नौतपा के पहले पारा पहुंचा 45 डिग्री के पार, छत्तीसगढ़ में झुलसाने लगी उत्तर-पश्चिम से आ रही गर्म हवा

नौतपा के पहले ही मई में पहली बार शहर का पारा 45.4 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा, जो सामान्य से 3 डिग्री सेल्सियस अधिक था। शनिवार को दिनभर तेजधूप के चलते हवा चलती रही। (CG Weather News)

By: Dakshi Sahu

Updated: 24 May 2020, 01:01 PM IST

भिलाई. नौतपा के पहले ही मई में पहली बार शहर का पारा 45.4 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा, जो सामान्य से 3 डिग्री सेल्सियस अधिक था। शनिवार को दिनभर तेजधूप के चलते हवा चलती रही। मौसम विभाग की मानें तो प्रदेश में अब नमी वाली हवा आनी बंद हो गई है और उत्तर-पश्चिम से गर्म हवा आ रही है जिससे मौसम शुष्क हो गया है। शनिवार को शहर में पहली बार लू जैसी स्थिति बनी और पारा 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा। भीषण गर्मी और लू केवल लोगों के लिए ही नहीं परिंदोंं के लिए भी आफत आएगी। हालांकि इस बार मई के पहले पखवाड़े उतना पारा नहीं बढ़ा,लेकिन अब मई के आखिरी सप्ताह में सूरज जमकर तपेगा। 25 से नौतपा शुरू हो रहा है।

दोपहर में न निकले घर से बाहर
एक्सपर्ट की मानें तो भिलाई-दुर्ग में यूवी रेडिएशन का स्तर प्वाइंट 8 तक है, जो ह्युमन बॉडी के लिए खतरनाक है। इसका स्तर प्वाइंट 6 से ज्यादा होता है तो वह एनजाइम को डेमेज करने लगता है। अगर तापमान 45 डिग्री से ज्यादा है तो लोगों को सीधे धूप के संपर्क में आने से बचना चाहिए। संभव हो तो दोपहर 12 बजे से 4 बजे तक घर से बाहर न निकले और अगर बाहर जाएं तो शरीर को पूरी तरह ढंक कर निकले।

लू जैसे हालात, इसलिए करें तरल पदार्थ का सेवन
तेज धूप और लू के दौरान सबसे ज्यादा जरूरी है कि शरीर में पानी की मात्रा बनी रहे, इसलिए दिनभर खूब पानी पीएं। घर से निकलने से पहले हमेशा कुछ खाकर ही निकले जिससे लू का असर ना हो। चिकित्सक डॉ. तारकेश्वर नाथ ने बताया कि इन दिनों लॉकडाउन की वजह से लोग ज्यादा घर से नहीं बाहर जा रहे, लेकिन घर पर भी डिहाइड्रेशन की स्थिति बन सकती है। इसलिए ओआरएस का घोल भी लेते रहें, जिससे शरीर में नमक और शक्कर की मात्रा बनी रहे। उन्होंने बताया कि ज्यादा से ज्यादा तरल पेय जैसे छाछ, लस्सी, आम का पना, शिकंजी, जलजीरा जैसी चीजों का ज्यादा से ज्यादा उपयोग करें और ज्यादा मसालेदार की बजाए सादे भोजन का सेवन करें।

परिंदों का भी रखें ख्यााल
परिंदों को लू से बचाने ज्यादा से ज्यादा जगह पर रखें पानी और दाना
पानी को भी ठंडे स्थान पर रखें जिससे वह गर्म
न हो
ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाएं जिससे परिदों को मिल सकें आशियाना
घर पर भी पक्षियों के लिए बनाए बर्ड हाउस

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned