्य - 13 से 18 अक्टूबर
रिक्त सीटों की जानकारी - 20 अक्टूबर

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned