सरकार की जय हो : जो मकान बेंचकर जा चुका, उसे एक नहीं दो बार कर दिया शौचालय का भुगतान

Hemant Kapoor

Publish: Apr, 17 2018 11:10:55 PM (IST)

Bhilai, Chhattisgarh, India
सरकार की जय हो : जो मकान बेंचकर जा चुका, उसे एक नहीं दो बार कर दिया शौचालय का भुगतान

निगम में शौचालय के दो बार भुगतान के मामले में नया पेंच आ गया है। अफसर जिसे भुगतान बता रहे हैं, वह हितग्राही पहले ही मकान बेंचकर जा चुका था।

दुर्ग . नगर निगम में एक शौचालय के नाम पर दो बार भुगतान के मामले में एक और पेंच आ गया है। अफसर जिसे भुगतान करना बता रहे हैं, वह हितग्राही पहले ही मकान बेंचकर जा चुका था। इससे निगम के अफसरों द्वारा किया गया पहला भुगतान भी संदेह में आ गया है। आशंका जताई जा रही है कि पुराने शौचालय को दिखाकर दो बार राशि की बंदरबाट कर लिया गया।
एक दिन पहले ही रायपुर नाका वार्ड में स्वच्छ भारत मिशन के तहत हितग्राही सीएच नंबर 1500050944 सुशीला अधिकारी के आवास में निर्मित शौचालय के नाम पर पहले श्री देवगंगा एजुकेशन एण्ड वेलफेयर सोसायटी और दूसरी बार श्री विद्या महिला स्व सहायता समूह को भुगतान कर दिए जाने का खुलासा हुआ है। निगम सभापति राजकुमार नारायणी की शिकायत पर जांच में यह मामला सामने आया। इस पर पत्रिका ने भी मामले की अलग से पड़ताल की। इसमें हितग्राही द्वारा भुगतान से पहले मकान बेंचकर चले जाने का खुलासा हुआ।

मकान बिकने के एक माह बाद भुगतान
निगम प्रशासन द्वारा हितग्राही सीएच नंबर 1500050944 सुशीला अधिकारी के नाम पर 14 अक्टूबर 2016 को श्री देवगंगा एजुकेशन एण्ड वेलफेयर सोसायटी को पहली बार भुगतान करना बताया जा रहा है, जबकि अधिकारी ने यह मकान सितंबर 2016 में ही जीवन महानंद को इकरारनामा के आधार पर बिक्री कर दिया था।

जब बता रहे भुगतान जा चुके थे हितग्राही
मकान के मौजूदा मालिक जीवन महानंद ने बताया कि उन्होंने आपसी समझौते के आधार पर 1 लाख 70 हजार में मकान खरीदा है। इसके बाद 14 सितंबर को इकरारनामा भी तैयार कराया है। खरीदी-बिक्री के तत्काल बाद उन्हें मकान सुपुर्द कर दिया गया था। दूसरी ओर निगम प्रशासन द्वारा इसके बाद भुगतान बताया जा रहा है।

सात माह बाद कर दिया दूसरी बार भुगतान
खास बात यह है कि इसी शौचालय के एवज में निगम प्रशासन ने सात माह बाद 15 मई 2017 को श्री विद्या महिला स्व सहायता समूह दोबारा भुगतान कर दिया। जबकि मकान मालिक का कहना है कि उनकी खरीदने से पहले भी मकान में शौचालय बना हुआ था।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

1
Ad Block is Banned