जोगी कांग्रेस के साहू कार्ड के साथ पाटन में महिला प्रत्याशी से इस बार बनेगा नया चुनावी समीकरण

जोगी कांग्रेस के साहू कार्ड के साथ पाटन में महिला प्रत्याशी से इस बार बनेगा नया चुनावी समीकरण

Satya Narayan Shukla | Publish: Sep, 09 2018 03:14:34 PM (IST) | Updated: Sep, 09 2018 03:14:35 PM (IST) Bhilai, Chhattisgarh, India

राजनीतिक लिहाज से सर्वाधिक जागरूक और चौकाने वाले परिणाम के लिए पहचाने जाने वाले पाटन विधानसभा क्षेत्र के चुनावी समीकरण पर इस बार पूरे प्रदेश की नजर रहेगी।

दुर्ग. राजनीतिक लिहाज से सर्वाधिक जागरूक और चौकाने वाले परिणाम के लिए पहचाने जाने वाले पाटन विधानसभा क्षेत्र के चुनावी समीकरण पर इस बार पूरे प्रदेश की नजर रहेगी। कांग्रेस की ओर से सीएम का चेहरा माने जा रहे पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल यहां एकमात्र दावेदार हैं। बघेल अविभाजित मध्यप्रदेश के दौर से वर्ष 1993 से यहां से चुनाव लड़ रहे हैं। इस बीच वर्ष 2008 के चुनाव को छोड़ से दें तो बघेल का इस क्षेत्र में एकाधिकार है। बघेल अब तक यहां से 5 बार चुनाव लड़ चुके हैं। इसमें एक तिकड़ी के साथ वे 4 बार जीत भी दर्ज कर चुके हैं। वर्ष 2008 में लगातार तीन चुनाव जीतने के बाद नेतृत्व में बदलाव की बयार में कांग्रेस से अलग होकर भाजपा में शामिल हुए अपने ही भतीजे विजय बघेल से करारी हार का सामना करना पड़ा, लेकिन वर्ष 2013 में जनता ने उन्हें फिर से कमान सौंप दिया। अब सीएम के रूप में नाम आने से जहां उनके सामने अपने गढ़ को बचाए रखने की चुनौती है,वहीं विपक्ष के नेता के रूप में सरकार पर तीखे प्रहारों और पूर्वमुख्यमंत्री अजीत जोगी से अनबन के कारण भाजपा और छजकां के सीधे निशाने पर हैं।

विजय बघेल का नाम सबसे ऊपर
दूसरी ओर पीसीसी अध्यक्ष को उनके ही गढ़ में चुनौती देने भाजपा में दावेदारों की लंबी कतार है। इस होड़ में उनके चिर-परिचित प्रतिद्वंद्वी भतीजे विजय बघेल का नाम सबसे ऊपर है। विजय बघले पीसीसी अध्यक्ष को एक बार पराजित भी कर चुके हैं, इसलिए उन्हें सबसे मजबूत दावेदार भी माना जा रहा है। जानकारी के मुताबिक वे सीएम डॉ.रमन सिंह का पसंदीदा चेहरा भी हैं। इसके अलावा भाजपा विधायक दल के स्थायी सचिव जितेन्द्र वर्मा का भी नाम सामने आ रहा है। जितेंद्र वर्मा को संगठन का समर्थन होने की बात कही जा रही है। पेशेवर चिकित्सक डॉ.अरुण मढ़रिया का नाम भी दावेदार के रूप में तेजी से उभरा है। उन्हें भाजपा की राष्ट्रीय सचिव डॉ.सरोज पांडेय का समर्थन होने की बात सामने आ रही है। इसके अलावा भाजपा के महामंत्री खिलावन साहू, जनपद अध्यक्ष हर्षा चंद्राकर, लालेश्वर साहू, प्रेमलाल साहू, नंदलाल साहू, खेमलाल साहू, किशोर साहू, मंडल अध्यक्ष पुरूषोत्तम तिवारी भी दावेदार है। मजबूत प्रतिद्वंद्वी नहीं मिलने पर मंत्री रमशीला साहू अथवा उनके पति डॉ. दयाराम साहू को भी यहां से उतारे जाने की चर्चा है।

कांग्रेस वापसी से कांग्रेस को फायदा
महिला एवं बाल विकास मंत्री रमशीला साहू का यह गृह क्षेत्र है। जोगी कांग्रेस से यहां के प्रबल दावेदार माने जा रहे जिला पंचायत सदस्य राकेश ठाकुर ने फिर कांग्रेस प्रवेश कर लिया है। क्षेत्र में उनकी खासी पकड़ है। उनके कांग्रेस वापसी से कांग्रेस को फायदा होगा। जोगी कांग्रेस ने यहां से शकुंतला साहू को प्रत्याशी बनाया है। जोगी कांग्रेस ने जातीय समीकरण पर दांव लगाया है। वहीं आम आदमी पार्टी ने भी दुर्गा झा को मैदान में उतारा है।

 

Ad Block is Banned