भगवान के जन्म महोत्सव पर ऐसा लगा जैसे धर्मनगरी की धारा पर स्वर्ग उतर आया

जैनाचार्य विद्यासागर महाराज के सानिध्य में गजरथ पंचकल्याणक महोत्सव के तृतीय दिवस में जन्म कल्याण महोत्सव धूमधाम से मनाया गया।

By: Satya Narayan Shukla

Published: 12 Nov 2017, 10:10 PM IST

राजनांदगांव/डोंगरगांव. डोंगरगांव शहर में जैनाचार्य विद्यासागर महाराज के पावन सानिध्य में चल रहे गजरथ पंचकल्याणक महोत्सव के तृतीय दिवस में जन्म कल्याण का महोत्सव धूमधाम से मनाया गया। रविवार सुबह साढ़े आठ बजे भगवान का जन्म हुआ।इस उपलक्ष्य में उनके महाभिषेक के लिए सौधर्म इंद्र अपने सभी इंद्र रानियों के साथ ऐरावत हाथी पर सवार होकर भगवान का जन्म का उत्सव मनाने विशाल जुलूस के साथ अयोध्या नगरी से निकलकर नगर का भ्रमण करते हुए पांडुक शिला की ओर रवाना हुए।

झांकी में बाललीला का चित्रण
ऐरावत हाथी के साथ-साथ 24 घोड़े, 17 बगिया, छह प्रकार के बैंड बाजे, पंजाबी भांगड़ा ढोल, पाटन दुर्ग वनांचल क्षेत्र मोहला से आदिवासी नृत्य व संगीत के साथ थिरकते पूरे नगर के लोग इस विशाल एवं पावन अभिषेक यात्रा डोंगरगांव की धरा पर स्वर्ग उतर आया लग रहा था। शोभा यात्रा के बाद दोपहर दो बजे भगवान का अभिषेक हुआ। शाम सात बजे महाआरती तथा रात्रि आठ बजे शास्त्र सभा के मध्य संध्या चार बजे आचार्य के श्रीमुख से प्रवचन का लाभ भी लोगों को मिला। रात्रि साढ़े आठ बजे से भगवान के जन्म से लेकर बाललीला का चित्रण टीकमगढ़ जिले से आए कलाकारों के द्वारा झांकी में प्रस्तुति ने लोगों का मन मोह लिया।

मंदिर में स्थापित होगी 24 तीर्थंकरों की मूर्तियां
नवनिर्मित मंदिर में पूरे विधि विधान के साथ जैन धर्म के चौबीस तीर्थंकरों की मूर्तियों को स्थापित किया जाएगा। विदित हो कि जैन आचार्य विद्यासागर जी महाराज की दो शिष्य साबरमती माता रजत मति माता की जन्मधरा पर विशाल एवं भव्य श्री दिगंबर जैन मंदिर का निर्माण किया गया। करीब 6 वर्ष पूर्व आचार्य के पावन सानिध्य में मंदिर निर्माण की आधारशिला रखी गई थी और संयोग से उनकी मौजूदगी में मंदिर का पंचकल्याणक महोत्सव बड़े ही धूमधाम से मनाया जा रहा है, जिससे डोंगरगांव नगर में श्रद्धा और भक्ति का माहौल बना हुआ है।

जनप्रतिनिधियों ने लिया आशीर्वाद
आचार्य का आशीर्वाद लेने छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के सुप्रीमो अजीत जोगी भी अपने काफि ले के साथ डोंगरगांव पहुंचे। उनके साथ छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के जिलाध्यक्ष जरनैल सिंह भाटिया के साथ शहर तथा ग्राम स्तर के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता भी बड़ी संख्या में मौजूद थे। आचार्य कापूरा प्रवचन जोगीजी ने पूरी तन्मयता से सुना तथा उनका आशीष प्राप्त किया। आचार्य के दर्शन करने स्थानीय जनप्रतिनिधि के साथ-साथ जिले व प्रदेश के जनप्रतिनिधियों ने उनका आशीर्वाद लिया, जिसमें क्षेत्रीय विधायक दलेश्वर साहू, राजनांदगांव महापौर मधुसूदन यादव, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष दिनेश गांधी, भूतपूर्व सांसद प्रदीप गांधी, डोंगरगांव, नगर पंचायत उपाध्यक्ष वीरेन्द्र बोरकर शामिल थे।

Satya Narayan Shukla Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned