सेविंग कराकर घर लौटा तो बहू को इस हालात में देखकर ससुर रह गया दंग, पढ़ें खबर

शनिवार को देवबलौदा की एक गर्भवती महिला एल देवश्री ने फांसी लगाकर अत्महत्या कर ली। उसने साड़ी को फंदा बनाया था।

By: Satya Narayan Shukla

Published: 20 Jan 2018, 10:09 PM IST

भिलाई. तीन दिन पहले दूधमुंहे बच्चे के साथ एक महिला के आग लगाने का घटना को लोग भूले नहीं है कि शनिवार को देवबलौदा की एक गर्भवती महिला एल देवश्री ने फांसी लगाकर अत्महत्या कर ली। उसने साड़ी को फंदा बनाया था। सात माह पहले ही वह भविष्य के सुखद सपने संजोए ससुराल आई थी। वह पांच माह की गर्भवती थी। उसने सुबह 9 से 10 बजे के बीच अपने घर में फांसी लगा ली। भिलाई तीन पुलिस मर्ग कायम कर जांच कर रही है। भिलाई तीन के अतिरिक्त तहसीलदार मनीष देवसा की मौजूदगी में पंचनामा हुआ। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। मृतका के मायके वालों ने ससुरालियों पर दहेज के लिए प्रताडि़त करने का आरोप लगाया है।

सेविंग कराकर ससुर लौटा तो बहू को फंदा पर लटके देखा
भिलाई तीन पुलिस के मुताबिक एल देवश्री पति एल शंकर राव (20 वर्ष ) की 26 जून 2017 को शादी हुई थी। उसका पति एल शंकर राव डबरापारा मित्तल कंपनी में काम करता है सुबह वह काम पर चला गया था। सास एल पार्वती शीशी बोतल धोने के लिए कुम्हारी चली गई थी। ससुर एल तापैसा सेविंग कराने चला गया था। सेविंग करवाकर जब वह घर लौटा तो बहु एल देवश्री फांसी के फंदे पर लटकी हुई थी।

पिता ने कहा दहेज लोभियों ने मारा डाला

मृतका के पिता देवसरिया ने दहेज प्रताडऩा का आरोप लगया है। देवसरिया ने बताया कि ६ माह पहले बेटी के विदा किया था। ससुरालियों ने २ लाख की मांग की थी पर १ लाख ७० हजार रुपए देना तय हुआ था। उसे १ लाख २० हजार रुपए दे दिया था। ५० हजार रुपए के लिए ६ माह का समय लिया था। उसे भी तीन माह में दे दिया। इसके बाद भी ससुराल में उसकी बेटी को मारना पिटना शुरू कर दिया था। परेशान होकर वह दो बार ससुरला से मायके आ गई थी। दामाद को बुलाकर समझा बुझा कर भेजा था।

मां बोली बेटी ने कहा था मां मुझे जीने नहीं दे रहे है...

मृतिका की मां भवानी ने कहा कि पड़ोसी के मोबाइल से बेटी ने सुबह ९ बजे फोन किया था। उसने कहा कि पति ने रात में उससे मारपीट की। मां मुझे जीने नहीं देंगे, बहुत मार रहे है। भवानी ने कहा कि मेरी मति मारी गई थी कि उससे रविवार को आने के लिए कहा था। आज मैं चली गई होती तो बेटी बच जाती। इतना कह कर फफक पड़ी।

Satya Narayan Shukla Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned