कामवाली बाई के पति को गाड़ी मालिक बताकर करता था फर्जी हस्ताक्षर, धोखाधड़ी के मामले में दो आरोपी गिरफ्तार

लॉकडाउन के बीच गाडिय़ों की किस्त नहीं चुका पा रहे गाड़ी मालिकों को चिन्हित कर उनके साथ धोखाधड़ी करने वाले दो आरोपियों को पुलिस महाराष्ट्र से गिरफ्तार कर लाई है।

By: Dakshi Sahu

Published: 01 Mar 2021, 07:04 PM IST

भिलाई. लॉकडाउन के बीच गाडिय़ों की किस्त नहीं चुका पा रहे गाड़ी मालिकों को चिन्हित कर उनके साथ धोखाधड़ी करने वाले दो आरोपियों को पुलिस महाराष्ट्र से गिरफ्तार कर लाई है। पुलिस ने आरोपी सतनाम सिंह और आदित्य सिंह के कब्जे से 42 हजार रुपए नकद बरामद दिया। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 407,419, 420, 467, 468, 471, 34 के तहत जुर्म दर्ज किया है। दोनों को न्यायिक रिमांड पर भेजा गया। नंदिनी टीआई लक्ष्मण कुमेटी ने बताया कि 27 फरवरी को ग्राम-गोढ़ी नंदिनी निवासी जागेश्वर भारती ( 22 वर्ष) ने शिकायत की। रायपुर फाइनेंस सर्विसेस लिमिटेड कंपनी से टाटा सीजी 04 एमवाय 5066 को फाइनेंस कराया था।

गाड़ी की किस्त समय पर नहीं चुका पा रहा था
कोरोना संक्रमण की वजह से लॉकडाउन था। इस वजह से गाड़ी की किस्त समय पर नहीं चुका पा रहा था। उसी बीच दुर्ग पोलसायपारा निवासी आरोपी सतनाम सिंह और धमधा के आदित्य कुमार सिंह से मुलाकात हुई। दोनों मिलकर झांसा दिया कि गाड़ी को किराए में चलाएगा। हर महीने गाड़ी की किस्त को अदा कर देगा। उसकी बातों में जागेश्वर आ गया। आरोपियों द्वारा कामवाली बाई के पति के नाम पर इकरारनामा तैयार किया। इसके बाद गाड़ी को आदित्य कुमार व सतनाम सिंह ले गए। दोनों ठगों ने गाड़ी को बिहार निवासी काजल सिह को 4 लाख में बेच दिया। ठग आदित्य ने स्वयं जागेश्वर बनकर हेराफेरी की।

शिकायत के बाद भाग गए गोंदिया
पुलिस ने बताया कि ठगों को जैसे ही पता चला कि जागेश्वर ने थाना में एफआइआर दर्ज करा दिया है। आरोपी सतनाम सिंह महाराष्ट्र गोदिया भाग गया। गोंदिया स्टेशन से सिकंदराबाद जाने ट्रेन का इंतजार कर रहा था। इधर पुलिस ने ठग के लोकेशन को ट्रेस किया। गोदिया स्टेशन पुलिस से संपर्क किया। आरोपी को स्टेशन पर धर दबोचा। कैलाश नगर में दूसरा ठग आदित्य को पकड़ा गया।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned