उच्च शिक्षा सचिव ने ली प्राचार्यों की बैठक, ऑनलाइन क्लास में बच्चों की कम उपस्थिति पर हुए नाराज, दिया ये सुझाव

उच्च शिक्षा विभाग के सचिव धनंजय देवांगन ने गुरुवार को दुर्ग संभाग के शासकीय कॉलेजों के प्राचार्यों के साथ अहम बैठक ली।

By: Dakshi Sahu

Published: 30 Jan 2021, 11:15 AM IST

भिलाई. उच्च शिक्षा विभाग के सचिव धनंजय देवांगन ने गुरुवार को दुर्ग संभाग के शासकीय कॉलेजों के प्राचार्यों के साथ अहम बैठक ली। दुर्ग कलेक्टर सभागृह में हुई बैठक में उन्होंने प्राचार्यों से विद्यार्थियों के कोर्स सिलेबस के बारे में जानकारी ली। उन्होंने प्राचार्यों से कहा कि जितने भी कॉलेजों में विद्यार्थियों को कोर्स पूरा नहीं हो पाया है, वहां अतिरिक्त कक्षाएं लेकर जल्द से जल्द कोर्स पूरा कराया जाए। उन्होंने ऑनलाइन कक्षाओं में विद्यार्थियों की कम मौजूदगी पर भी नाराजगी जताई। प्राचार्यों को निर्देश दिए कि विद्यार्थियों को ऑनलाइन कक्षाओं में लाने के लिए नए तरीके आजमाए ताकि उनकी पढ़ाई पूरी हो सके। इस बैठक में उच्च शिक्षा आयुक्त शारदा वर्मा, अपर संचालक चंदन संजय त्रिपाठी, रासेयो के राज्य समन्वयक डॉ. समरेन्द्र सिंह, राज्य गुणवत्ता प्रकोष्ठ के विशेष कत्र्तव्य अधिकारी डॉ. जीए घनश्याम भी मौजूद रहे।

इंटरनेट नहीं तो कैसे हो पढ़ाई
बैठक में प्राचार्यों ने सचिव को बताया कि मोहला-मानपुर व अन्य ग्रामीण क्षेत्रों में इंटरनेट कनेक्टिविटी बेहद खराब है। यही वजह है कि इन क्षेत्रों के विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन कक्षाएं ठीक से नहीं हो पा रही है। वहीं अधिकतर विद्यार्थियों के पास हाईटेक स्मार्ट फोन भी नहीं है, जिससे वे कक्षाओं में आने से बच रहे हैं। इस बात पर सचिव ने प्राचार्यों को अपने शिक्षकों के साथ समन्वय स्थापित करते हुए इन विद्यार्थियों को पढ़ाने की बात कही। कहा कि ऐसे विद्यार्थियों को उनके समय शेड्यूल के हिसाब से भी पढ़ाया जा सकता है।

सुलझाएं अनुकंपा नियुक्ति प्रकरण
इस बैठक में उच्च शिक्षा संभाग के क्षेत्रीय अपर संचालक डॉ. सुशील चन्द्र तिवारी भी शामिल हुए। उन्होंने बताया कि बैठक में कॉलेजों की एकेडमिक गतिविधियों की समीक्षा की गई। सचिव ने ऐसे कॉलेजों को विवरण पूछा है, जिसमें नए भवन बनाए जा रहे हैं या फिर उनकी मरम्मत हो रही है। उन्होंने इन कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। अधिकारी एवं कर्मचारियों के पेंशन, अनुकंपा नियुक्तियों के प्रकरणों पर समुचित कार्रवाई सुनिश्चित करने चर्चा की गई। धनंजय देवागंन, सचिव, उच्च शिक्षा ने बताया कि प्रदेश के सभी संभागों में समीक्षा बैठक जारी है। दुर्ग संभाग के प्राचार्यों को निर्देशित किया गया है कि ऑनलाइन कक्षा पर विशेष ध्यान दिया जाए। विद्यार्थियों की कम संख्या रहने की जानकारी मिली थी, जिसके लिए प्राचार्यों को प्रयास कर व्यवस्था सुधारने कहा गया है।

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned