जब SSP ने भरी मीटिंग में कहा, मेरा फोन नहीं उठाते थानेदार तो जनता की क्या सुनते होंगे...पसर गया हॉल में सन्नाटा

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव ने जिलेभर के अफसरों की बैठक ली। उन्होंने सुबह डेली सिचुएशन रिपोर्ट की जानकारी लेने फोन करने पर थानेदारों द्वारा फोन नहीं उठाने पर नाराजगी जताई।

By: Dakshi Sahu

Published: 19 Mar 2020, 12:29 PM IST

भिलाई. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव ने बुधवार को जिलेभर के अफसरों की बैठक ली। उन्होंने सुबह डेली सिचुएशन रिपोर्ट की जानकारी लेने फोन करने पर थानेदारों द्वारा फोन नहीं उठाने पर नाराजगी जताई। यहां तक कहा कि जन्मदिन व शादी के सालगिरह की बधाई देने पर तुरंत रिप्लाई आ जाता है, लेकिन काम की जानकारी लेने पर न तो फोन उठाते हैं और न ही बाद में खुद फोन करते हैं। जब मेरा फोन नहीं उठाते तो जनता की क्या सुनते होंगे। एसएसपी ने कहा कि अब वे ऐसी लापरवाही बार्दाश्त नहीं करेंगेे। सीधे एक्शन लिया जाएगा। भिलाई नगर कंट्रोल रूम में हुई बैठक में जिले के एएसपी, सीएसपी और थाना प्रभारी उपस्थित रहे।

एसएसपी अजय यादव ने करीब 3 घंटे तक मैराथन मीटिंग ली। उन्होंने कहा कि वर्ष 2017 से अब तक 3 हजार 508 शिकायतें लंबित है। यह गृहमंत्री, पुलिस मुख्यालय, आईजी कार्यालय, एसपी कार्यालय में भी शिकायत है। उन शिकायतों का निराकरण क्यों नहीं हो रहा। यह सवाल उपस्थित थानेदारों से किए। पेडिंग शिकायतों के निराकरण करने के उपाय भी सुझाया। थानेदारों से कहा कि उसकी पूरी लिस्ट बना ले। शिकायतकर्ता को बुलाएं। अब तक हो सकता है उनका निराकरण हो गया होगा। इस तरह से उन्होंने थानेदार पेडिंग शिकायतों की जानकारी दी।

सीसीटीएनएस डाटा एंट्री अपलोड करने में बरती जा रही लापरवाही
एसएसपी ने सीसीटीएनएस प्रभारी से समय पर सीएफआईआर न अपलोड होना और डाटा एंट्री में बरती जा रही लापरवाही पर नाराजगी जाताई। उन्होंने कहा कि रोजनामचा, मर्ग, गुम इंसान और फैना जैसे कोई भी शिकायत हो उसे ऑनलाइन किया जाए। अब इसकी स्वयं समीक्षा करेंगे। चालान तक को अब ऑनलाइन करना होगा। उन्होंने कहा कि ऑपरेटर की ही यह जिम्मेदारी नहीं होगी। अब थानेदार और विवेचक से जानकारी मांगी जाएगी। कोई भी शिकायत थाना में दर्ज की जाए तो प्रार्थी को कंप्यूटराइज्ड कॉपी देना है।

महाराष्ट्र से रोज 200 से 300 लोग करते है आना-जाना, रखे नजर
दुनियाभर में महामारी बन चुके कोरोना वायरस को लेकर एसएसपी ने सजगता और सावधानी बरतने की नसीहत दी। उन्होंने थानेदारों को सैनिटाइजर अपने पास रखने व थाना में आने जाने वाले से एक मीटर की दूरी पर बातचीत करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि 200 से 300 लोग रोज शहर में बाहर से आना-जाना कर रहे हंै। उन पर भी निगरानी रखें। कोरोना को लेकर जानकारी देने वाले की बात सुने और रिस्पान्स दें। मेडिकल स्टोर पर भी नजर रखें।

इन बिंदुओं पर रखें ध्यान
- थाना प्रभारी क्षेत्र में बनाई गई शांति समिति को अपडेट करते रहे। उसकी प्रति एएसपी, सीएसपी, डीएसबी में उपलब्ध कराएं।
- तीन से ज्यादा संपत्ति और शरीर संबंधित अपराध होने पर हिस्ट्रीशीट खोली जाए।
- सुप्रीम कोर्ट और हाइकोर्ट से मांगी गई जानकारी को गंभीरता से लिया जाए।
- महिला संबंधित व 12 वर्ष से नीचे की उम्र वाले अपराध में थानेदार सही जांच कर धारा लगाए। शिकायत मिलने पर थानेदार से स्पष्टीकरण मांगा जाएगा।
- आईजी, डीएसपी, थाना निरीक्षण जो टीप दिए उस पर ध्यान दिया जाए

दी गई रवैया सुधारने की हिदायत
एसएसपी अजय यादव ने बताया कि गंभीर अपराध और पुरानी शिकायतों की समीक्षा की गई है। पेडिंग कामों का निराकरण करने की थानेदारों को हिदायत दी गई है। ऐसे थानेदार जो अपने अधिकारियों का फोन नहीं उठाते उन्हें फटकार लगाई गई है। साथ ही रवैया सुधारने के लिए भी कहा गया है।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned