... बीएसपी गैस हादसे की पांचवी बरसी, नम आखों से दी श्रद्धांजलि

... बीएसपी गैस हादसे की पांचवी बरसी, नम आखों से दी श्रद्धांजलि
BHILAI

Abdul Salam | Updated: 12 Jun 2019, 04:53:55 PM (IST) Bhilai, Durg, Chhattisgarh, India

... जब बीएसपी पंप हाउस-2 में काम कर रहे लोगों को भीतर से निकालने के लिए भाग रहे लोगों ने देखा कि आसमान से परिदें गिर रहे है।

भिलाई. भिलाई इस्पात संयंत्र में 12 जून 2014 को पंप हाउस-२ में गैस रिसाव दुर्घटना में बीएसपी, सीआईएसएफ से कुल 6 साथियों की मौत हो गई थी। हादसे की आज पांचवी बरसी पर सीटू ने साथियों को नम आंखों से श्रद्धांजलि दी।

आज भी भूल नहीं पाते वह भगदड़
12 जून 14 की शाम बीएसपी कर्मियों के दिलोदिमांग से अरसे तक भूली नहीं जाएगी। शाम के ठीक 4.40 बजे थे, तभी bhilai steel plant जल प्रबंधन विभाग के 2.5 मिलियन टन, पंप हाउस-2 में गैस रिसाव के बाद भगदड़ की स्थिति निर्मित हो गई। समीप में मॉक ड्रिल का रिहर्सल कर रही सीआईएसएफ के जवान को किसी ने बताया कि पंप हाउस-2 में पानी भर गया। तो वे कर्मियों की जान बचाने भागे।

टपक रहे थे परिदें
पंप हाउस-2 में काम कर रहे लोगों को भीतर से निकालने के लिए भाग रहे लोगों ने देखा कि आसमान से परिदें गिर रहे है। तब उनको अंदेशा हुआ कि बिना गंध व रंग वाली जगहरीली गैस लीक हुई है। इसके बाद ही सीआईएसएफ के जवान रुमाल को गीला कर नाक में बांधे और सीढिय़ों से करीब 25 फीट नीचे उतरे।

जांच कमेटी का किया गठन


गैस हादसे के बाद केंद्रीय इस्पात मंत्री, मुख्यमंत्री, सेल चेयरमैन सभी भिलाई पहुंचे। इसके बाद जांच कमेटी के लिए हाई पावर कमेटी, सेल स्तर कमेटी, सेफ्टी एवं सुरक्षा अधिकारी ने की जांच, दण्डाधिकारी जांच व पुलिस जांच की गई।


5000 पेज का किया रिपोर्ट तैयार
बीएसपी में हुए गैस हादसे में 6 की मौत हुई, 3 फरवरी 15 को अपराध दर्ज किया, 17 माह तक पुलिस ने की गैस कांड की विवेचना, 5000 पेज की रिपोर्ट की तैयार की। 4 को पुलिस ने आरोपी बनाया व 64 से बतौर गवाह बयान लिया।


फिर भी नहीं सुधरी व्यवस्था और 4 साल बाद हुआ बड़ा हादसा
बीएसपी में इतनी बड़ी दुर्घटना सुरक्षा की चूक के कारण हुई, तब भी सुधार नहीं हुआ और चार साल बाद कोक ओवन में बड़ी दुर्घटना हुई। पंप हाउस 2 से सीटू का जत्था पैदल एनर्जी मैनेजमेंट डिपार्टमेंट पहुंचा। वहां पर कर्मियों के साथ पिछले दिनों 9 अक्टूबर 2018 को कोक ओवन के पास हुए गैस अग्नि कांड दुर्घटना में बिछड़े साथियों को याद किया। हर हाल में असुरक्षित कार्य को करने से मना करने का संकल्प लेते हुए, सुरक्षा प्रथम का शपथ लिया। ज्ञात हो कि उस दुर्घटना में बिछड़े साथियों में एनर्जी मैनेजमेंट डिपार्टमेंट के सीटू विभागीय समिति के उप संयोजक भी थे।


जत्था ने फायर बिग्रेड के कर्म वीरों को किया नमन
Bhilai Steel Plant एनर्जी मैनेजमेंट डिपार्टमेंट से जत्था आगे बढ़ते हुए फायर ब्रिगेड विभाग पहुंचा। 2 अक्टूबर 2018 को कोक ओवन में हुए गैस अग्नि कांड दुर्घटना के दौरान उस अग्निकांड पर काबू पाने के लिए फायर फाइटिंग करते हुए अपनी जान की आहुति देने वाले कर्मवीरो को नमन किया। इसके बाद 51 फीसदी मतदान के अभियान के लिए आगे बढ़ा।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned