पत्नी की मौत प्रकरण में जेल गए आरोपी ने छूटने के बाद बनाया नाबालिग बच्चों का चोर गिरोह, ट्रेनिंग देकर करवाता था गंदा काम

चोरी के पैसे से आरोपियों में से एक ने 25 हजार की स्कूटर खरीद लिया। दूसरे ने 12 हजार रुपए के मोबाइल और तीसरे ने 5 हजार रुपए के कपड़े खरीदा।

By: Dakshi Sahu

Published: 21 Aug 2021, 12:29 PM IST

भिलाई. सुपेला आकाशगंगा हिमालय कॉप्लेक्स की किराना दुकान में चोरी करने वाले दो नाबालिग समेत तीन आरोपियों के पुलिस ने गिरफ्तार किया है। सुपेला क्षेत्र का शातिर चोर शेखर समीर नाबालिग बच्चों को साथ में लेकर चोरी की वारदात को अंजाम देता था। पुलिस ने आरोपी शेखर समीर और 10 और 15 वर्ष के नाबालिगों को गिरफ्तार किया है। आरोपी के कब्जे से 13 हजार 800 रुपए जब्त किया है। आरोपियों के खिलाफ चोरी के तहत प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई की गई। सुपेला टीआई सुरेश ध्रुव ने बताया कि नेहरु नगरपूर्व 34/12 निवासी शंभुनाथ जायसवाल (49 वर्ष) ने 15 अगस्त को शिकायत की थी। नेहरु नगर में जायसवाल का सुपर बाजार के नाम से किराना शॉप है। जहां 15 अगस्त को 80 हजार रुपए नकद चोरी हो गई थी। शिकायत के आधार पर जांच शुरू की। चार दिन बाद आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। 19 अगस्त को मामले में धारा 380, 457 के तहत प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई की गई।

Read More: करेंसी बदलने का झांसा देकर दुर्ग के विदेशी मुद्रा विनिमय कारोबारी से 4.32 लाख की ठगी, CC टीवी में कैद हुए दोनों आरोपी ...

रैकी कर करते थे चोरी
टीआई सुरेश ध्रुव ने बताया कि आरोपी शेखर समीर शातिर चोर है। पूर्व में अपनी पत्नी की मौत के प्रकरण में जेल जा चुका है। जेल से छुटने के बाद चोरी करने एक गैंग बना लिया। जिसमें नाबालिग बच्चों को गैंग में रखता था। समीर अपने साथ में एक 10 वर्ष और एक 15 वर्ष के नाबालिग को रखा था। दोनों मिलकर रैकी करते थे। जायसवाल की दुाकन में शटर के पास थोड़ी सी जगह दिखाई दी। उस जगह से 10 वर्ष के बच्चे को घुसाया। एक रस्सी को नीचे गिराया। जब वह बच्चा गल्ले से 80 हजार रुपए निकाल लिया। फिर उसने आवाज लगाकर इशारा किया। तब समीर ने 15 वर्षीय नाबालिग को अंपने कंधे पर चढ़ाकर रस्सी को खिंचवाया। नाबालिग उसी कम जगह से निकल कर बाहर आया।

चोरी के पैसे को बांटकर करते थे खर्च
चोरी के पैसे से आरोपियों में से एक ने 25 हजार की स्कूटर खरीद लिया। दूसरे ने 12 हजार रुपए के मोबाइल और तीसरे ने 5 हजार रुपए के कपड़े खरीदा। बाकी पैसे से शराब और गोली के नशे में उड़ा रहे थे। पैसे की मद में समीर नशा करते रहा और तीन दिनों से अपने घर तक नहीं गया। पुलिस ने आरोपी के कपड़े, मोबाइल और स्कूटर को जब्त किया है। आरोपियों से पूछताछ में नाबालिग बच्चों के चोर गिरोह का खुलासा हो सकता है।

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned