बिहार से दो साल पहले भिलाई आया ठगी का आरोपी चंद दिनों में बन गया करोड़पति

बिहार के मोतिहारी से दो वर्ष पहले भिलाई आया युवक चंद महीने में डेढ़ करोड़ का आसामी बन गया। ठगी का एेसा जाल फैलाया कि अपना आलीशान दफ्तर खोल लिया और पॉश इलाके में 23 लाख रुपए का प्लॉट ले लिया।

By: Dakshi Sahu

Published: 15 Nov 2018, 02:03 PM IST

भिलाई. बिहार के मोतिहारी से दो वर्ष पहले भिलाई आया युवक चंद महीने में डेढ़ करोड़ का आसामी बन गया। ठगी का एेसा जाल फैलाया कि अपना आलीशान दफ्तर खोल लिया और पॉश इलाके में 23 लाख रुपए का प्लॉट ले लिया। दो लग्जरी कार, एक बुलेट बाइक, 10 लैपटॉप और एक नोट गिनने की मशीन भी खरीदी। पुलिस ने आरोपी के बारे में आयकर विभाग से ब्यौरा मांगा है।

बीएएमएस की डिग्री, एमबीबीएस में एडमिशन का देता है झांसा
पुलिस के अनुसार एमबीबीएस में दाखिला दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी करने के आरोपी डॉ. प्रिंस गुप्ता के मामले में तफ्तीश के दौरान नए-नए खुलासे हो रहे हैं। आरोपी प्रिंस गुप्ता खुद बीएएमएस की डिग्री लेकर लोगों को बच्चों का मेडिकल कॉलेज में दाखिला दिलाकर उनका भविष्य बनाने का आश्वासन दिया करता था।

तीन माह में बना करोड़पति
वर्ष २०१६ में भिलाई आया और प्रदेश के अलग-अलग जिले में प्रचार प्रसार के लिए एजेंट बन ठगी को अंजाम देता था। उसी कमाई से खुद करोड़पति बन बैठा। तीन माह में उसके बैंक खाते से 1 करोड़ 55 लाख रुपए की जानकारी हुई थी। अभी उसके खाते में साढ़े 8 लाख रुपए हैं।

महिला मित्र को तोहफे में दी कार
प्रिंस ने अपनी महिला मित्र को तोहफे में कार दी थी। उसे चौहान टाउन नेहरू नगर इस्ट में घर दिलाकर रखा था। उसी पते पर कार सीजी 07 बीएम 8929 को उसी के नाम से खरीदा भी है। जब पुलिस ने मामले के तह तक जाने लगी थी। तब वह उस कार को अपने पिता के लिए बिहार भिजवा दी।

सीएसपी भिलाई नगर श्यामसुंदर शर्मा ने बताया कि आरोपी प्रिंस गुप्ता के बारे में जानकारी के लिए आयकर विभाग को पत्र लिखा गया है। जिसमें उसकी चल अचल संपत्ति का ब्योरा मांगा गया है। उसके खिलाफ लगातार मिल रही शिकायतों की जांच के बाद उसे जेल भेज दिया गया।

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned