रुदा स्कूल में सिर्फ ३ शिक्षक, पालकों ने कहा... बच्चों की टीसी दे दो हम उन्हें कहीं और पढ़ाएंगे, डीईओ ने समझाया

स्कूल में ११वीं कक्षा के ११ बच्चों ने टीसी के लिए आवेदन कर दिया। पालकों ने जब इस बात का कारण पूछा गया तो पालकों ने बताया कि यहां ३ शिक्षक ही सभी कक्षाओं का संचालन करते हैं,

By: Mohammed Javed

Published: 01 Jul 2019, 10:15 PM IST

 

भिलाई . जिले की शासकीय स्कूलों में शिक्षकों की कमी के चलते अब पालकों ने आवाज बुलंद करना शुरू कर दिया है। सोमवार को दुर्ग ब्लॉक की रुदा शासकीय स्कूल में ऐसा ही बखेड़ा खड़े हो गया। स्कूल में ११वीं कक्षा के ११ बच्चों ने टीसी के लिए आवेदन कर दिया। पालकों ने जब इस बात का कारण पूछा गया तो पालकों ने बताया कि यहां ३ शिक्षक ही सभी कक्षाओं का संचालन करते हैं, जिससे शिक्षा व्यवस्था में मुस्तैदी दिखाई पड़ती। इसलिए वे स्कूल बदलना चाहते हैं। हायर सेकंडरी के बच्चों को टीसी लेता देख मिडिल स्कूल में पढ़ रहे बच्चों के पालकों ने भी टीसी की बात कह दी। ये बात जब जिला शिक्षा अधिकारी को मालूम पड़ी तो वे तुरंत स्कूल पहुंच गए। वहां ग्रामीणों को समझाया गया कि जल्द ही शिक्षकों की ट्रांसफर सूची जारी होने वाली है, जिसमें इस स्कूल के लिए पर्याप्त शिक्षकों की व्यवस्था कर दी जाएगी। यह सुनने के बाद ही पालकों ने राहत की सांस ली और टीसी लेने की हट छोड़ी।

ढ़ाई किलो मीटर चलना गवारा पर टीसी दे दो
रुदा हायर सेकंडरी स्कूल में ग्राम भोसली के ११ बच्चे आते हैं। भोसली से रुदा की दूरी महज एक किलो मीटर है, जबकि पालकों को टीसी इसलिए चाहिए थी ताकि वे रुदा से ३ किमी. दूर तिरगा शाला में बच्चों को प्रवेश दिला सकें। इस तरह पालकों ने कहा कि उन्हें यह दूरी मंजूर है, लेकिन वे बच्चों को तिरगा में ही पढ़ाएंगे। तिरगा शाला में शिक्षकों की संख्या पर्याप्त होने की वजह से पालक टीसी चाहते थें।


पालकों को आश्वस्त किया गया है कि रुदा शाला में शिक्षक की संख्या बढ़ा दी जाएगी। पालक टीसी नहीं लेने के मान गए हैं। - प्रवास बघेल, जिला शिक्षा अधिकारी, दुर्ग

Mohammed Javed Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned