Video : कार्रवाई से भड़के भारी वाहन चालकों ने 6 घंटे तक #BSP के भीतर परिवहन रखा ठप

भिलाई इस्पात संयंंत्र में शुक्रवार की सुबह 6 बजे से भारी वाहनों की कतार सड़कों व मैदानों में नजर आने लगी। संचालकों ने चालकों से कहा कि हड़ताल है कोई भी वाहन लेकर भीतर नहीं जाना। चालक व सुपरवाइजर बोरिया गेट पर एकत्र हो गए।

By: Satya Narayan Shukla

Updated: 29 Mar 2019, 04:09 PM IST

भिलाई@Patrika. भिलाई इस्पात संयंंत्र में शुक्रवार की सुबह 6 बजे से भारी वाहनों की कतार सड़कों व मैदानों में नजर आने लगी। संचालकों ने चालकों से कहा कि हड़ताल है कोई भी वाहन लेकर भीतर नहीं जाना। चालक व सुपरवाइजर बोरिया गेट पर एकत्र हो गए। दोपहर तक जब संयंत्र के भीतर व बाहर वाहनों का मूवमेंट थम गया, तो प्रबंधन ने मान-मनौव्वल शुरू किया। पुलिस प्रशासन, बीएसपी प्रबंधन व भारी वाहन संचालकों के मध्य बीएसपी में बैठक चली, घंटेभर सभी ने अपनी बात को रखा और तय किया गया कि बेकसूरों पर कोई अपराध दर्ज नहीं होगा। तब जाकर मामला सुलझा और वाहनों का संयंत्र के भीतर जाना शुरू हुआ।

इस वजह से भड़के भारी वाहनों के संचालक व चालक
बीएसपी से गुरुवार की रात एक ट्रेलर चैनल लेकर निकल रही थी। बीएसपी के एक कांटे में वजन कराने के बाद दूसरे में इसे लेकर गए तो मौजूद चैनल का वजन अधिक था। @Patrika. इस शिकायत पर सीआईएसएफ ने ट्रेलर और चालक को भट्ठी पुलिस के हवाले कर दिया।

 

सुपरवाइजर को भी बना रहे थे आरोपी
इसके बाद सीआईएसएफ ने ठेकेदार के सुपरवाइजर को ब्लेक लिस्ट करने का काम शुरू किया। इस पर भारी वाहनों के संचालक नाराज हो गए और उन्होंने काम ठप करने का फैसला किया और शुक्रवार की सुबह ६ बजे से संयंत्र के भीतर जाने वाले सभी वाहनों को रोक दिया।@Patrika. इतना ही नहीं संयंत्र के बाहर आने वाले वाहनों को भी रोके रखा।

अव्यवस्था का आलम
इससे संयंत्र में हर दिन पहुंचने वाले सैकड़ों वाहनों की कतार बोरिया गेट के बाहर देखने को मिली। बड़ी संख्या में भारी वाहन पार्किंग के अलावा बोरिया गेट की ओर आने वाले तीनों सड़कों में नजर आने लगे। इससे अव्यवस्था फैल गई। @Patrika. पुलिस के जवानों को चौक पर तैनात कर दिया गया। तनों पक्ष में चर्चा के बाद तय किया गया कि जो दोषी होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई होगा।

Satya Narayan Shukla Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned