कही बढ़िया बात- जुर्माना उनके लिए जो नियम तोड़ते हैं, नए ट्रैफिक कानून पर डीआईजी डांगी ने दी ट्रैफिक रूल्स मानने की सलाह

कही बढ़िया बात- जुर्माना उनके लिए जो नियम तोड़ते हैं, नए ट्रैफिक कानून पर डीआईजी डांगी ने दी ट्रैफिक रूल्स मानने की सलाह
कही बढ़िया बात- जुर्माना उनके लिए जो नियम तोड़ते हैं, नए ट्रैफिक कानून पर डीआईजी डांगी ने दी ट्रैफिक रूल्स मानने की सलाह

Dileshwar Prasad Chandrakar | Updated: 07 Sep 2019, 12:39:27 AM (IST) Bhilai, Durg, Chhattisgarh, India

डीआईजी रतनलाल डांगी ने फिर एक बार सोशल मीडिया में टै्रफिक रूल्स को लेकर बने नए कानून पर अपने विचार रखें

भिलाई . डीआईजी रतनलाल डांगी ने फिर एक बार सोशल मीडिया में टै्रफिक रूल्स को लेकर बने नए कानून पर अपने विचार रखें। उन्होंने लिखा है कि जो भी कानून बनता है वह समाज का चरित्र दिखाता है। कानून जितना कठोर होगा, नियम तोडऩे वालों की संख्या कम होती है। विधायिका में जो भी कानून बनाते है वो समाज के नागरिकों की जरूरतों के अनुसार ही बनते हंै। कानून को कठोर इसलिए बनाया जाता है क्योंकि अपराध करने वालों में इसकी सजा का भय बना रहे। हाल ही में बने यातायात के नियम भी कुछ ऐसे ही है। आईपीएस डांगी ने लोगों को सीख देते हुए कहा कि वे नियमों का पालन करेंगे तो उन्हें कभी जुर्माना नहीं देना पड़ेगा। यह जुर्माना केवल उनको ही भरना होता है, जो नियमों की अनदेखी करते है, न की पालन करने वालों को।

खुद रहें सुरक्षित और दूसरों को भी रखें
जब हम घर से बाहर सड़क पर निकलते हैं तो देखते हैं कि कुछ वाहन चालक अपने वाहनों को तेज स्पीड से दौड़ाने के साथ ही यातायात नियमों का खुला उल्लंघन करते हैं। इनमें दोपहिया या चौपहिया वाहन हो या इससे बड़ा वाहन ही क्यों न हो। वाहन चलाते समय अक्सर मोबाइल पर बात करना, हेलमेट न लगाने, दोपहिया वाहनों पर दो से अधिक सवारी बैठाकर चलना, शराब पीकर ड्राइव करना, ट्रैफिक सिगनलों की अनदेखी करना जैसे कार्य हम वाहन चलाते समय करते हैं, जिससे अक्सर हादसे होते हैं। अगर हम सभी यातायात नियमों की पूरी जानकारी रखते हुए रोड पर ड्राइव करते समय नियम का पालन करें तो काफी हद तक हादसों को टाला जा सकता है। यानि हम खुद भी सुरक्षित रहेंगे और दूसरों को भी सुरक्षित रखेंगे।

जरूर सोचें क्यों बना कठोर कानून
यातायात नियमों को तोडऩे वाले लोगों के लिए इतना कठोर कानून और भारी भरकम जुमार्ना आखिर क्यों लागू करना पड़ा। यह हम सभी को जरूर सोचना चाहिए। प्रतिवर्ष 1.50 लाख लोगों की मौत यातायात नियमों का पालन नहीं करने से होती है। इनमें अबोध बालक से लेकर 100 साल तक वृद्धजन भी शामिल होते है। सड़क दुर्घटना में हम देश के प्रतिष्ठित डॉक्टर, इंजीनियर, अधिकरी, मंत्री, वैज्ञानिक, कलाकार, खिलाड़ी, अभिनेता, शिक्षक, प्रोफेसर जैसे लोगों को खो देते हैं। 35 से 40 प्रतिशत वाहन दुर्घटना दो पहिया वाहनों पर होती है। वहीं कुल मृत संख्या में 40 प्रतिशत से उपर संख्या युवाओं की होती है।

जरा महसूस करें उनका दर्द
हमें अपने प्रियजनों को समझाना होगा वे यातायात के नियमों का पालन करें क्योकि उनको किसी के परिवार को बर्बाद करने का अधिकार नहीं है। क्योंकि दुर्घटना में केवल एक व्यक्ति की मौत नहीं होती, बल्कि उसके पीछे पूरा परिवार तिल-तिल मरता है। एक व्यक्ति की लापरवाही से घर का कमाऊ पूत इस दुनिया से चला जाता है, उस व्यक्ति की विधवा पत्नी अनाथ बच्चों व बूढ़े मां-बाप बेसहारा हो जाते हैं। हमें उन परिवार के दर्द को महसूस करना चाहिए। जिसके घर में एक ही युवा बेटा था, जो तेज गति से वाहन चलाने व हेलमेट न लगाने की वजह से दुनिया छोड़कर चला गया। उन बच्चों से मिले जिनको अच्छे स्कूल से इसलिए बाहर कर दिया, क्योंकि अब उनकी फीस पटाने वाले पापा सड़क दुर्घटना के कारण दुनिया में नहीं है।

आप जानिए क्या है नए नियम में प्रावधान
- शराब पीकर वाहन चलाने का जुर्माना 10 हजार रुपए
- खतरनाक ड्राइविंग के लिए 5 हजार रुपए जुर्माना
- ड्राइविंग के समय मोबाईल पर बात करने से 5 हजार रुपए जुर्माना
- नाबालिग गाड़ी चलाने पर गाड़ी मालिक और नाबालिग के अभिभावक पर 25 हजार का जुर्माना व जेल
- हेलमेट नहीं पहनने पर 1 हजार रुपए जुर्माना
- दोपहिया वाहन पर अधिक सवारी पर 1 हजार रुपए जुर्माना
- सीट बेल्ट नहीं पहनने पर भी 1 हजार रुपए जुर्माना
- बिना इन्सोरेंस गाड़ी चालने पर 2 हजार रुपए
- बिना लाइसेंस ड्राईविंग पर भी 5 हजार रुपए जुर्माना


इन नियमों का करें पालन और सजा से बचें
-वाहन चलाते वक्त हेलमेट का करें उपयोग
- शराब पीकर कभी भी वाहन नहीं चलाएं।
- वाहन नियंत्रित स्पीड में चलाएं।
-निर्धारित साइड में ही वाहन चलाएं।
- कभी भी वाहन को ओवरटेक न करें।
- यातायात नियमों का पालन करें।
- जेब्रा क्रासिंग का पालन करें।
- चौराहे और दो मुहान पर सपीड कम रखें।
- वाहन चलाते वक्त मोबाइल का प्रयोग नहीं करें।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned