शराब के नशे में धुत कांस्टेबल ने खुद को IG का आदमी बताकर मचाया हंगामा, पेट्रोलिंग टीम के आरक्षक की वर्दी फाड़ी

शराब के नशे में धुत एक आरक्षक ने खुद को आईजी का आदमी बताकर बीच सड़क जमकर हंगामा किया। जब पुलिस पहुंची तो उनके साथ भी भिड़ गया।

By: Dakshi Sahu

Published: 25 Oct 2020, 02:34 PM IST

भिलाई. शराब के नशे में धुत एक आरक्षक ने खुद को आईजी का आदमी बताकर बीच सड़क जमकर हंगामा किया। जब पुलिस पहुंची तो उनके साथ भी भिड़ गया। नशे की हालत में ड्यूटी कर रहे आरक्षक की न सिर्फ वर्दी फाड़ दी बल्कि गाली-गलौज करते हुए धक्का-मुक्की भी करने लगा। जिसके बाद पीडि़त आरक्षक ने थाने में शिकायत की। सख्त कार्रवाई करते हुए आरोपी कांस्टेबल को गिरफ्तार कर लिया गया। दरअसल खुर्सीपार में पदस्थ आरक्षक रमेश पाण्डेय पर उनके महकमे के ही एक जवान विक्रम सिंह ने हाथ उठाया। उनकी वर्दी भी फाड़ दी। तब वह पेट्रोलिंग ड्यूटी में था। नशे में आरक्षक आईजी के नाम से उन्हें धमका भी रहा था। आरक्षक रमेश ने खुर्सीपार थाना में शिकायत की है। पुलिस ने धारा 186, 294, 332, 353, 506 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है। आरोपी आरक्षक विक्रम सिंह ओटी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

यह है पूरा मामला
आरक्षक रमेश पाण्डेय ने शिकायत में बताया है कि विक्रम सिंह शासकीय कार्य में बाधा बना। गाली गलौज कर मारपीट भी की। आरक्षक ने बताया कि शुक्रवार को उसकी ड्यूटी थाना पेट्रोलिंग में दोपहर 2 बजे से रात 10 बजे तक के लिए थी। वह आरक्षक राकेश कुमार व प्रदीप यादव के साथ पेट्रोलिंग के लिए अण्डा चौक पहुंचे। यहां बापू नगर शराब भ_ी के पास रात 9 बजे देखा कि रोड किनारे स्थित श्रेया जनरल स्टोर के पास भीड़ है। शासकीय वाहन से उतरकर पास में तीनों पेट्रोलिंग टीम के सदस्य मौके पर गए, तो देखा कि एक व्यक्ति नशे में धुत होकर गालियां दे रहा है और उत्पात मचा रहा है। तब रमेश अपने साथी आरक्षकों के साथ उसे समझाने लगा, जिस पर वह भड़क गया। अपने को आईजी साहब के साथ रहने वाला बताकर ड्यूटी कर रहे आरक्षकों पर रौब झाडऩे लगा। आरक्षकों को धमकी देने लगा। रमेश ने समझाने की कोशिश की तो मारपीट पर उतर आया वर्दी खींचकर फाड़ दी। जिसके बाद पीडि़त ने खुर्सीपार थाने में आरोपी आरक्षक के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned