कोविड आइसोलेशन सेंटर से 34 मरीज ठीक होकर लौटे अपने घरों को

कलेक्टर से लेकर आयुक्त तक की रही निगरानी.

By: Abdul Salam

Updated: 11 May 2021, 10:51 PM IST

भिलाई. टाउनशिप में कोविड आइसोलेशन सेंटर से अब तक 34 मरीज ठीक होकर अपने घर लौट चुके हैं। पिछले माह छत्तीसगढ़ लाइवलीहुड कॉलेज सोसायटी भिलाई में गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने 150 बेड के इस कोविड-19 आइसोलेशन सेंटर को शुरू किया था। यहां कोरोना संक्रमित लोगों को नि:शुल्क बेहतर चिकित्सा सुविधा दी जा रही है। 24 घंटे डॉक्टर और नर्सिंग देखभाल के साथ ही भोजन, पानी और स्वच्छता का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। यहां 40 बिस्तरों में ऑक्सीजन सुविधा भी उपलब्ध है।

जरूरत पर आए काम
ट्रस्ट के संचालक ने बताया कि जिस वक्त जिला के अस्पतालों में बेड को लेकर मारामारी का आलम था। कोरोना संक्रमितों को कम से कम ऑक्सीजन के साथ-साथ चिकित्सकों की निगरानी में रखकर इलाज करना था। तब इसे शुरू किया गया था। जिसमें सफल भी रहे। आखिर यहां 34 लोग पहुंचे और स्वास्थ होकर गए।

चार कूलर किया डोनेट
जोहार ट्रस्ट के संचालक अरुण सिंह सिसोदिया ने बताया कि इस विषम परिस्थितियों में भी सेवा कार्यो को देख कर खुद लोग मदद को आगे आ रहे हैं। इसी कड़ी में चतुर्भुज मेमोरियल फाउंडेशन के अरुण कुमार श्रीवास्तव ने चार कूलर डोनेट किया। इस ट्रस्ट ने पीडि़त को पिता के उपचार के लिए गृहमंत्री के निर्देश पर 15 हजार रुपए सहयोग किया।

कलेक्टर से लेकर आयुक्त तक की रही निगरानी
इस सेंटर पर कलेक्टर, दुर्ग से लेकर निगम के आयुक्त व जोन आयुक्त नजर रखे हुए थे। वे चिकित्सक, स्टाफ से लेकर भोजन, सफाई तक तमाम व्यवस्था पर ध्यान दे रहे थे। जिसकी वजह से यहां दाखिल मरीजों ने शिकायत नहीं की। सेवा के इस काम में राजीव यादव, राजू पाल, सरजिस घोष, सुमित सिंग, अल्बर्ट स्मिथ, सत्यप्रकाश, ख्वाजा अहमद, मोंटू तिवारी, रफीक अंसारी ने अहम भूमिका निभाई।

Covid-19 in india
Abdul Salam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned